Top Engineering College In India भारत के टॉप इंजीनियरिंग कॉलेज की लिस्ट 2022 UPDATED

NIRF Top Engineering Colleges In India List Ranking Wise UPDATED इंजीनियरिंग कोर्स को सबसे हॉट जॉब ऑरिएंटिड कोर्स माना जाता है। भारत में 4 हजार से भी अधिक इंजीनियरिंग कॉलेज है। साइंस स्ट्रीम से जुड़े छात्र हर साल संयुक्त प्रवेश परीक्षा जेईई के लिए आवेदन करते हैं। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी एनटीए द्वारा आयोजित जेईई प्रवेश परीक्षा के माध्यम से भारत के विभिन्न इंजीनियरिंग कॉलेजों में छात्रों को एडमिशन दिया जाता है। जेईई मेन रिजल्ट आने के बाद, भारत में कई इंजीनियरिंग कॉलेजों में इंजीनियरिंग एडमिशन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू हो गई है। कक्षा 12वीं के बाद छात्र आगे की पढ़ाई के लिए इंजीनियरिंग कोर्स को सबसे ज्यादा पसंद करते हैं। इंजीनियरिंग में छात्र अपने करियर को काफी सुरक्षित मानते हैं। इसलिए छात्र कक्षा 10वीं के बाद से ही इंजीनियरिंग की पढ़ाई की तैयारी शुरू कर देते हैं। 12वीं के बाद इंजीनियरिंग में करियर बनाने वाले छात्रों के लिए इस फील्ड में अपार संभावनाएं हैं। इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त करने के बाद छात्र निजी क्षेत्र के साथ-साथ सरकारी क्षेत्र में भी अपना शानदार करियर बना सकते हैं। तो आइए जानते हैं भारत के टॉप 30 इंजीनियरिंग कॉलेज/इंस्टीट्यूट कौनसे हैं।

 
NIRF Ranking 2022 Engineering College List भारत के टॉप इंजीनियरिंग कॉलेज की लिस्ट 2022

भारत के टॉप इंजीनियरिंग कॉलेजों की लिस्ट
साइंस स्ट्रीम के छात्र जो भारत में टॉप इंजीनियरिंग कॉलेज की तलाश कर रहे हैं, उन्हें पता होना चाहिए कि सही कॉलेज क्या और कैसे चुनना है। भारत में टॉप बीटेक या बीई कॉलेजों में एडमिशन के लिए कई मानदंड हैं, जिनमें एनआईआरएफ रैंकिंग और प्लेसमेंट सबसे महत्वपूर्ण पार्ट है। टॉप इंजीनियरिंग कॉलेज सर्च करते समय कई भ्रम हमारे दिमाग में रहते हैं, जैसे- कौनसा कॉलेज सही है, वहां की फीस कितनी है और उसका प्लेसमेंट कितना है। इसलिए राष्ट्रीय संस्थागत रैंकिंग फ्रेमवर्क भारत सरकार एमएचआरडी द्वारा हर साल भारत के टॉप कॉलेजों, विश्वविद्यालयों और इंस्टिट्यूट की लिस्ट जारी की जाती है। एनआईआरएफ रैंकिंग की कई मापदंडों पर आधारित होती है। एनआईआरएफ रैंकिंग में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी मद्रास पिछले दो वर्षों से भारत के इंजीनियरिंग कॉलेजों की सूची में टॉप स्थान पर रहा है। भरते समेत सभी देशों में इंजीनियरिंग डिग्री वालों को कई जॉब ऑफर मिलते हैं। भारत के टॉप इंजीनियरिंग कॉलेजों की लिस्ट नीचे दी गई है।

भारत के इंजीनियरिंग कोर्स की लिस्ट
भारत में इंजीनियरिंग के लिए कौन सा कॉलेज सबसे अच्छा है? यह प्रश्न सभी इंजीनियरिंग से जुड़े उम्मीदवारों के मन में आता है। किसी भी संस्थान में दाखिला लेने से पहले, छात्रों को उस कॉलेज के बारे में पूरी जानकारी प्रपात करनी चाहिए और उस कॉलेज से पास हुए छात्रों द्वारा प्रदान की गई समीक्षाओं को पढ़ना चाहिए। भारत में इंजीनियरिंग के कई कोर्स होते हैं, जिसमें बीटेक और बीई सबसे मुख्य है। मैकेनिकल इंजीनियरिंग, कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग और इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग शामिल है। एनआईआरएफ रैंकिंग स्कोर के आधार पर भारत के टॉप इंजीनियरिंग कॉलेज की लिस्ट नीचे दी गई है।

