12वीं के बाद बैचलर ऑफ फिजिकल एजुकेशन-बीपीई (Career in Bachelor OF Physical Education-BPE After 12th)

सभी स्कूलों में छात्रों को एक गेम्स का पीरियड मिलता है। खेलकूद में दिलचस्पी रखने वाले छात्र हमेशा से ही इस एक पीरियड के इंतजार में रहते थे। स्कूलों में होने वाले खेल कार्यक्रम में भाग लेते-लेते स्कूल स्तर की खेल प्रतियोगिता में भाग लेने लगते हैं। इस तरह खेल या स्पोर्ट्स में अपना करियर देख रहे छात्रों के लिए सबसे बहतरीन कोर्स है बैचलर ऑफ फिजिकल एजुकेशन- बीपीई (BPE)।

 

कक्षा 12वीं के रिजल्ट का इंतजार कर रहे छात्र और परीक्षा पास कर चुके छात्र फिलहाल अपने करियर को लेकर चिंतित है सभी छात्र अपने पसंदीदा कोर्सों के बारे में सोच रहे हैं।ऐसे में जो छात्र खेलकूद में हमेशा से दिलचस्पी रखते है और स्पोर्ट्स फील्ड में अपना करियर बनाना चाहते हैं वह छात्र बैचलर ऑफ फिजिकल एजुकेशन - बीपीई (BPE) कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं। बीपीई 3 साल का अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम है। इस कोर्स को छात्रों के लिए स्पोर्ट्स फील्ड में एक मजबूत नींव बनाने के लिए बनाया गया है। इस कोर्स में शारीरिक फिटनेस, व्यायाम, खेल और स्वास्थ्य शामिल है।

12वीं के बाद बैचलर ऑफ फिजिकल एजुकेशन (Career in Bachelor OF Physical Education-BPE After 12th)

बीपीई के लिए योग्यता

बीपीइ कोर्स करने की इच्छा रखने वाले छात्रों को कोर्स के लिए आवेदन करने से पहले कोर्स से जुड़ी कई अन्य बाते जानना जरूरी है, ऐसे में सबसे अहम बात जो उन्हें जाननी चाहिए वह है बीपीई कोर्स योग्यता।

 

बीपीई कोर्स करने के लिए छात्र का किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से कक्षा 12वीं पास होना आवश्यक है।

किसी भी स्ट्रीम के छात्र बीपीई के लिए आवेदन कर सकते है।

कक्षा 12वीं में छात्रों के कम से कम 50 से 60 प्रतिशत अंक होने जरूरी हैं।

बीपीई और बीपीएड (BPE and B.P.ed)

बीपीई 3 साल का अंडरग्रेजुएट कोर्स है जिसे छात्र कक्षा 12वीं के बाद कर सकते हैं। इसे किसी भी स्ट्रीम का छात्र कर सकता है।
बीपीएड कोर्स प्रोफेशनल कोर्स है ये कोर्स वह छात्र करते हैं जिन्हें स्पोर्ट्स क्षेत्रों में शिक्षक के तौर पर अपना करियर बनाना होता है, लेकिन बीपीएड कोर्स कक्षा 12वीं के बाद नहीं किया जा सकता। इस कोर्स को करने के लिए छात्र के पास किसी भी स्ट्रीम में बैचलर की डिग्री होना अनिवार्य है।


बीपीई कोर्स प्रवेश परीक्षा

बीपीई में प्रवेश लेने के लिए छात्रों को प्रवेश परीक्षा में भाग लेना अनिवार्य है। बीपीई प्रवेश परीक्षा के बाद आए उनके परिणामों के अनुसार संस्थान में दाखिले की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाता है। परीक्षा के बाद कई संस्थान छात्रों का इंटरव्यू भी लेते हैं।

कई ऐसे संस्थान है जो इस कोर्स में छात्रों को 12वीं परीक्षा पास करने के बाद सीधे दाखिला भी देते हैं। उनके 12वीं के अंको के आधार पर।

बीपीई प्रवेश प्ररीक्षा के नाम

छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा
लखनऊ विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा
जेवी जैन कॉलेज प्रवेश परीक्षा
माउंट कार्मेल कॉलेज प्रवेश परीक्षा
डीएवी कॉलेज प्रवेश परीक्षा
द्विजेंद्रलाल कॉलेज प्रवेश परीक्षा
ब्रह्मवर्त पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज प्रवेश परीक्षा
जादवपुर विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा
नेशनल पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज एंट्रेंस टेस्ट
स्कॉटिश चर्च कॉलेज प्रवेश परीक्षा

बीपीई में स्कोप

बीपीई करने वाले छात्रों के पास स्पोर्ट्स फील्ड में कई स्कोप होते हैं। छात्र कोर्स पूरा कर आगे की पढ़ाई के लिए भी आवेदन कर सकता है और चाहे तो कोर्स के पूरा होने के बाद नौकरी भी कर सकता है। इस क्षेत्र में बच्चों के पास कई अच्छे ऑप्शन होते हैं। दिन पर दिन खेलों के पैर्टन में बदलाव हो रहा है। बीपीई कोर्स करने वाने छात्र नौकरी के अलावा फिटनेस सेंटर और जिम भी खोल सकते हैं। बीपीई के बाद बीपीएड (B.P.ed) कर स्पोर्ट्स शिक्षक भी बन सकते हैं।

बीपीई के बाद रोजगार क्षेत्र

स्पोर्ट्स एंड बिजनेस मार्केटिंग कंपनीज
कॉलेज एंड यूनिवर्सिटी
फिटनेस सेंटर
होटल इंडस्ट्री
स्पोर्ट्स इक्विपमेंट्स इंडस्ट्रीज
स्पोर्ट्स जर्नलिज्म
स्पोर्ट्स टीम
प्राइवेट स्कूल
सरकारी स्कूल

जॉब प्रोफाइल

एंपाय और रैफरी
कॉमेंटेटर
फिजिकल एजुकेशन इंस्ट्रक्टर
प्रोफेशनल प्लेअर
स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट
स्पोर्ट्स फोटोजर्नलिस्ट
स्पोर्ट्स एंड लीशर क्लब मैनेजर
स्पोर्ट्स एडमिनिस्ट्रेटर
स्पोर्ट्स गुड मैन्युफैक्चरिंग मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव
ट्रेनिंग इंस्ट्रक्टर
कोच

जॉब और इनकम

बीपीई करने के बाद कुछ जॉब प्रोफाइल और उनमें मिलने वाली सैलरी-

फिजिकल एजुकेशन टीचर : 30,000 प्रतिमाह
स्पोर्ट्स ट्रेनर : 25,000 प्रतिमाह
जिम ट्रेनर : 30,000 प्रतिमाह
फिटनेस इंचार्ज : 80,000 प्रतिमाह
योगा ट्रेनर : 90,000 प्रतिमाह

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
BPE is a very different course form B.P.ed. Students should understand the difference between both of them. Student can opt BPE after 12th class. BPE is a 3 year undergraduate program. Many reputed college offers the BPE course with direct admission as well as on entrance basis.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X