12वीं कक्षा के बाद करें कंप्यूटर एपलिकेशन (डीसीए) में डिप्लोमा: जानिए कोर्स डिटेल

कंप्यूटर, आज के दौर में सभी के जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है। चाहे वो वर्क लाइफ हो या फिर स्टूडेंट लाइफ। कंप्यूटर एक ऐसा इल्कट्रॉनिक डिवाइस है जिसमें की आपार चीजें शामिल है। जिन्हें सीखने के लिए छात्रों को अलग से कोर्स करने पड़ते हैं। तो चलिए आज के इस आर्टिकल में हम जानते हैं कि 12वीं कक्षा पास करने के बाद छात्र कंप्यूटर से जुड़ा कौनसा डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं। जिसे करने के बाद उनकी अच्छी नौकरी लग सके और वो अपने जीवन में सफलता की राह चल सके।

 

कंप्यूटर एपलिकेशन में डिप्लोमा करने के लिए छात्र को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से केवल 12वीं पास करने की आवश्यकता होती है। बता दें कि ये डिप्लोमा मात्र 1 वर्ष की अवधि का होता है। जिसमें की छात्रों को कंप्यूटर साइंस से जुड़े बेसिक फंडामेंटल कॉन्सेप्ट को पढ़ाया व सिखाया जाता है।

12वीं कक्षा के बाद करें कंप्यूटर एपलिकेशन (डीसीए) में डिप्लोमा: जानिए कोर्स डिटेल

डिप्लोमा इन कंप्यूटर एपलिकेशन यानि की डीसीए का कोर्स करने के बाद छात्रों के लिए बहुत से करियर विकल्प खुल जाते हैं। इस कोर्स को करने के बाद छात्र भारत समेत किसी भी देश में नौकरी के एल्पाई कर सकता है व नौकरी पाने से सफलता हासिल प्राप्त कर सकता है।

 

डीसीए कोर्स से जुड़ी प्रमुख बातें

डीसीए फुल फॉर्म - कंप्यूटर एप्लीकेशन में डिप्लोमा
डीसीए कोर्स की अवधि - 1 वर्ष।
डीसीए कोर्स की फीस - 5,000 से 20,000 कुल
डीसीए एलिजिबिलिटी - 10+2 (इंटरमीडिएट)
डीसीए कोर्स करने के बाद सैलरी- 10,000 से 30,000 तक प्रति माह

डीसीए का कोर्स करने के लिए एलिजिबिलिटी

डीसीए कोर्स में एडमिशन लेने के लिए, छात्रों को यह सुनिश्चित करना होगा कि वे बुनियादी एलिजिबिलिटी मानदंडों को पूरा करते हैं। कंप्यूटर एप्लीकेशन कोर्स में डिप्लोमा के लिए मूल आवश्यकता ये है कि उम्मीदवार अंग्रेजी भाषा के माध्यम किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड या संस्थान से 12वीं कक्षा में पास हो।
डीसीए कोर्स करने के लिए उम्मीदवार की आयु 18-22 वर्ष के बीच की होनी चाहिए। हालांकि कुछ कॉलेज इस कोर्स में एडमिशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम भी आयोजित करते हैं। डीसीए कोर्स में एडमिशन लेने के लिए प्रमुख एंट्रेंस एग्जाम के नाम- JEXPO, NTTF डीसीए में एडमिशन लेने के लिए उम्मीदवार ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही तरीकों से आवेदन कर सकते हैं।

डीसीए कोर्स करने के लिए प्रमुख विषय निम्नलिखित हैं

• सी++ (प्रोग्रामिंग भाषा)
• डेटाबेस
• इंटरनेट एक्स्प्लोरर
• कंप्यूटर बेसिक
• एमएस वर्ड, पॉवरपॉइंट, एक्सेल असेसमेंट
• आईटी सिक्योरट
• सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग
• ई-कॉमर्स
• सॉफ्टवेयर हैकिंग
• सिस्टम एनालिसीस एंड डिजाइन
• एमएस ऑफिस एप्लीकेशन