भारत के टॉप 30 इंजीनियरिंग कॉलेज की लिस्ट
एनआईआरएफ रैंकिंग 2022 के अनुसार, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी मद्रास भारत के टॉप इंजीनियरिंग कॉलेजों की लिस्ट में सबसे आगे है। उसके बाद आईआईटी दिल्ली दूसरे नंबर पर, आईआईटी बॉम्बे को तीसरी रैंक, आईआईटी कानपुर चौथी रैंक और आईआईटी खड़गपुर पांचवें स्थान पर है। इंजीनियरिंग में छात्रों को मशीनों, सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर एंड सिस्टम प्रक्रिया, डिजाइन और साइंस एंड टेक्नॉलजी समेत विभिन्न कोर्स पढ़ाए जाते हैं। देश भर के प्रमुख शहरों जैसे दिल्ली/एनसीआर, चेन्नई, हैदराबाद, कोलकाता, मुंबई, बेंगलुरु, पुणे आदि में कई बीटेक कॉलेज हैं। भारत के टॉप 30 इंजीनियरिंग कॉलेज की लिस्ट नीचे दी गई है।

भारत के टॉप इंजीनियरिंग कॉलेज 2022
आईआईटी, एनआईटी और आईआईआईटी भारत के टॉप इंजीनियरिंग कॉलेजों में से हैं। भारत में लगभग 4,200 इंजीनियरिंग कॉलेज हैं जो बीटेक पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं, इनमें से लगभग 2,100 कॉलेज प्राइवेट और लगभग 450 सरकारी हैं। भारत में टॉप इंजीनियरिंग कॉलेजों की राष्ट्रीय संस्थागत रैंकिंग फ्रेमवर्क की रैंकिंग हर साल एमएचआरदी (मानव संसाधन विकास मंत्रालय) द्वारा जारी की जाती है। आईआईटी से लेकर निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों तक, रैंकिंग में सभी प्रकार के इंजीनियरिंग शिक्षण संस्थान शामिल हैं। एमएचआरडी की कोर कमेटी एक 'विशेषज्ञ समिति' का चुनाव करती है, जो विभिन्न धाराओं से संस्थानों की रैंकिंग सूची तैयार करती है। जो कॉलेज को कई पैरामीटर पर परखते हैं।

भारत में इंजीनियरिंग कॉलेज जेईई मेन: पात्रता मानदंड
उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से न्यूनतम 60% अंकों के साथ कक्षा 12वीं पास होना चाहिए।
इंजीनियरिंग में एडमिशन योग्यता, लिखित परीक्षा, जीडी या इंटरव्यू पर आधारित है। यह हर कॉलेज के लिए अलग-अलग नियम है।

एनआईआरएफ रैंकिंग के साथ जेईई मेन स्वीकार करने वाले भारत के टॉप इंजीनियरिंग कॉलेज
एनआईआरएफ जैसी एजेंसियां ​​शिक्षण, सीखने और संसाधनों, अनुसंधान और पेशेवर प्रथाओं, स्नातक परिणामों, आउटरीच और समावेशिता और धारणा जैसे विभिन्न मानकों के आधार पर कॉलेजों को रैंकिंग देती हैं। शिक्षा एग्रीगेट रेटिंग, प्लेसमेंट, इंफ्रास्ट्रक्चर, फैकल्टी और कोर्स, पाठ्यक्रम, भीड़ और कैंपस लाइफ और वैल्यू फॉर मनी जैसे पांच अलग-अलग मापदंडों के आधार पर छात्रों द्वारा दी गई एक प्रमाणित रेटिंग है।

Top Engineering College List 2021 NIRF : भारत के टॉप इंजीनियरिंग कॉलेज की लिस्ट 2022
आईआईटी मद्रास
आईआईटी दिल्ली
आईआईटी बॉम्बे
आईआईटी कानपुर
आईआईटी खड़गपुर
आईआईटी रूड़की
आईआईटी गुवाहाटी
एनआईटी तिरुचिरापल्ली
आईआईटी हैदराबाद
एनआईटी सूरथकल

