Career in LLM International Law 2023: एलएलएम इंटरनेशनल लॉ में कैसे बनाएं करियर

एलएलएम इंटरनेशनल लॉ 2 साल की अवधि का कोर्स है जो अंतरराष्ट्रीय कानून की बारीकियों को कवर करता है। बता दें कि एलएलएम इंटरनेशनल लॉ भारत में उपलब्ध दूसरी सबसे लोकप्रिय एलएलएम विशेषज्ञता वाला कोर्स है। इस कोर्स में शामिल मुख्य विषयों में प्रत्येक विषय के ट्रांस-नेशनल पहलुओं पर ध्यान देने के साथ न्यायशास्त्र और संवैधानिक कानून शामिल हैं।

 

चलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको इन एलएलएम इंटरनेशनल लॉ से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी से अवगत कराएंगे कि आखिर इंटरनेशनल लॉ में एलएलएम करने के लिए एलिजिबिलिटी क्या होनी चाहिए। इसका एडमिशन प्रोसेस क्या है, इसके लिए प्रमुख एंट्रेंस एग्जाम कौन से हैं, इसे करने के बाद आपके पास जॉब प्रोफाइल क्या होंगी और उनकी सैलरी क्या होगी। भारत में एलएलएम इंटरनेशनल लॉ कोर्स करने के लिए टॉप कॉलेज कौन से हैं और उनकी फीस क्या है।

Career in LLM International Law 2023: एलएलएम इंटरनेशनल लॉ में कैसे बनाएं करियर

• कोर्स का नाम- एलएलएम इंटरनेशनल लॉ
• कोर्स का प्रकार- पोस्ट ग्रेजुएशन
• कोर्स की अवधि- 2 साल
• पात्रता- एलएलबी, बीए एलएलबी
• एडमिशन प्रोसेस- एंट्रेंस एग्जाम
• कोर्स फीस- 50,000 से 5 लाख तक
• अवरेज सैलरी- 3 से 10 लाख तक

 

एलएलएम इंटरनेशनल लॉ: पात्रता

  • उम्मीदवारों के पास किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज या विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन + एलएलबी या बीएएलएलबी में स्नातक की डिग्री होनी चाहिए।
  • उम्मीदवार के स्नातक डिग्री में कुल मिलाकर कम से कम 60% अंक होने चाहिए।
  • उम्मीदवारों को अपनी पसंद के कॉलेजों में सीट सुरक्षित करने के लिए सामान्य प्रवेश परीक्षा जैसे क्लैट, एआईएलईटी, क्यूसैट कैट, एलएसएटी, टीएस लॉसीईटी, एपी लॉसीईटी, इलसैट, एमएचटी सीईटी, सईटी स्लेट, पीयू एलएलबी में किसी एक को भी उत्तीर्ण करना चाहिए।
  • अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग से संबंधित उम्मीदवारों को अनिवार्य प्रक्रिया के रूप में पाठ्यक्रम कार्यक्रम में 5% छूट प्रदान की जाती है।

एलएलएम इंटरनेशनल लॉ: प्रवेश प्रक्रिया

किसी भी टॉप यूनिवर्सिटी में एलएलएम इंटरनेशनल लॉ कोर्स में एडमिशन लेने के लिए, उम्मीदवारों को एंट्रेंस एग्जाम देने की आवश्यकता होती है। एंट्रेंस एग्जाम में पास होने के बाद पर्सनल इंट्रव्यू होता है और यदि उम्मीदवार उसमें अच्छा स्कोर करते हैं, तो उन्हें स्कोलरशिप भी मिल सकती है।

एलएलएम इंटरनेशनल लॉ के लिए भारत के टॉप कॉलेजों द्वारा अपनाई जाने वाली एडमिशन प्रोसेस निम्नलिखित है

चरण 1: रजिस्ट्रेशन

  • उम्मीदवार ऑफिशयल वेबसाइट पर जाएं।
  • ऑफिशयल वेबसाइट पर जाने के बाद आवेदन फॉर्म भरें।
  • आवेदन फॉर्म को भरने के बाद ठीक तरह से जांच लें यदि फॉर्म में गलती हुई तो वह रिजक्ट हो सकता है।
  • मांगे गए दस्तावेज अपलोड करें।
  • आवेदन पत्र सबमिट करें।
  • क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड से ऑनलाइन फॉर्म की फीस जमा करें।

