एमएस जनरल सर्जरी में करियर (Career in Master of Surgery (MS) General Surgery After Graduation)

मास्टर ऑफ सर्जरी इन जनरल सर्जरी या एमएस जनरल सर्जरी सर्जिकल क्षेत्र में तीन साल का पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स है। एमएस जनरल सर्जरी का कोर्स उन छात्रों के लिए डिजाइन किया गया है जो भारत में सर्जन के रूप में करियर बनाना चाहते हैं। इस कोर्स को करने के लिए छात्रों के पास किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से एमबीबीएस की डिग्री होना आवश्यक है जिसमें की न्यूनतम एक वर्ष की इंटर्नशिप भी अनिवार्य है। एमएस जनरल सर्जरी में मानव शरीर रचना के अनुसार अलग-अलग विशेषज्ञताएं शामिल हैं। इन विशेषज्ञताओं में मानव शरीर के अंग से संबंधित विभिन्न बीमारियों और उनके इलाज के लिए थ्योरेटिकल व प्रैक्टिकल नॉलेज दी जाती है। यह कोर्स छात्रों को सर्जन बनने के लिए आवश्यक स्किल्स विकसित करने में मदद करता है।

 

आज के इस आर्टिकल में हम आपको एमएस जनरल सर्जरी से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी से अवगत कराएंगे कि आखिर ये कोर्स किस लिए बनाया गया है, इसका सिलेबस क्या है। इसमें एडमिशन लेने के लिए क्या एलिजिबिलिटी होनी चाहिए। इसका एडमिशन प्रोसेस क्या है, इसे करने के बाद आपके पास जॉब प्रोफाइल क्या होंगी और इस कोर्स को करने के लिए भारत के टॉप कॉलेज कौन से हैं।

एमएस जनरल सर्जरी में करियर

कोर्स का नाम- मास्टर ऑफ सर्जरी इन जनरल सर्जरी (एमएस जनरल सर्जरी)
कोर्स का प्रकार- पोस्ट ग्रैजुएशन
कोर्स की अवधि- 3 साल
एलिजिबिलिटी- साइंस स्ट्रीम के साथ 12वीं कक्षा में और कुल 50% अंकों के साथ एमबीबीएस में पास होना अनिवार्य है।
एडमिशन प्रोसेस- मेरिट बेस्ड/ एंट्रेंस एग्जाम बेस्ड
कोर्स फीस- 20,000 से 10,50,000 तक
अवरेज सेलरी- सालाना 10 लाख तक
जॉब प्रोफाइल- अपर गैस्ट्रो-इंटेस्टाइनल सर्जन, कार्डिएक एनेस्थीसिया, एनेस्थेसियोलॉजिस्ट, सर्टिफाइड रजिस्टर्ड नर्स एनेस्थेटिस्ट (सीआरएनए), एनेस्थेसियोलॉजिस्ट असिस्टेंट (एएएस), एनेस्थेसियोलॉजिस्ट, एनेस्थीसिया टेक्निशियन (एटी) आदि।
टॉप रिक्रूटर्स- अपोलो अस्पताल, फोर्टिस अस्पताल, मेदांता सरकारी अस्पताल, कोकिलाबेन अस्पताल, लीलावती अस्पताल, टाटा मेमोरियल अस्पताल, गंगा अस्पताल, यूपीएससी और एम्स।

 

एमएस जनरल सर्जरी: एलिजिबिलिटी

मास्टर्स ऑफ सर्जरी पात्रता के लिए पात्रता मानदंड को एमसीआई द्वारा 'द पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन रेगुलेशन, 2000' में परिभाषित किया गया है।
• मास्टर ऑफ सर्जरी के लिए पात्रता मानदंड के अनुसार, केवल वे उम्मीदवार जिन्होंने एमबीबीएस (बैचलर ऑफ मेडिसिन, बैचलर ऑफ सर्जरी) पास किया है, इस कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं। मास्टर ऑफ सर्जरी (जनरल सर्जरी) कोर्स के लिए पात्र होने के लिए उन्हें अनिवार्य रोटेटरी इंटर्नशिप का एक वर्ष पूरा करना होगा।
• उम्मीदवार को एमसीआई या किसी राज्य चिकित्सा परिषद में भी पंजीकृत होना चाहिए।
• उम्मीदवार को अपने मुख्य विषयों के रूप में फिजिक्स, केमेस्ट्री, बायोलॉजी और गणित के 12वीं कक्षा में पास होने के साथ-साथ किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से कुल 50% अंकों के साथ एमबीबीएस की डिग्री में पास होना चाहिए।