डीसीए का कोर्स करने के लिए कॉलेज की फीस

भारतीय कॉलेजों में डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन कोर्स की फीस 10,000 रुपये से लेकर 25,000 प्रति वर्ष तक होती है। किसी संस्थान की डीसीए फीस बुनियादी ढांचे, शैक्षणिक सुविधाओं, संकाय, संस्थागत सुविधाओं, प्रयोगशाला सुविधाओं आदि पर निर्भर करती है।

डीसीए कोर्स के लाभों में 1 वर्ष की अवधि के लिए तुलनात्मक रूप से कम वार्षिक फीस शामिल है। देश में अन्य कोर्स की तुलना में, डीसीए कंप्यूटर कोर्स की फीस काफी उचित है।

कॉलेज का नामफीस
मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज, चेन्नई13,000
एचएमवी कॉलेज, जालंधर23,000
माधव विश्वविद्यालय, सिरोही40,000
अल्फोंसा कॉलेज, कोट्टायम15,000
अन्नामलाई विश्वविद्यालय, चिदंबरम
34,000
खालसा कॉलेज, अमृतसर26,000

डीसीए कोर्स करने के बाद जॉब प्रॉफाइल

डीसीए कंप्यूटर एप्लीकेशन कोर्स करने के बाद जो छात्र सरकारी नौकरियों या सिविल पदों में रुचि रखते हैं, वे राज्य स्तरीय सिविल परीक्षा या यूपीएससी का विकल्प चुन सकते हैं। नीचे सूचीबद्ध कुछ पद हैं जो एक डीसीए कंप्यूटर पाठ्यक्रम स्नातक पाठ्यक्रम के पूरा होने पर शामिल हो सकते हैं:
• वेब डिजाइनर
• कंप्यूटर ऑपरेटर
• डाटा एंट्री ऑपरेटर
• कंप्यूटर तकनीशियन
• क्लर्क
• सी++ डेवलपर
• बैक ऑफिस एक्जीक्यूटिव
• सिस्टम अधिकारी
• तकनीकी राइटर

डीसीए कोर्स पूरा करने के बाद आपको एक आईटी कंपनी में नौकरी मिलती है जिसके बाद आपको वेब डिजाइन, डेटाबेस और प्रोग्रामिंग जैसे विषयों पर काम करना होता है।

डीसीए कोर्स करने के बाद हायर स्टडीज

डीसीए कोर्स कोर्स करने के बाद हायर स्टडीज कंप्यूटर प्रोग्रामिंग और अनुप्रयोगों के क्षेत्र में छात्र की विश्वसनीयता को बढ़ाती है।
एक हायर एजुकेशन वाले छात्र नौकरी जगत में शामिल होने पर हायर सैलरी सुनिश्चित करता है। यदि कोई छात्र डिप्लोमा करने के बाद तुरंत कार्य क्षेत्र में शामिल नहीं होना चाहता है, तो वह हायर स्टडीज का विकल्प चुन सकता है। कंप्यूटर एप्लीकेशन कोर्स में डिप्लोमा करने के बाद हायर स्टडीज के कुछ विकल्प नीचे दिए गए हैं:
• बीसीए
• बीएससी आईटी
• एमसीए

डीसीए का कोर्स करने वाले छात्रों की सैलरी

भारत में डीसीए कोर्स करने के बाद औसत वेतन सालाना 2 लाख रुपए तक का होता है। जिसके बाद समय के साथ उच्च अनुभव के साथ, वेतन भी बढ़ता है।

भारत में टॉप 10 डीसीए कॉलेज की सूची निम्नलिखित है

1. मुंबई विश्वविद्यालय, मुंबई
2. अलगप्पा विश्वविद्यालय, कराईकुडी
3. एलपीयू, जालंधर
4. एमसीसी, चेन्नई
5. राष्ट्रीय प्रबंधन संस्थान, मुंबई
6. गुजरात विश्वविद्यालय, अहमदाबाद
7. मद्रास विश्वविद्यालय, चेन्नई
8. अन्नामलाई विश्वविद्यालय, चिदंबरम
9. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, अलीगढ़
10. महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय, रोहतक

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
To do Diploma in Computer Application, the student needs to have passed 12th only from a recognized board. Please note that this diploma is of only 1 year duration. In which students are taught and taught basic fundamental concepts related to computer science. After doing the course of Diploma in Computer Application i.e. DCA, many career options are opened for the students. After doing this course, the student can apply for a job in any country including India and can achieve success by getting a job.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X