1. ​भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी मद्रास

1. ​भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी मद्रास

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी मद्रास ने लगातार चौथे वर्ष ओवर ऑल श्रेणी और लगातार सातवें वर्ष इंजीनियरिंग में पहले स्थान पर बरकरार रखा है। एनआईआरएफ रैंकिंग 2022 में आईआईटी मद्रास को रैंक 1 मिली है और स्कोर 90.04 है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मद्रास आईआईटी चेन्नई, तमिलनाडु, भारत में स्थित एक सरकारी तकनीकी विश्वविद्यालय है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (आईआईटी) में से एक के रूप में इसे राष्ट्रीय महत्व के संस्थान के रूप में मान्यता प्राप्त है। आईआईटी मद्रास की स्थापना वर्ष 1959 में की गई थी। यह भारत सरकार द्वारा स्थापित तीसरा आईआईटी थी। आईआईटी मद्रास 2016 से शिक्षा मंत्रालय के राष्ट्रीय संस्थागत रैंकिंग फ्रेमवर्क द्वारा भारत की टॉप 1 इंजीनियरिंग संस्थान का स्थान दिया गया है।

2. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी दिल्ली
 

2. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी दिल्ली

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी दिल्ली 88.12 स्कोर के साथ एनआईआरएफ रैंकिंग में दूसरे स्थान पर है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी दिल्ली एक विश्व स्तर पर प्रशंसित अनुसंधान विश्वविद्यालय और इंजीनियरिंग संस्थान है। यह भारत के सबसे पुराने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों में से एक है। भारत की आजादी के बाद आईआईटी दिल्ली की स्थापना 1961 में की गई थी। आईआईटी दिल्ली का उद्घाटन तत्कालीन अनुसंधान और सांस्कृतिक मंत्री प्रो हुमायूं बीर द्वारा किया गया था। वर्ष 2018 में आईआईटी दिल्ली को भारत सरकार द्वारा इंस्टीट्यूशन ऑफ एमिनेंस (IoE) का दर्जा भी दिया गया।

3. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी बॉम्बे

3. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी बॉम्बे

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी बॉम्बे 83.96 स्कोर के साथ एनआईआरएफ रैंकिंग में तीसरे नंबर पर है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी बॉम्बे, एक शोध विश्वविद्यालय और तकनीकी संस्थान है। आईआईटी बॉम्बे की स्थापना 1958 में हुई थी। वर्ष 1961 में संसद ने आईआईटी बॉम्बे को राष्ट्रीय महत्व के संस्थानों के रूप में घोषित किया। भारत सरकार द्वारा गठित एक समिति ने 1946 में देश में तकनीकी शिक्षा के विकास की दिशा निर्धारित करने के लिए चार उच्च प्रौद्योगिकी संस्थानों की स्थापना की सिफारिश की। योजना 1957 में शुरू हुई और 100 छात्रों के पहले बैच को 1958 में एडमिशन दिया गया। आईआईटी बॉम्बे को एशिया में अग्रणी इंजीनियरिंग विश्वविद्यालयों में से एक माना जाता है और भारत में सबसे प्रतिष्ठित और सबसे अधिक प्रतिस्पर्धी संस्थान के रूप में माना जाता है। आईआईटी बॉम्बे विज्ञान और इंजीनियरिंग विषयों में टॉप रैंक धारकों का पहला पसंदीदा स्थान रहा है।

4. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी कानपुर

4. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी कानपुर

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी कानपुर 82.56 स्कोर के साथ एनआईआरएफ रैंकिंग में चौथे स्थान पर है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी कानपुर उत्तर प्रदेश (भारत) में स्थित एक सरकारी तकनीकी विश्वविद्यालय है। इसे प्रौद्योगिकी संस्थान अधिनियम के तहत भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय महत्व का संस्थान घोषित किया गया था। आईआईटी कामपुर संस्थान की स्थापना 1959 में हुई थी। पहले भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों में से एक के रूप में आईआईटी कानपुर इंडो-अमेरिकन प्रोग्राम (केआईएपी) के हिस्से के रूप में नौ अमेरिकी अनुसंधान विश्वविद्यालयों के एक संघ की सहायता से बनाया गया था।

5. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी खड़गपुर

5. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी खड़गपुर

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी खड़गपुर 78.89 के समग्र स्कोर के साथ एनआईआरएफ रैंकिंग में पांचवें नंबर पर है। गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने आईआईटी खड़गपुर से अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई की। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी खड़गपुर पश्चिम बंगाल में स्तिथ भारत सरकार द्वारा एक सरकारी शोध विश्वविद्यालय है। आईआईटी खड़गपुर भारत का पहला आईआईटी है, जिसकी स्थापना वर्ष 1951 में की गई थी। आईआईटी खड़गपुर को राष्ट्रीय महत्व के संस्थान के रूप में मान्यता प्राप्त है। वर्ष 2019 में इसे भारत सरकार द्वारा इंस्टीट्यूट ऑफ एमिनेंस का दर्जा दिया गया। 1947 में भारत की स्वतंत्रता प्राप्त करने के बाद, संस्थान को शुरू में इंजीनियरों को प्रशिक्षित करने के लिए स्थापित किया गया था। वर्षों से संस्थान की शैक्षणिक क्षमताओं में प्रबंधन, कानून, वास्तुकला, मानविकी, आदि की पेशकश के साथ विविधता आई है।

6. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी रुड़की

6. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी रुड़की

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी रुड़की 76.70 स्कोर के साथ एनआईआरएफ रैंकिंग में छठे स्थान पर है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी रुड़की उत्तराखंड (भारत) में स्थित एक सरकारी तकनीकी विश्वविद्यालय है। भारत में सबसे पुराना इंजीनियरिंग संस्थान आईआईटी रुड़की की स्थापना 1847 में ब्रिटिश भारत में सिविल इंजीनियरिंग कॉलेज के रूप में उत्तर पश्चिमी प्रांतों के लेफ्टिनेंट गवर्नर जेम्स थॉमसन द्वारा की गई थी, ताकि गंगा नहर के निर्माण में कार्यरत अधिकारियों और सर्वेक्षकों को प्रशिक्षित किया जा सके। 1854 में नहर का निर्माण पूरा होने और थॉमसन की मृत्यु के बाद, नहर के डिजाइनर और प्रोजेक्टर प्रोबी कॉटली द्वारा इसका नाम बदलकर थॉमसन कॉलेज ऑफ सिविल इंजीनियरिंग कर दिया गया। भारत की आजादी के बाद सन 1949 में इसका नाम बदलकर रुड़की विश्वविद्यालय और 2001 में फिर इसे आईआईटी रुड़की का नाम दिया गया। संस्थान में वैज्ञानिक और तकनीकी शिक्षा और अनुसंधान पर जोर देने के साथ इंजीनियरिंग, अनुप्रयुक्त विज्ञान, मानविकी और सामाजिक विज्ञान और प्रबंधन कार्यक्रमों को कवर करने वाले 22 शैक्षणिक विभाग हैं।

7. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी गुवाहाटी

7. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी गुवाहाटी

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी गुवाहाटी 72.98 समग्र स्कोर के साथ एनआईआरएफ रैंकिंग में सातवें स्थान पर है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी गुवाहाटी भारत सरकार द्वारा स्थापित एक सरकारी तकनीकी विश्वविद्यालय है। यह भारत में असम राज्य में उत्तरी गुवाहाटी शहर के अमिनगांव क्षेत्र में स्थित है। यह भारत में स्थापित छठा भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान है। आईआईटी गुवाहाटी को आधिकारिक तौर पर भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय महत्व के संस्थान के रूप में मान्यता प्राप्त है। आईआईटी गुवाहाटी की स्थापना वर्ष 1994 में संसद के एक अधिनियम द्वारा की गई थी। इसका शैक्षणिक कार्यक्रम 1995 में शुरू हुआ था। आईआईटी गुवाहाटी का इतिहास 1985 के असम समझौते में ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन और भारत सरकार के बीच हस्ताक्षरित है, जिसमें असम में शिक्षा सुविधाओं में सामान्य सुधार और विशेष रूप से एक आईआईटी की स्थापना का उल्लेख है। आईआईटी गुवाहाटी ने अपने छात्रों के पहले बैच को 1995 में अपने बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी प्रोग्राम में प्रवेश दिया। 1998 में छात्रों के पहले बैच को GATE के माध्यम से मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी कार्यक्रम में स्वीकार किया गया था।

8. राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान एनआईटी तिरुचिरापल्ली

8. राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान एनआईटी तिरुचिरापल्ली

