कृषि व्यवसाय में एमबीए कैसे करें, फीस, जॉब, सैलरी और टॉप कॉलेज

कृषि व्यवसाय में एमबीए (एग्री-बिजनेस में एमबीए) 2 साल का पोस्टग्रेजुएट डिग्री कोर्स है जो एक उद्यमी और एक पेशेवर दोनों के रूप में सबसे तेजी से बढ़ते क्षेत्रों में से एक है। यह कोर्स फसल की खेती, खाद्य उत्पादन और कृषि में विभिन्न संबंधित व्यावसायिक अवधारणाओं के व्यवसाय से संबंधित है।

 

चलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको कृषि व्यवसाय में एमबीए से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी से अवगत कराएंगे कि आखिर कृषि व्यवसाय में एमबीए करने के लिए एलिजिबिलिटी क्या होनी चाहिए। इसका एडमिशन प्रोसेस क्या है, इसके लिए प्रमुख एंट्रेंस एग्जाम कौन से हैं, इसे करने के बाद आपके पास जॉब प्रोफाइल क्या होंगी और उनकी सैलरी क्या होगी। भारत में कृषि व्यवसाय में एमबीए करने के लिए टॉप कॉलेज कौन से हैं और उनकी फीस क्या है।

कृषि व्यवसाय में एमबीए कैसे करें, फीस, जॉब, सैलरी और टॉप कॉलेज

• कोर्स का नाम- कृषि व्यवसाय में एमबीए
• कोर्स का प्रकार- पोस्ट ग्रेजुएट
• कोर्स की अवधि- 2 साल
• पात्रता- स्नातक
• एडमिशन प्रोसेस- एंट्रेंस एग्जाम
• कोर्स फीस- 3 से 8 लाख तक
• अवरेज सैलरी- 2 से 10 लाख तक

 

कृषि व्यवसाय में एमबीए: पात्रता

  • उम्मीदवारों के पास किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज या विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होनी चाहिए।
  • उम्मीदवार के स्नातक डिग्री में कुल मिलाकर कम से कम 60% अंक होने चाहिए।
  • उम्मीदवारों को अपनी पसंद के कॉलेजों में सीट सुरक्षित करने के लिए एमबीए सामान्य प्रवेश परीक्षा जैसे कैट, एक्सएटी, स्नैप, सीएमएटी में से किसी एक को उत्तीर्ण करना होगा।
  • अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग से संबंधित उम्मीदवारों को अनिवार्य प्रक्रिया के रूप में पाठ्यक्रम कार्यक्रम में 5% छूट प्रदान की जाती है।

कृषि व्यवसाय में एमबीए: प्रवेश प्रक्रिया

किसी भी टॉप यूनिवर्सिटी में कृषि व्यवसाय में एमबीए कोर्स में एडमिशन लेने के लिए, उम्मीदवारों को एंट्रेंस एग्जाम देने की आवश्यकता होती है। एंट्रेंस एग्जाम में पास होने के बाद पर्सनल इंट्रव्यू होता है और यदि उम्मीदवार उसमें अच्छा स्कोर करते हैं, तो उन्हें स्कोलरशिप भी मिल सकती है।

कृषि व्यवसाय में एमबीए के लिए भारत के टॉप कॉलेजों द्वारा अपनाई जाने वाली एडमिशन प्रोसेस निम्नलिखित है

चरण 1: रजिस्ट्रेशन

  • उम्मीदवार ऑफिशयल वेबसाइट पर जाएं।
  • ऑफिशयल वेबसाइट पर जाने के बाद आवेदन फॉर्म भरें।
  • आवेदन फॉर्म को भरने के बाद ठीक तरह से जांच लें यदि फॉर्म में गलती हुई तो वह रिजक्ट हो सकता है।
  • मांगे गए दस्तावेज अपलोड करें।
  • आवेदन पत्र सबमिट करें।
  • क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड से ऑनलाइन फॉर्म की फीस जमा करें।

चरण 2: एंट्रेंस एग्जाम

  • यदि उम्मीदवार कृषि व्यवसाय में एमबीए में एडमिशन लेने के लिए टॉप यूनिवर्सिटी का लक्ष्य रखते हैं, तो उनके लिए एंट्रेंस एग्जाम क्रेक करना अत्यंत आवश्यक है। जिसके लिए रजिस्ट्रेशन प्रोसेस पूरी हो जाने के बाद एडमिट कार्ड जारी किए जाते हैं। जिसमें की एंट्रेंस एग्जाम से संबंधित सभी जानकारी दी जाती है जैसे कि एग्जाम कब और कहां होगा, आदि।
  • बता दें कि कृषि व्यवसाय में एमबीए के लिए एडमिशन प्रोसेस कैट, एक्सएटी, स्नैप और सीएमएटी आदि जैसे एंट्रेंस एग्जाम पर निर्भर करती है। योग्य उम्मीदवारों का चयन आगे इंट्रव्यू के आधार पर किया जाता है।