चरण 2: एंट्रेंस एग्जाम

  • यदि उम्मीदवार एलएलएम इंटरनेशनल लॉ में एडमिशन लेने के लिए टॉप यूनिवर्सिटी का लक्ष्य रखते हैं, तो उनके लिए एंट्रेंस एग्जाम क्रेक करना अत्यंत आवश्यक है। जिसके लिए रजिस्ट्रेशन प्रोसेस पूरी हो जाने के बाद एडमिट कार्ड जारी किए जाते हैं। जिसमें की एंट्रेंस एग्जाम से संबंधित सभी जानकारी दी जाती है जैसे कि एग्जाम कब और कहां होगा, आदि।
  • बता दें कि एलएलएम इंटरनेशनल लॉ के लिए एडमिशन प्रोसेस क्लैट, एआईएलईटी, क्यूसैट कैट, एलएसएटी, टीएस लॉसीईटी, एपी लॉसीईटी, इलसैट, एमएचटी सीईटी, सईटी स्लेट, पीयू एलएलबी आदि जैसे एंट्रेंस एग्जाम पर निर्भर करती है। योग्य उम्मीदवारों का चयन आगे इंट्रव्यू के आधार पर किया जाता है।

चरण 3: एंट्रेंस एग्जाम का रिजल्ट
एंट्रेंस एग्जाम हो जाने के कुछ दिन बाद उसका रिजल्ट घोषित किया जाता है जिसके लिए, छात्रों को नियमित रूप से विश्वविद्यालय की वेबसाइटों और सोशल मीडिया हैंडल की जांच करके खुद को अपडेट रखना चाहिए।

चरण 4: इंट्रव्यू एंड एनरोलमेंट

  • एंट्रेंस एग्जाम में पास होने वाले छात्रों को यूनिवर्सिटी द्वारा इंट्रव्यू में उपस्थित होने के लिए कहा जाएगा - या तो ऑनलाइन (स्काइप, गूगल मीट, ज़ूम) या ऑफ़लाइन छात्रों को यूनिवर्सिटी परिसर में बुलाकर।
  • इस दौरान, अन्य सभी एलिजिबिली क्राइटेरिया को क्रॉस चेक किया जाता है और यदि छात्र इंटरव्यू में अच्छा प्रदर्शन करते हैं, तो उन्हें इंटरनेशनल लॉ में एलएलएम का अध्ययन करने के लिए एडमिशन दिया जाता है।

एलएलएम इंटरनेशनल लॉ: सिलेबस

सेमेस्टर 1

  • सार्वजनिक अंतर्राष्ट्रीय विधि
  • भारत में कानून और सामाजिक परिवर्तन
  • वैश्वीकरण की दुनिया में कानून और न्याय
  • सामान्य अंतर्राष्ट्रीय कानून
  • भारतीय संवैधानिक कानून: नई चुनौतियां

सेमेस्टर 2

  • न्यायिक प्रक्रिया
  • अंतर्राष्ट्रीय संबंध और संधियों का कानून
  • अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार
  • कानूनी शिक्षा और अनुसंधान पद्धति
  • विश्व व्यापार कानून
  • अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय
  • अभ्यास सत्र -1

सेमेस्टर 3

  • समुद्र का कानून
  • तुलनात्मक कानून
  • वायु और अंतरिक्ष कानून
  • कूटनीति और कानून (निर्वाचित राष्ट्र)
  • सार्वजनिक अंतर्राष्ट्रीय विधि
  • निजी अंतर्राष्ट्रीय कानून

सेमेस्टर 4

  • अंतर्राष्ट्रीय आर्थिक कानून
  • बौद्धिक संपदा अधिकार
  • अंतर्राष्ट्रीय श्रम कानून
  • पर्यावरण कानून
  • निबंध
  • पर्यावरण कानून

एलएलएम इंटरनेशनल लॉ: टॉप कॉलेज और उनकी फीस

  • आईआईटी, खड़गपुर- फीस 1,63,900
  • एनएलयूजेएए, गुवाहाटी- फीस 1,04,500
  • मद्रास विश्वविद्यालय, चेन्नई- फीस 19,125
  • शारदा विश्वविद्यालय, ग्रेटर नोएडा- फीस 1,50,000
  • एचपीयू, शिमला
  • हिट्स, चेन्नई- फीस 1,88,000

एलएलएम इंटरनेशनल लॉ: जॉब प्रोफाइल और सैलरी

  • इंटरनेशनल लॉयर- सैलरी 9.78 लाख
  • कॉर्पोरेट वकील- सैलरी 10.55 लाख
  • लीगल एडवाइजर- सैलरी 8.56 लाख
  • पॉलिसी एडवाइजर- सैलरी 6.85 लाख
  • मीडियेटर- सैलरी 5.48 लाख

यह खबर पढ़ने के लिए धन्यवाद, आप हमारे टेलीग्राम चैनल पर भी जुड़ सकते हैं।

पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन बिजनेस लॉ में करियर (Career in PG Diploma in Business Law)

पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन कॉर्पोरेट लॉ में करियर (Career in PG Diploma in Corporate Law)

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
LLM International Law is a course of 2 years duration which covers the nuances of International Law. Let us tell you that LLM International Law is the second most popular LLM specialization course available in India. The main subjects covered in this course include jurisprudence and constitutional law with a focus on trans-national aspects of each subject.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X