एमएस जनरल सर्जरी: एडमिशन प्रोसेस

भारत में एमएस जनरल सर्जरी का लगभग सभी सस्थानों में एडमिशन प्रोसेस अलग-अलग है। कुछ कॉलेज इस कोर्स में मेरिट बेस्ड एडमिशन देते है तो वहीं कुछ कॉलेज राष्ट्रीय स्तर पर नीट-पीजी या राज्य या स्वयं के स्तर पर एंट्रेंस एग्जाम आयोजित करते हैं। जैसे कि एम्स, जेआईपीएमआर और पीजीआईएमईआर जो मास्टर्स ऑफ सर्जरी कोर्स में एडमिशन के लिए अपनी स्वयं की प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं।
जिसके लिए उम्मीदवार कॉलेज की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से आवेदन पत्र डाउनलोड कर सकते हैं। प्रवेश परीक्षा, प्रवेश तिथियों और शॉर्टलिस्ट किए गए उम्मीदवारों के नाम के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी वेबसाइट पर प्रदर्शित की जाएगी या ईमेल के माध्यम से अधिसूचित की जाएगी।

एमएस जनरल सर्जरी: एडमिशन के लिए आवश्यक दस्तावेज

• 12वीं का सर्टिफिकेट और मार्कशीट
• एंट्रेंस एग्जाम स्कोर शीट (यदि लागू हो)
• ग्रैजुएशन सर्टिफिकेट एंड मार्कशीट
• कॉलेज लिविंग सर्टिफिकेट
• माइग्रेशन सर्टिफिकेट
• प्रोविजनल सर्टिफिकेट
• पासपोर्ट आकार के 5 रंगीन फोटोग्राफ
• जाति / जनजाति प्रमाण पत्र (एससी / एसटी उम्मीदवार के लिए) / शारीरिक रूप से विकलांग प्रमाण पत्र।

एमएस जनरल सर्जरी: सिलेबस

फर्स्ट ईयर
• जनरल सर्जरी
• एनसथीसिया
• रेडियोलॉजी एंड रेडियो-थेरेपी
• ऑर्थो एंड ट्रॉमाटोलॉजी
सेकंड ईयर
• जनरल सर्जरी
• न्यूरो सर्जरी
• प्लास्टिक सर्जरी
• पीडियाट्रिक सर्जरी
• कार्डियो थोरैसिक
• यूरोलॉजी
थर्ड ईयर
• जनरल सर्जरी
• इंटेंसिव कोचिंग

एमएस जनरल सर्जरी: करियर स्कोप

एमएस जनरल सर्जरी कोर्स करने के बाद छात्र कार्डियक एनेस्थीसिया, एनेस्थेसियोलॉजिस्ट, प्रमाणित रजिस्टर्ड नर्स एनेस्थेटिस्ट (सीआरएनए), एनेस्थीसिया तकनीशियन (एटी), एनेस्थेसियोलॉजिस्ट असिस्टेंट (एएएस) और अपोलो अस्पताल, गंगा अस्पताल, यूपीएससी, सरकारी अस्पताल और एम्स आदि में चिकित्सा सलाहकार के रूप में काम कर सकते हैं। एमएस जनरल सर्जरी कोर्स पूरा करने के बाद छात्र विश्वविद्यालयों, अस्पतालों, क्लीनिकों, सरकारी संगठनों और रिसर्च सेंटर जैसे कई क्षेत्रों में भी काम कर सकते हैं, जिनका औसत शुरुआती वेतन 8 लाख से 30 लाख प्रति वर्ष हो सकता है।

भारत में एमएस जनरल सर्जरी के लिए टॉप कॉलेज की सूची

एमएस जनरल सर्जरी की औसत फीस 20,000 से 10,50,000 तक के बीच हो सकती है। भारत के टॉप एमएस जनरल सर्जरी कॉलेजों की सूची निम्नलिखित है
• ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (एम्स), दिल्ली
• सेंट जॉन्स मेडिकल कॉलेजस, बैंगलोर
• कस्तूरबा मेडिकल कॉलेज, मणिपाल
• जवाहरलाल इंस्टीट्यूट ऑफ पोस्ट ग्रैजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट
• लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज, नई दिल्ली
• किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ
• मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज (एमएएमसी), नई दिल्ली
• डॉ. डी. वाई. पाटिल मेडिकल कॉलेज, अस्पताल और अनुसंधान केंद्र, पुणे
• इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस बीएचयू, वाराणसी
• बैंगलोर मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट, बैंगलोर

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
Master of Surgery in General Surgery or MS General Surgery is a three years post graduate course in the surgical field. The course of MS General Surgery is designed for the students who want to make a career as a surgeon in India. To do this course, students must have MBBS degree from a recognized university with minimum one year internship.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X