एमएससी इन चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग में करियर कैसे बनाएं, जानिए कोर्स, कॉलेज और करियर स्कोप के बारे में

एमएससी चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग कोर्स 2 साल का कोर्स है, जिसे कक्षा ग्रेजुएशन के बाद किया जा सकता है। इस के लिए छात्रों को बीएससी नर्सिंग से संबंधित कोर्स से पास होना अनिवार्य है। 2 साल के कोर्स को सेमेस्टर सिस्टम के माध्यम से 4 सेमेस्टर में बांटा गया है। जिसके अंत में परीक्षा का आयोजन किया जा सकता है। कोर्स की फीस 5 हजार से 1 लाख रुपये तक जा सकती है। कोर्स को पूरा कर छात्र पीएचडी कोर्स के लिए भी आवेदन कर सकते हैं और चाहें तो नर्स के तौर पर कार्य कर सकते हैं। जॉब प्रोफाइल और रोजगार सेक्टर की जानकारी छात्रों के लिए लेख में नीचे दी गई है।

 

चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग कोर्स को इस प्रकार डिजाइन किया गया है जिसमें छात्रों को बच्चों के स्वास्थ्य नर्सिंग के सभी सिद्धांतों का ज्ञान थ्योर के माध्यम से दिया जाता है। जिसमें छात्रों को शुरुआती स्वास्थ्य देखभाल के साथ एडवांस लेलव की देखभाल के बारे में भी सिखाया जाता है, साथ ही देखभाल के नैति मुद्दों और नियमों के बारे में भी छात्रों को जागरूक किया जाता है। इसके साथ छात्रों को नर्स के सभी दायित्वों के बारे में बताया जाता है और सिखाया जाता है। आइए आपको कोर्स से बारे में अन्य जानकारी दें।

एमएससी इन चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग में करियर कैसे बनाएं, जानिए कोर्स, कॉलेज और  करियर स्कोप के बारे में

एमएससी चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग : योग्यता

 

- कोर्स में प्रवेश लेने के लिए छात्रों का बेसि बीएससी इन नर्सिंग, बीएससी नर्सिंग इन हेल्थ साइंस या पोस्ट सर्टिफिकेट इन नर्सिंग से ग्रेजुएट होना आवश्यक है।
- कोर्स में प्रवेश के लिए आपको ग्रेजुएशन में 50 प्रतिशत अंक प्राप्त कर सकते हैं।
- आरक्षित श्रेणी के छात्रों को कोर्स में प्रवेश के लिए 45 प्रतिशत अंकों की आवश्यकता है।
- ऊपर दिए कोर्सेस में से किसी कोर्स की अंतिम परीक्षा देने वाला छात्र भी कोर्स के लिए आवेदन कर सकता है।
- कोर्स में प्रवेश के लिए कई संस्थानों द्वारा प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जाता है और कुछ संस्थान ग्रेजुएशन में प्राप्त अंकों के आधार पर संस्थान में प्रवेश देते हैं।

एमएससी चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग : नर्सिंग के की रोल

• बच्चों की नर्सिंग जरूरतों का आकलन।
• बच्चों की सामाजिक, चिकित्सा, सांस्कृतिक और पारिवारिक परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए।
• बच्चों और उनकी देखभाल करने वालों के साथ उचित रूप से संवाद करना।
• बच्चे के व्यवहार या प्रतिक्रियाओं की व्याख्या करना।
• बच्चों का पूरा आकलन करें।
• विभिन्न सेटिंग्स में देखभाल प्रदान करना।
• अच्छे स्वास्थ्य और अच्छे चरित्र की आवश्यकताओं को पूरा करना।
• पर्यवेक्षण के बिना सुरक्षित और प्रभावी अभ्यास करना।

एमएससी चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग : कॉलेज और फीस

1. मेमोरियल कॉलेज ऑफ नर्सिंग कोझीकोड - 25,000 रुपये
2. भरत विश्वविद्यालय चेन्नई - 1,50,000 रुपये
3. गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ नर्सिंग जयपुर - 23,500 रुपये
4. गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ नर्सिंग त्रिशूर - 28,000 रुपये
5. एचकेई सोसाइटी कॉलेज ऑफ नर्सिंग गुलबर्गा - 15,000 रुपये
6. जिपमर पांडिचेरी - 5,700 रुपये
7. केजी कॉलेज ऑफ नर्सिंग कोयंबटूर - 50,000 रुपये
8. केआर इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिंग बैंगलोर - 25,000 रुपये
9. मदुरै अपोलो कॉलेज ऑफ नर्सिंग मदुरै - 32,400 रुपये
10. प्रवरा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज अहमद नगर - 90,000 रुपये
11. सविता विश्वविद्यालय चेन्नई - 1,50,000 रुपये
12. एसजीटी विश्वविद्यालय गुड़गांव - 3,00,000 रुपये
13. वीसीएन नमक्कल - 72,000 रुपये
14. WBUHS कोलकाता - 3,000 रुपये