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान एनआईटी तिरुचिरापल्ली 65.53 72.98 समग्र स्कोर के साथ एनआईआरएफ रैंकिंग में आठवें स्थान पर है। एनआईटी तिरुचिरापल्ली भारत के तमिलनाडु में तिरुचिरापल्ली शहर के पास एक सरकारी तकनीकी और अनुसंधान विश्वविद्यालय है। एनआईटी तिरुचिरापल्ली की स्थापना 1964 में मद्रास विश्वविद्यालय की संबद्धता के तहत भारत और तमिलनाडु की सरकारों द्वारा क्षेत्रीय इंजीनियरिंग कॉलेज तिरुचिरापल्ली के रूप में की गई थी। वर्ष 2003 में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यूजीसी, अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद एआईसीटीई और भारत सरकार की मंजूरी के साथ कॉलेज को डीम्ड विश्वविद्यालय का दर्जा दिया गया था। बाद में इसका नाम बदलकर राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान एनआईटी तिरुचिरापल्ली कर दिया गया था। एनआईटी तिरुचिरापल्ली को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी, विज्ञान शिक्षा और अनुसंधान संस्थान (एनआईटीएसईआर) अधिनियम 2007 के तहत भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय महत्व के संस्थान के रूप में मान्यता प्राप्त है। एनआईटी तिरुचिरापल्ली विशेष रूप से इंजीनियरिंग, प्रबंधन, विज्ञान, प्रौद्योगिकी और वास्तुकला के लिए प्रसिद्ध है। एनआईटी तिरुचिरापल्ली अपने 17 शैक्षणिक विभागों के माध्यम से 10 स्नातक, 40 मास्टर और 17 डॉक्टरेट कार्यक्रम प्रदान करता है। नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ) ने 2016 से 2022 तक लगातार सात वर्षों के लिए एनआईटी में संस्थान को पहला स्थान दिया।

9. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी हैदराबाद

9. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी हैदराबाद

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी हैदराबाद 68.03 के समग्र स्कोर के साथ एनआईआरएफ रैंकिंग में नौवें स्थान पर है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी हैदराबाद भारतीय राज्य तेलंगाना में संगारेड्डी के पास स्थित एक सरकारी तकनीकी विश्वविद्यालय है। आईआईटी हैदराबाद की स्थापना 2008 में की गई थी। इसकी स्थापना 8वें भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान के रूप में की गई थी। आईआईटी हैदराबाद की स्थापना शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार द्वारा प्रौद्योगिकी संस्थान (संशोधन) अधिनियम, 2011 के तहत की गई थी। यह अधिनियम 24 मार्च 2011 को लोकसभा में और 30 अप्रैल 2012 को राज्य सभा द्वारा पारित किया गया था। यह जापान सरकार से तकनीकी और वित्तीय सहायता में स्थापित किया गया था। आईआईटी हैदराबाद ने 18 अगस्त 2008 को आर्मर्ड व्हीकल्स निगम लिमिटेड में एक अस्थायी परिसर से काम करना शुरू किया, जिसमें संस्थापक निदेशक के रूप में प्रो यूबी देसाई थे। इसमें 15 जनवरी 2022 तक 255 पूर्णकालिक संकाय सदस्यों के साथ कुल 3,903 छात्र (1,553 स्नातक, 1,221 परास्नातक और 1,129 पीएचडी छात्र) हैं।

10. राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान कर्नाटक एनआईटी सूरथकल

10. राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान कर्नाटक एनआईटी सूरथकल