चरण 3: एंट्रेंस एग्जाम का रिजल्ट
एंट्रेंस एग्जाम हो जाने के कुछ दिन बाद उसका रिजल्ट घोषित किया जाता है जिसके लिए, छात्रों को नियमित रूप से विश्वविद्यालय की वेबसाइटों और सोशल मीडिया हैंडल की जांच करके खुद को अपडेट रखना चाहिए।

चरण 4: इंट्रव्यू एंड एनरोलमेंट

  • एंट्रेंस एग्जाम में पास होने वाले छात्रों को यूनिवर्सिटी द्वारा इंट्रव्यू में उपस्थित होने के लिए कहा जाएगा - या तो ऑनलाइन (स्काइप, गूगल मीट, ज़ूम) या ऑफ़लाइन छात्रों को यूनिवर्सिटी परिसर में बुलाकर।
  • इस दौरान, अन्य सभी एलिजिबिली क्राइटेरिया को क्रॉस चेक किया जाता है और यदि छात्र इंटरव्यू में अच्छा प्रदर्शन करते हैं, तो उन्हें कृषि व्यवसाय में एमबीए का अध्ययन करने के लिए एडमिशन दिया जाता है।

एमबीए में एडमिशन लेने के लिए प्रवेश परीक्षा की सूची

  • एमएटी (मैनेजमेंट एप्टीट्यूड टेस्ट)
  • कैट (कॉमन एडमिशन टेस्ट)
  • सीएमएटी (कॉमन मैनेजमेंट एडमिशन टेस्ट)
  • एक्सएटी (जेवियर एप्टीट्यूड टेस्ट)
  • जीमैट (ग्रेजुएट मैनेजमेंट एप्टीट्यूड टेस्ट-विदेश)
  • एसएनएपी (सिम्बायोसिस नेशनल एप्टीट्यूड टेस्ट)
  • एन-एमएटी (नरसी मोनजी एप्टीट्यूड टेस्ट)
  • एमएच-सीईटी (महाराष्ट्र कॉमन एंट्रेंस टेस्ट)
  • आईबीएसएटी (आईसीएफएआई बिजनेस स्कूल प्रवेश परीक्षा)
  • आईआईएफटी (भारतीय विदेश व्यापार संस्थान)
  • एटीएमए (प्रबंधन प्रवेश के लिए एआईएमएस टेस्ट)
  • टीएएनसीईटी (तमिलनाडु कॉमन एंट्रेंस टेस्ट)
  • एएमयू सीएटी (अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय)
  • अमृता (अमृता विश्व विद्यापीठम)
  • बीएमएटी (भारती विद्यापीठ मैनेजमेंट एप्टीट्यूड टेस्ट)
  • एफएमएस (प्रबंधन अध्ययन संकाय)
  • आईसीईटी (एपी आईसीईटी - इंटीग्रेटेड कॉमन एंट्रेंस टेस्ट)
  • केएमएटी (कर्नाटक मैनेजमेंट एप्टीट्यूड टेस्ट)
  • एमआईसीए (मुद्रा संचार संस्थान, अहमदाबाद प्रवेश परीक्षा)
  • ओपनमैट (इग्नू ओपनमैट एमबीए एंट्रेंस एग्जाम)
  • आरएमएटी (राजस्थान प्रबंधन योग्यता परीक्षा)
  • एसआरएमसीएटी (एसआरएम कॉमन एडमिशन टेस्ट)
  • एचपीसीएटी (हिमाचल प्रदेश कंबाइंड एप्टीट्यूड टेस्ट)
  • यूपीएसईई (यूपी राज्य प्रवेश परीक्षा)

कृषि व्यवसाय में एमबीए: सिलेबस

सेमेस्टर 1

  • प्रबंधन सिद्धांत और मूल्य
  • लेखा और वित्तीय विश्लेषण कृषि व्यवसाय के लिए वित्तीय प्रबंधन
  • मात्रात्मक तकनीक
  • प्रबंधकीय अर्थशास्त्र
  • पर्यावरण और कृषि व्यवसाय प्रबंधन विपणन

