10वीं के बाद करें ग्राफिक डिजाइनिंग का कोर्स: जानिए फीस, कॉलेज की डिटेल और करियर स्कोप

आज के समय में ग्राफिक डिजाइनिंग का कोर्स बेहद प्रचलित है। हम अक्सर छात्रों के मुंह से सुनते हैं कि उन्हें ग्राफिक डिजाइनर बनना है। तो चलिए आज के इस आर्टिकल में हम जानते हैं कि आखिर कौन होते हैं ग्राफिक डिजाइनर और इनका क्या काम होता हैं। ग्राफिक डिजाइनिंग का कोर्स करने के लिए छात्रों को क्या करना चाहिए और इस कोर्स का एडमिशन प्रोसेस क्या है, एलिजिबिलिटी, फीस क्या है और इस कोर्स को करने के बाद छात्रों के पास क्या करियर स्कोप होता है।

 

ग्राफिक डिजाइनिंग का कोर्स छात्र किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं कक्षा पास करने के बाद कर सकते हैं। इस कोर्स में छात्रों को फोटोशॉप, फोटो एडिटिंग जैसे विषय पढ़ाए व सिखाए जाते हैं। जिन छात्रों को फोटो में क्रिएटिविटी करने का शौक होता हैं ये कोर्स उनके करियर के लिए एक बेहतरिन विकल्प हो सकता है।

10वीं के बाद करें ग्राफिक डिजाइनिंग का कोर्स

ग्राफिक डिजाइनिंग कोर्स क्या है?

ग्राफिक डिजाइनिंग के इस कोर्स में डिजाइन प्रिंसिपल, ड्राइंग, कलर थियोरी, एसथेटिक्स स्किल, प्रिटिंग पेरामिटर, 2 डी और 3 डी मोशन ग्राफिक्स आदि जैसे विषय पढ़ाए जाते हैं। जो कि छात्रों को ब्रॉडकास्ट मिडियम (मूवी, वेब सीरीज, विज्ञापनों, डॉक्यूमेंट्री, टीवी सिरियल) और सोशल मीडिया चैनलों (इंस्टाग्राम, फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप, पिंटरेस्ट, स्नैपचैट, लिंक्डइन, स्नैपचैट, यूट्यूब, आदि) के लिए ग्राफिक डिजाइन करना सिखाया जाता है।

 

ग्राफिक डिजाइनिंग में डिप्लोमा/सर्टिफिकेट कोर्स

ग्राफिक डिजाइनिंग में कोर्स में छात्र एक साल की अवधि का डिप्लोमा भी कर सकते हैं। जो कि विभिन्न पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करता है जैसे कि एनीमेशन, विजुअल डिजाइनिंग, ग्राफिक डिजाइन, आदि। ग्राफिक डिजाइनिंग कोर्स में कुछ डिप्लोमा सर्टिफिकेट कोर्स नीचे दिए गए हैं:
• ग्राफिक डिजाइन मास्टर कोर्स
• ग्राफिक डिजाइन में डिप्लोमा
• ग्राफिक डिजाइन और इंटरैक्टिव मीडिया डिप्लोमा ऑनलाइन
• ग्राफिक डिजाइन में उन्नत डिप्लोमा
• ग्राफिक्स डिजाइन और डेस्कटॉप प्रकाशन में कार्यकारी डिप्लोमा
• ग्राफिक डिजाइन और मीडिया में डिप्लोमा
• ग्राफिक डिजाइन में सर्टिफिकेट
• ग्राफिक डिजाइन कोर्स ऑनलाइन
उम्मीदवार विभिन्न प्रतिष्ठित संस्थानों के माध्यम से ग्राफिक डिजाइन पाठ्यक्रम में डिग्री भी प्राप्त कर सकते हैं, केवल ग्राफिक डिजाइन की डिग्री कॉलेज विश्वविद्यालयों, बहुराष्ट्रीय कंपनियों, फैशन उद्योग एनीमेशन स्टूडियो आदि में विभिन्न रोजगार के अवसर प्रदान कर सकती है।
ऑनलाइन प्लेटफार्मों द्वारा कराए जाने वाले ग्राफिक डिजाइनिंग कोर्स
• Coursera
• Udemy
• Internshala

