ग्रैजुएशन के बाद एमएससी मेडिकल एनाटॉमी में करियर (Career in MSc in Medical Anatomy After Graduation)

ग्रैजुएशन करने के बाद बहुत से ऐसे छात्र होते हैं जो कि आगे पोस्ट ग्रैजुएशन के लिए एप्लाई करते हैं तो वहीं बहुत से छात्र ऐसे भी होते हैं जो कि ग्रैजुएशन के बाद जॉब करने लग जाते हैं। आज के इस आर्टिकल में हम आपको ग्रैजुएशन करने के बाद एक ऐसे ही कोर्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके लिए आप पोस्ट ग्रैजुएशन के लिए एप्लाई कर सकते हैं। इस कोर्स से संबंधित हम आपको सारी आवश्यक जानकारी से अवगत कराएंगे कि आखिर ये कोर्स किस लिए बनाया गया है, इसका सिलेबस क्या है। इसमें एडमिशन लेने के लिए क्या एलिजिबिलिटी होनी चाहिए। इसका एडमिशन प्रोसेस क्या है, इसे करने के बाद आपके पास जॉब प्रोफाइल क्या होंगी और इस कोर्स को करने के लिए भारत के टॉप कॉलेज कौन से हैं।

 

एमएससी इन मेडिकल एनाटॉमी 2 साल का पोस्ट ग्रैजुएट डिग्री कोर्स है, जिसे करने के लिए उम्मीदवार के पास किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज से बीएससी इन एनाटॉमी या उससे संबंधित किसी विषय में अंडर ग्रैजुएशन की डिग्री होना आवश्यक है।

ग्रैजुएशन के बाद एमएससी मेडिकल एनाटॉमी में करियर

एमएससी मेडिकल एनाटॉमी क्या है?

 

एमएससी एनाटॉमी मुख्य रूप से मानव शरीर के शरीर विज्ञान के वैज्ञानिक अध्ययन से जुड़ा एक कोर्स है। जिसमें की मानव शरीर में दो प्रकार की एनाटॉमी होती हैं: ग्रोस एनाटॉमी और माइक्रोस्कोपिक एनाटॉमी। ग्रोस एनाटॉमी, जिसे टोपोग्राफिकल एनाटॉमी के रूप में भी जाना जाता है, जिसमें माइक्रोस्कोप का उपयोग किए बिना विजिबल एनाटॉमिकल फिचर्स का अध्ययन किया जाता है। माइक्रोस्कोपिक एनाटॉमी एक ऐसी स्टडी है जिसमें की माइक्रोस्कोप का यूज कर टिनी एनॉटोमिकल ओबजेक्ट्स के साथ-साथ हिस्टोलॉजी ( स्टडी ऑफ टिश्यू ऑर्गेनाइजेशन) एंड साइटोलॉजी (स्टडी ऑफ सेल्स) का भी अध्ययन किया जाता है। एनाटॉमी एंड ह्यूमन फिजियोलॉजी मेडिकल साइंस के ऐसे फंडामेंट्लस है जो कि मुख्यत छात्र मेडिकल की पढ़ाई के साथ-साथ पढ़ते हैं।

एमएससी मेडिकल एनाटॉमी: एलिजिबिलिटी

उम्मीदवारों को एमएससी मेडिकल एनाटॉमी में एडमिशन लेने के लिए बीएससी एनाटॉमी में कम से कम 50% कुल अंक या इसके समान ही ग्रेड प्राप्त करना चाहिए। जिसके बाद उम्मीदवारों को ऑनलाइन या ऑफलाइन माध्यम से आवेदन कर इसका एंट्रेंस एग्जाम को क्लियर करना होता है।

एमएससी मेडिकल एनाटॉमी: एडमिशन प्रोसेस

भारत में एमएससी मेडिकल एनाटॉमी का लगभग सभी सस्थानों में एडमिशन प्रोसेस अलग-अलग है। कुछ कॉलेज इस कोर्स में मेरिट बेस्ड एडमिशन देते है तो वहीं कुछ कॉलेज राष्ट्रीय या राज्य या स्वयं के स्तर पर एंट्रेंस एग्जाम आयोजित करते हैं। निम्नलिखित कुछ एंट्रेंस एग्जाम हैं जो भारत में मेडिकल कॉलेज द्वारा एमएससी मेडिकल एनाटॉमी में एडमिशन लेने के लिए आयोजित की जाती है।
• अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान प्रवेश परीक्षा/नीट पीजी
• सशस्त्र सेना मेडिकल कॉलेज प्रवेश परीक्षा
• सरकारी मेडिकल कॉलेज, राजिंद्र अस्पताल प्रवेश परीक्षा
• एनआईएमएस विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा
• एमसीएटी