एमएससी चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग : सिलेबस

सेमेस्टर 1
• कंप्यूटर एप्लीकेशन
• थियोरेटिकल फाउंडेशन ऑफ नर्सिंग
• एथिको लीगल बेसिस ऑफ नर्सिंग
• क्लिनिकल फार्मोकोलॉजी
• बॉयोस्टैटिसटिक्स

सेमेस्टर 2
• एडवांस पीडियाट्रिक नर्सिंग 1
• एडवांस पीडियाट्रिक नर्सिंग 2
• एपिडेमियोलॉजी
• एडवांस पीडियाट्रिक नर्सिंग पैक्टिकम 1
• एडवांस नर्सिंग एडमिनिस्ट्रेशन
• नर्सिंग एजुकेशन

सेमेस्टर 3
• नर्सिंग रिसर्च मेथड

सेमेस्टर 4
• एडवांस नर्सिंग पैक्टिकम 2

एमएससी चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग : जॉब प्रोफाइल

• हेल्थ स्पेशलिस्ट - 4 से 5 लाख रुपये सालाना
• नर्स एजुकेटर - 3 से 4 लाख रुपये सालाना
• पीडियाट्रिशियन - 10 से 12 लाख रुपये सालाना
• क्लिनिकल इंस्ट्रक्टर - 6 से 9 लाख रुपये सालाना
• डायटिशियन - 2 से 3 लाख रुपये सालाना
• डायलिसिस टेक्निशियन एंड थेरेपीज - 3 से 7 लाख रुपये सालाना
• डायटिशियन एंड न्यूट्रिशन - 4 से 8 लाख रुपये सालाना
• हेल्थ स्पेशलिस्ट एजुकेशन - 4 से 7 लाख रुपये सालाना
• स्कूल हेल्थ नर्स - 3 से 5 लाख रुपये सालाना

एमएससी चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग : रोजगार सेक्टर

1. क्लीनिकल रिसर्च
2. कोलैबोरेटिव क्लिनिकल प्रैक्टिस
3. ग्रुप क्लिनिकल प्रैक्टिस/ एचएलओएस
4. मेडिकल कॉलेज/ यूनिवर्सिटीज
5. मेडिकली अंडररिजर्वड
6. माइग्रेन क्लिनिक्स
7. नर्स मैनेज्ड क्लिनिक
8. प्राइवेट क्लिनिक्स
9. रूरल हेल्थ क्लिनिक
10. स्कूल बेस्ड क्लिनिक्स
11. स्पेशलिटी प्रैक्टिस

एमएससी चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग : स्कोप

चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग में एमएससी की डिग्री प्राप्त करने वाले छात्र ऊपर दिए गए सेक्टर में नर्सिंग और अन्य कई पदों पर नौकरी कर सकते हैं। लेकिन इसके अलावा जो छात्र प्रोफेसर के पद पर नौकरी कर विश्वविद्याल्यों में पढ़ाने की इच्छा रखते हैं वह छात्र एमएससी इन चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग कोर्स करने के बाद संबंधित विषय पर पीएचडी कर सकते हैं और प्रोफेसर के तौर पर सालाना 9 से 11 लाख रुपये कमा सकते हैं।

यह खबर पढ़ने के लिए धन्यवाद, आप हमसे हमारे टेलीग्राम चैनल पर भी जुड़ सकते हैं।

एमएससी इन पीडियाट्रिक नर्सिंग में करियर कैस बनाएं, जानिए कोर्स, फीस, टॉप कॉलेज और करियर स्कोप

कक्षा 12वीं के बाद कार्डियक परफ्यूजन में बीएससी कैसे करें, जानिए कोर्स फीस, कॉलेज और करियर स्कोप के बारे में

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
MSc Child Health Nursing course is a 2 year course which can be pursued after class graduation. For this, it is mandatory for the students to pass the course related to B.Sc Nursing. The 2 year course is divided into 4 semesters through the semester system. At the end of which the examination can be conducted. The course fees can go up to Rs 5000 to Rs 1 lakh. After completing the course, students can also apply for PhD course and can work as a nurse if they want. The job profile and employment sector information is given below in the article for the students.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X