कोर्सअवधिएलिजिबिलिटीफीससंस्थान का नाम
प्रॉफेशनल कोर्स इन ग्राफिक डिजाइन
10 महीने10वीं पास1,75,000
फ्रेमबॉक्स - अहमदाबाद
सर्टिफिकेट प्रोग्राम इन ग्राफिक डिजाइन
3 - 6 महीने10वीं पास45,000
ज़ी इंस्टिट्यूट ऑफ़ क्रिएटिव आर्ट्स- मल्टीपल लोकेशन, बिगबॉक्स प्रोफेशनल एकेडमी - चंडीगढ़
सर्टिफिकेट इन ग्राफिक डिजाइन
6 महीने10वीं पास80,000
वोग इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी - बेंगलुरु
सर्टिफिकेट कोर्स इन ग्राफिक डिजाइनिंग
6 महीने10वीं पास65,000
इंटरनेशनल स्कूल ऑफ़ डिज़ाइन - पुणे, डाइस अकादमी - नई दिल्ली

ग्राफिक डिजाइनिंग का कोर्स सरकारी और प्राइवेट दोनों संस्थानों द्वारा प्रदान किया जाता है।
आमतौर पर ग्राफिक डिजाइनिंग कोर्स की फीस 10000 से 50000 रुपये प्रति सेमेस्टर के बीच होती है। यदि आपको ग्राफिक डिजाइनिंग फीस पर विस्तृत जानकारी प्राप्त करनी है तो छात्र सीधे संस्थान से संपर्क करें ताकि उसे बेहतर समझ हो सके।

ग्राफिक डिजाइनिंग कोर्स करने के बाद करियर स्कोप

ग्राफिक डिजाइनिंग कोर्स करने के बाद छात्र इंटरनेट वेबसाइट, एप्स, गेमिंग प्लेटफॉर्म, डिजिटल कपनियां, और मीडिया कपनियों में नौकरी कर सकते हैं। जहां छात्रों को ग्राफिक डिजाइनर, वीडियो एडिटर, लोगो डिजाइनर जैसी प्रॉफाइल के लिए हायर किया जाता है। हालांकि, मीडिया कपनियों में ग्राफिक डिजाइनर कि भारी मांग देखी जाती है। बता दें कि करियर के शुरुआती दौर में ग्राफिक डिजाइनर को प्रति माह 10 से 30 हजार तक का ओसतन वेतन मिलता है लेकिन जैसे-जैसे आपका ग्राफिक डिजाइनिंग में एक्सपिरियंस बढ़ता जाता है उस अनुसार आपकी रैंक जूनियर ग्राफिक डिजाइनर से सिनियर ग्राफिक डिजाइनर में तब्दील हो जाती है और आपकी सैलरी भी बढ़ जाती है।

बता दें कि ग्राफिक डिजाइनिंग का कोर्स करने के बाद लोग खुद भी स्टार्ट अप कर सकते हैं। साथ ही फ्रीलांस ग्राफिक डिजाइनर का भी काम कर सकते हैं। फ्रीलांस के काम में आप घर बैठे ही किसी प्रोजेक्ट पर काम कर सकते हैं। ग्राफिक डिजाइनर की मांग दिन-प्रतिदिन मार्केट में बढ़ती जा रही है। चाहे वो मीडिया इंडस्ट्री में हो या सोशल मीडिया आज कल हर जगह ग्राफिक डिजाइनर का स्कोप बढ़ता दिखाई दे रहा है।

जॉब प्रॉफाइलजॉब फील्डप्रति माह औसत वेतन
फ्रीलांस ग्राफिक डिजाइनर
इंटरनेट प्लेटफार्म
5,000 से 30,000 तक
लोगो डिजाइनरगेमिंग कंपनियां
5,000 से 15,000 तक
ग्राफिक डिजाइनर
मीडिया कंपनियां, ब्लॉग, वेबसाइट
10,000 से 30,000 तक
विडियो संपादक
यूट्यूब चैनल, डिजिटल कंपनियां, मीडिया कंपनियां
10,000 से 30,000 तक

ग्राफिक डिजाइनर बनने के लिए आवश्यक स्किल

ग्राफिक डिजाइनर बनने के लिए सबसे आवश्यक है कि आपको एचटीएमएल, सीएसएस और अन्य वेब डिजाइनिंग भाषाओं की बुनियादी समझ और फोटोशॉप, इलस्ट्रेटर, कोरल ड्रॉ और आफ्टर इफेक्ट्स जैसे बुनियादी डिजाइन सॉफ्टवेयर का ज्ञान होना चाहिए।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
Graphic designing course can be done by students after passing 10th class from a recognized board. In this course, subjects like photoshop, photo editing are taught and taught to the students. In this course of Graphic Designing, subjects like Design Principles, Drawing, Color Theory, Aesthetic Skills, Printing Parameters, 2D and 3D Motion Graphics etc are taught. Which taught students to design graphic for broadcast medium (movie, web series, commercials, documentaries, TV serial) and social media channels (Instagram, Facebook, Twitter, WhatsApp, Pinterest, Snapchat, LinkedIn, Snapchat, YouTube, etc.) goes.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X