एमएससी मेडिकल एनाटॉमी: एडमिशन के लिए आवश्यक दस्तावेज

• 12वीं का सर्टिफिकेट और मार्कशीट
• एंट्रेंस एग्जाम स्कोर शीट (यदि लागू हो)
• ग्रैजुएशन सर्टिफिकेट एंड मार्कशीट
• कॉलेज लिविंग सर्टिफिकेट
• माइग्रेशन सर्टिफिकेट
• प्रोविजनल सर्टिफिकेट
• पासपोर्ट आकार के 5 रंगीन फोटोग्राफ
• जाति / जनजाति प्रमाण पत्र (एससी / एसटी उम्मीदवार के लिए) / शारीरिक रूप से विकलांग प्रमाण पत्र।

एमएससी मेडिकल एनाटॉमी: सिलेबस

फर्स्ट ईयर
• बेसिक्स ऑफ एनाटॉमी
• बेसिक्स ऑफ बायोकेमेस्ट्री
• बेसिक्स ऑफ फिजियोलॉजी
• रिसर्च मेथाडोलॉजी एंड बॉयोस्टैटिसटिक्स
सेकंड ईयर
• जनरल एनाटॉमी
• प्रैक्टिक्ल
• डिसर्टेशन

एमएससी मेडिकल एनाटॉमी: करियर स्कोप

इस कोर्स में करियर के पर्याप्त अवसर हैं; विभिन्न चिकित्सा कंपनियां अच्छे कर्मचारियों को हायर करने के लिए हमेशा तैयार रहती हैं। एमएससी मेडिकल एनाटॉमी करने के बाद छात्र प्रमुख संगठनों और विदेशों में भी शोध कार्य के लिए जा सकते हैं। आजकल बहुत से प्राइवेट मेडिकल संस्थान है जो एमएससी मेडिकल एनाटॉमी में की मांग कर रहे हैं और अच्छा वेतन देते हैं। निम्नलिखित कुछ जॉब प्रोफाइल है जिनके लिए आप इस कोर्स को पूरा करने के बाद आवेदन करते हैं।
• मेडिकल कोडर
प्रति वर्ष औसत वेतन 2,00,000 से 3,00,000 तक
• असिस्टेंट प्रोफेसर / लेक्चरर
प्रति वर्ष औसत वेतन 8,00,000 से 10,00,000 तक
• रिसर्च असिस्टेंट
प्रति वर्ष औसत वेतन 6,00,000 से 7,00,000 तक
• मेडिकल साइंटिस्ट
प्रति वर्ष औसत वेतन 5,00,000 से 6,00,000 तक
• जेनेटिक काउंसलर
प्रति वर्ष औसत वेतन 4,00,000 से 5,00,000 तक

भारत में एमएससी एनाटॉमी के लिए टॉप कॉलेज की सूची

एमएसी एनाटॉमी के लिए टॉप कॉलेज के नामफीस
ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, दिल्ली1,400
आर्म्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज, पुणे, महाराष्ट्र34,000
गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज, राजिंद्र अस्पताल, पटियाला, पंजाब65,000
निम्स यूनिवर्सिटी, जयपुर, राजस्थान74,000
भारती विद्यापीठ मेडिकल कॉलेज, पुणे, महाराष्ट्र75,000
राजस्थान यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंस, जयपुर, राजस्थान70,000
ओपीजेएस यूनिवर्सिटी, चुरू, राजस्थान46,000
तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी, मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश82,400
गीतांजलि यूनिवर्सिटी, उदयपुर, राजस्थान1,00,000
कृष्णा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस यूनिवर्सिटी, सतारा, महाराष्ट्र35,000
मद्रास यूनिवर्सिटी, चेन्नई, तमिल नाडु8,480
आदेश यूनिवर्सिटी, बठिंडा, पंजाब67,500
सविता यूनिवर्सिटी, चेन्नई, तमिल नाडु1,05,000
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
MSc in Medical Anatomy is a 2-year post graduate degree course, for which the candidate must have a B.Sc in Anatomy or an undergraduate degree in any related discipline from a recognized college. MSc Anatomy is a course primarily concerned with the scientific study of the physiology of the human body. There are two types of anatomy in the human body: gross anatomy and microscopic anatomy.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X