सेमेस्टर 2

  • संगठनात्मक व्यवहार और लोकाचार
  • कृषि व्यवसाय के लिए वित्तीय प्रबंधन
  • कृषि व्यवसाय और ग्रामीण विपणन
  • कृषि व्यवसाय प्रबंधन में अनुसंधान के तरीके
  • उत्पादन और संचालन प्रबंधन
  • मानव संसाधन प्रबंधन

सेमेस्टर 3

  • बिजनेस लॉ एंड एथिक्स
  • उद्यमिता और परियोजना प्रबंधन कंप्यूटर अनुप्रयोग और एमआईएस
  • व्यावहारिक प्रशिक्षण (8 सप्ताह)

सेमेस्टर 4

  • रणनीतिक प्रबंधन
  • कृषि व्यवसाय प्रबंधन में संगोष्ठी
  • निबंध
  • चिरायु आवाज

इलेक्टिव

समूह अ

  • सामग्री प्रबंधन
  • बीज उत्पादन और प्रौद्योगिकी
  • उर्वरक प्रौद्योगिकी और प्रबंधन
  • एग्रो केमिकल एंड टेक्नोलॉजी मैनेजमेंट

ग्रुप बी

  • सामग्री प्रबंधन
  • बीज उत्पादन तकनीक
  • बायो-टेक इंडस्ट्रीज का प्रबंधन
  • फूलों की खेती और भूनिर्माण का प्रबंधन

ग्रुप सी

  • सामग्री प्रबंधन
  • पशुधन उत्पादों के लिए प्रौद्योगिकी प्रबंधन
  • फ़ीड व्यवसाय प्रबंधन
  • पोल्ट्री और हैचरी प्रबंधन

ग्रुप डी

  • सामग्री प्रबंधन
  • पशुधन उत्पादों के लिए प्रौद्योगिकी प्रबंधन
  • खाद्य प्रौद्योगिकी और प्रसंस्करण प्रबंधन
  • फल उत्पादन और कटाई उपरांत प्रबंधन

कृषि व्यवसाय में एमबीए: टॉप कॉलेज और उनकी फीस

  • अंतर्राष्ट्रीय कृषि-व्यवसाय प्रबंधन संस्थान आनंद (गुजरात)- फीस 5 लाख
  • इंस्टीट्यूट ऑफ एग्री-बिजनेस मैनेजमेंट, बीकानेर- फीस 3 लाख
  • कॉलेज ऑफ एग्री-बिजनेस मैनेजमेंट, पंतनगर- फीस 6 लाख
  • भारतीय प्रबंधन संस्थान, अहमदाबाद- फीस 10 लाख
  • सिम्बायोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल बिजनेस, हिंजेवाड़ी- फीस 6 लाख
  • राष्ट्रीय कृषि विस्तार प्रबंधन संस्थान, हैदराबाद- फीस 5 लाख
  • भारतीय प्रबंधन संस्थान, लखनऊ- फीस 6- 7 लाख

कृषि व्यवसाय में एमबीए: जॉब प्रोफाइल और सैलरी

  • फार्मा एप्ररेजर- सैलरी 4 लाख
  • एग्रीकल्चर पॉलिसी एनालिस्ट- सैलरी 3-4 लाख
  • मार्केट एनालिस्ट- सैलरी 6 लाख
  • फाइनेंसर- सैलरी 6 लाख
  • क्वालिटी कंट्रोलर- सैलरी 5 लाख
  • मार्केटिंग हेड- सैलरी 7 लाख
  • बायो कम्पोस्ट सेल्स हेड- सैलरी 5 लाख
  • रिलेश्नशिप मैनेजर- सैलरी 4-10 लाख
  • ऑपरेशन मैनेजर- सैलरी 4-5 लाख

यह खबर पढ़ने के लिए धन्यवाद, आप हमसे हमारे टेलीग्राम चैनल पर भी जुड़ सकते हैं।

Top MBA Colleges In UP 2022: उत्तर प्रेदश में मैनेजमेंट MBA के टॉप 10 कॉलेज की लिस्ट

NIRF Ranking 2022 MBA Colleges In India भारत के टॉप एमबीए कॉलेज की लिस्ट 2022

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
MBA in Agribusiness is a 2 year postgraduate degree course which is one of the fastest growing sectors both as an entrepreneur and as a professional. This course deals with the business of crop cultivation, food production and various related business concepts in agriculture.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X