ग्रैजुएशन के बाद एमओटी में करियर (Career in Master of Occupational Therapy After Graduation)

मास्टर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी, जिसे एमओटी के रूप में भी जाना जाता है, एक पोस्ट ग्रैजुएट लेवल की डिग्री है। एमओटी कोर्स को करने के लिए आपके पास बैचलर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी की अंडर ग्रैजुएट लेवल की डिग्री होना आवश्यक है। एमओटी दो साल की अवधि का कार्स है जिसमें की छात्रों को एविडेंस, थ्योरी, एंड क्रिटिकल थिंकिंग स्किल्स के लिए तैयार किया जाता है। मास्टर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी मेडिकल साइंस की वह शाखा है जो भावनात्मक, मानसिक और शारीरिक रूप से विकलांग लोगों के पुनर्वास और उपचार से संबंधित है। एक ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट रोगी की आवश्यकताओं के अनुसार पर्यावरण को अपनाता है और विभिन्न सिकिल्स को शामिल करता है जिनकी दैनिक जीवन में आवश्यकता होती है।

 

आइए आज के इस आर्टिकल में हम आपको मास्टर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी कोर्स से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी उपलब्ध कराते हैं कि इस कोर्स के लिए टॉप 10 कॉलेज कौन से हैं, इस करने के लिए एलिजिबिलिटी क्या है, करियर स्कोप, जॉब प्रोफाइल और सैलरी कितनी मिलती है।

ग्रैजुएशन के बाद एमओटी में करियर

एमओटी के लिए एलिजिबिलिटी

 

एमओटी कोर्स के लिए आवेदन करते समय छात्रों को कुछ पात्रता मानदंडों को पूरा करना आवश्यक है। पात्रता मानदंडों को पूरा करने में विफल रहने वाले छात्रों की उम्मीदवारी रद्द कर दी जाती है। एमओटी की पात्रता मानदंड संस्थान से संस्थान में भिन्न हो सकते हैं, कुछ सामान्य पात्रता मानदंड नीचे दिए गए हैं:
• छात्रों ने मान्यता प्राप्त संस्थान/बोर्ड से अपनी 12वीं की शिक्षा कुल मिलाकर न्यूनतम 45-50% के साथ पूरी की होगी।
• छात्रों ने छह महीने की इंटर्नशिप के साथ-साथ ऑक्यूपेशनल थेरेपी में ग्रैजुएशन की पढ़ाई पूरी की हो।

एमओटी कोर्स करने के लिए एडमिशन प्रोसेस

एमओटी में एडमिशन लेने के लिए कोई प्रमुख एंट्रेंस एग्जाम आयोजित नहीं किया जाता है। छात्रों को उनके ग्रैजुएशन के मार्क्स अनुसार ही मेरिट लिस्ट में चुना जाता है।

मास्टर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी

आइए अब हम आपको ऑक्यूपेशनल थेरेपी में विभिन्न प्रकार के कोर्स के बारे में बताते हैं। मास्टर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी का कोर्स करने हुए छात्र निम्न में से किसी एक स्पेशलाइजेशन को चुनकर उस सब्जेक्ट में मास्टर ऑप ऑक्यूपेशनल थेरेपी का कोर्स कर सकते हैं।
• एमएससी (मास्टर ऑफ साइंस) ऑक्यूपेशनल थेरेपी
• एमए (मास्टर ऑफ आर्ट्स) ऑक्यूपेशनल थेरेपी
• एमआरएस (मास्टर इन रिहैबिलिटेशन साइंस) ऑक्यूपेशनल थेरेपी
• एमओटी (मास्टर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी)

मास्टर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी (एमओटी) स्पेशलाइजेशन

एमओटी कोर्स करने वाले छात्रों को मुख्य रूप से दी जाने वाली स में दी जाने वाली स्पेशलाइजेशन निम्नलिखित है जिसमें से छात्रों को केवल एक का ही चयन करना होता है।

• एमओटी - न्यूरो रिहैबिलिटेशन
• एमओटी - हाथ एंड मस्कुलोस्केलेटल कंडिशन
• एमओटी - डेवलपमेंट डिसेबलिटिस
• एमओटी - मेंटल हेल्थ एंड साइकोसोशल रिहैबिलिटेशन

मास्टर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी करने वाले छात्रों की सैलरी

एमओटी की डिग्री पूरी होने पर, विभिन जॉब प्रोफाइल में उनके पदों के अनुसार सैलरी दी जाती है। इस कोर्स को करने वाले छात्र कम से कम 2 लाख प्रति वर्ष और अधिकतम 8 लाख प्रति वर्ष तक कमा सकते हैं।