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एनआईटी सुरथकल कर्नाटक 66.04 के समग्र स्कोर के साथ एनआईआरएफ रैंकिंग में दसवें स्थान पर है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी कर्नाटक (एनआईटीके) को एनआईटीके सुरथकल भी कहा जाता है। एनआईटी सुरथकल को पहले कर्नाटक क्षेत्रीय इंजीनियरिंग कॉलेज (केआरईसी) के नाम से जाना जाता था। एनआईटी सुरथकल, मैंगलोर में एक सरकारी तकनीकी विश्वविद्यालय है। एनआईटी सुरथकल की स्थापना 1960 में केआरईसी के रूप में हुई थी। आज यह भारत के 31 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थानों में से एक है और भारत सरकार द्वारा इसे राष्ट्रीय महत्व के संस्थान के रूप में मान्यता प्राप्त है। कर्नाटक क्षेत्रीय इंजीनियरिंग कॉलेज (KREC) की आधारशिला 6 अगस्त 1960 को सुरथकल में रखी गई थी। यह यू श्रीनिवास माल्या और वीएस कुडवा के प्रयासों से संभव हुआ और उनके सम्मान में इस क्षेत्र को अब श्रीनिवासनगर कहा जाता है। केआरईसी ने इंजीनियरिंग में तीन स्नातक पाठ्यक्रमों मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल और सिविल के साथ कोर्स शुरू किया। 1965 में केमिकल और मेटलर्जिकल इंजीनियरिंग में स्नातक पाठ्यक्रमों की शुरुआत हुई। 1966 में, कॉलेज ने समुद्री संरचनाओं और औद्योगिक संरचनाओं में अपना पहला स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम शुरू किया। इसके बाद औद्योगिक इलेक्ट्रॉनिक्स (1969), हीट पावर (1971), हाइड्रोलिक्स और जल संसाधन (1971), रासायनिक संयंत्र डिजाइन इंजीनियरिंग (1971) और प्रक्रिया धातुकर्म (1972) में स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम शुरू किया। बाद में इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार इंजीनियरिंग, खनन इंजीनियरिंग, कंप्यूटर इंजीनियरिंग, सूचना प्रौद्योगिकी इंजीनियरिंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस इंजीनियरिंग कोर्स की शुरुआत की गई। 1980 में केआरईसी मैंगलोर विश्वविद्यालय की संबद्धता के अंतर्गत आया और पांच वर्षीय स्नातक पाठ्यक्रमों को छोटा करके चार वर्ष कर दिया गया। 26 जून 2002 को इसे राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान का दर्जा दिया गया था और तब से इसे एनआईटी कर्नाटक (एनआईटीके) कहा जाता है। अब यह एक डीम्ड यूनिवर्सिटी है। एनआईटीके ने 6 अगस्त 2009 को अपना 50वां संस्थान स्थापना दिवस मनाया।

रैंक
टॉप इंजीनियरिंग कॉलेज का नामराज्यस्कोर
1
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मद्रासतमिलनाडु90.04
2
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, दिल्लीदिल्ली88.12
3
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, बॉम्बेमहाराष्ट्र83.96
4
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, कानपुरउत्तर प्रदेश82.56
5
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, खड़गपुर
पश्चिम बंगाल78.89
6
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रुड़कीउत्तराखंड76.7
7
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, गुवाहाटी
असम72.98
8
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, तिरुचिरापल्ली
तमिलनाडु69.17
9
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, हैदराबाद
तेलंगाना68.03
10
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी कर्नाटक, सूरथकल
कर्नाटक66.04
11
जादवपुर विश्वविद्यालय, कोलकातापश्चिम बंगाल65.68
12
वेल्लोर प्रौद्योगिकी संस्थानतमिलनाडु65.53
13
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (बनारस हिंदू विश्वविद्यालय), वाराणसी
उत्तर प्रदेश63.51
14
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (इंडियन स्कूल ऑफ माइन्स), धनबाद
झारखंड63.5
15
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, राउरकेला
उड़ीसा62.36
16
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, इंदौरमध्य प्रदेश61.68
17
अन्ना विश्वविद्यालय, चेन्नईतमिलनाडु61.41
18
रासायनिक प्रौद्योगिकी संस्थान, मुंबईमहाराष्ट्र61.4
19
अमृता विश्व विद्यापीठम, कोयंबटूरतमिलनाडु60.92
20
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मंडीहिमाचल प्रदेश60.43
21
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, वारंगलतेलंगाना60
22
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी रोपड़, रूपनगर
पंजाब59.16
23
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, गांधीनगर
गुजरात58.27
24
एस.आर.एम. विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान, चेन्नई
तमिलनाडु58.02
25
एमिटी विश्वविद्यालय, गौतमबुद्ध नगरउत्तर प्रदेश57.73
26
जामिया मिलिया इस्लामिया, नई दिल्लीदिल्ली57.51
27
शिक्षा ओ अनुसंधान, भुवनेश्वरउड़ीसा57.48
28
थापर इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, पटियाला
पंजाब57.18
29
बिरला प्रौद्योगिकी और विज्ञान संस्थान - पिलानी
राजस्थान56.9
30
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, जोधपुरराजस्थान56.7

NIRF Ranking 2022 MBA Colleges In India भारत के टॉप एमबीए कॉलेज की लिस्ट 2022

NIRF Ranking 2022 Law Colleges in India : भारत के टॉप लॉ कॉलेज की लिस्ट 2022

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
Top Engineering Colleges In India List Ranking Wise UPDATED: Engineering course is considered to be the hottest job oriented course. There are more than 4 thousand engineering colleges in India. Every year students belonging to Science stream apply for the Joint Entrance Examination JEE. Students are admitted to various engineering colleges in India through JEE entrance exam conducted by the National Testing Agency (NTA).
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X