एमओटी कोर्स पूरा करने के बाद करियर स्कोप

ऑक्यूपेशनल थेरेपी में पोस्ट ग्रैजुएशन पूरी करने के बाद छात्रों को उनकी विशेषज्ञता या उनकी रुचि के क्षेत्र दिए जाते हैं जैसे की ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट, फिजियोथेरेपिस्ट असिस्टेंट आदि। एमओटी कोर्स पूरा करने वाले छात्रों के लिए उपयुक्त रोजगार क्षेत्रों की सूची नीचे दी गई है:
• पब्लिक एंड प्राइवेट हॉस्पिटल
• रिहैबिलिटेशन यूनिट
• कंसल्टेशन सर्विस
• रिसर्च इंस्टीट्यूशन
• प्राइवेट प्रैक्टिस
• स्पेशल स्कूल
• इंडस्ट्रियल मेडिकल फैसिलिटी
• डी- एडिक्शन सेंटर
• साइकेट्रिक क्लीनिक
• वर्कप्लेस हेल्थ एंड सेफ्टी यूनिट

एमओटी कोर्स पूरा करने के बाद करियर के अवसर

एक बेहतर भविष्य के लिए लोगों की सहायता करने में रुचि रखने वाले, ऑक्यूपेशनल थेरेपी में पोस्ट ग्रैजुएट डिग्री पूरी करने के बाद छात्र पब्लिक व सरकारी दोनों क्षेत्रों में करियर के अवसरों की तलाश करने योग्य हो जाते हैं।
एमओटी कोर्स पूरा करने के बाद जॉब प्रोफाइल निम्न प्रकार की है
• फिजियोथेरेपिस्ट असिस्टेंट
• स्पोर्ट्स फिजियो रिहैबिलिटेटर
• थेरेपी मैनेजर
• ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट
• रिसर्चर
• ऑस्टियोपैथी
• टीचर
• प्रोफेसर
• मेडिकल रिकॉर्ड मैनेजर
एमओटी कोर्स पूरा करने वाले छात्रों के लिए टॉप रिक्रयूटर्स निम्न प्रकार के हैं
• हेल्प ऐज इंडिया
• अपोलो अस्पताल
• फोर्टिस अस्पताल
• मेडीबिज प्राइवेट लिमिटेड
• टॉकवोकर्स पैंटालून फिटनेस प्राइवेट लिमिटेड
• होस्मत अस्पताल

एमओटी सिलेबस

फर्स्ट ईयर
• एप्लीकेशन ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी इन रिहैबिलिटेशन
• रिसर्च मेथाडोलॉजी एंड बॉयोस्टैटिसटिक्स
• रोल ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी इन मेंटल हेल्थ
• रोल ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी इन फिजिक्स डिसफंक्शन
• ओ.टी क्लीनिक-I
• असेसमेंट एंड मैनेजमेंट-I

सेकंड ईयर
• एडमिनिस्ट्रेशन, मैनेजमेंट एंड एथिकल इशू
• पेडागोजी इन ऑक्यूपेशनल थेरेपी एजुकेशन
• ऑक्यूपेशनल थेरेपी इन मस्कुलोस्केलेटल डिसऑर्डर-I
• ऑक्यूपेशनल थेरेपी इन मस्कुलोस्केलेटल डिसऑर्डर-II
• ओ.टी क्लीनिक-II
• असेसमेंट एंड मैनेजमेंट-II
• डिसर्टेशन

एमओटी के लिए टॉप 10 कॉलेज की सूची निम्नलिखित है

1. एचआईएमएसआर नई दिल्ली - हमदर्द इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च
2. एआईआईपीएमआर मुंबई - ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ फिजिकल मेडिसिन एंड रिहैबिलिटेशन
3. जामिया हमदर्द, नई दिल्ली
4. जीजीएसआईपीयू दिल्ली - गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी
5. आईएसआईसी इंस्टीट्यूट ऑफ रिहैबिलिटेशन साइंस, नई दिल्ली
6. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ एजुकेशन एंड रिसर्च, पटना
7. केएमसीएच कॉलेज ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी, कोयंबटूर
8. श्रीमती कमलाबेन पी पटेल भौतिक चिकित्सा और व्यावसायिक चिकित्सा संस्थान, आनंद
9. एमसीएचपी मणिपाल - मणिपाल कॉलेज ऑफ हेल्थ प्रोफेशन
10. महाराज विनायक ग्लोबल यूनिवर्सिटी, जयपुर

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
The Master of Occupational Therapy, also known as MOT, is a postgraduate level degree. To pursue MOT course, you must have an undergraduate level degree of Bachelor of Occupational Therapy. MOT is a two-year course to prepare students for evidence, theory, and critical thinking skills.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X