बीई इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग कैसे करें, जानिए कोर्स, फीस, टॉप कॉलेज और करियर स्कोप के बारे में

हर सा कक्षा 12वीं पास करने के बाद लाखों छात्र इंजीनियरिंग करने का सपना देखते हैं। इंजीनियरिंग में कई तरह के स्पेशलाइज्ड कोर्स शामिल है जिन्हें कर आप अपना इंजीनियर बनने का सपना पूरा कर सकते हैं। 12वीं बाद छात्र खोजते हैं कि वह किस-किस विषय में इंजीनियरिंग कोर्स बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग कोर्स कर सकते हैं। इस लेख के माध्यम से हम आज आपको इंजीनियरिंग के एक कोर्स की पूरी जानकारी विस्तार में देंगे, जिसमें कोर्स की योग्यता, कॉलेज और फीस की जानकारी, सिलेबस, जॉब प्रोफाइल आदि शामिल है। उस कोर्स का नाम है बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग जिसे आपक शॉर्ट में बीई इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग भी कह सकते हैं। आइए कोर्स के बारे में आपको बताएं।

 

बीई इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग कोर्स 4 साल की अवधि का कोर्स है इस कोर्स को छात्रों की सहायता के लिए 8 सेमेस्टर में बांटा गया है। हर सेमेस्टर की अवधि 6 माह की होती है और सेमेस्टर पूरा होने के बाद सेमेस्टर परीक्षा का आयोजन किया जाता है। कोर्स में छात्रों को कंट्रोल सिस्टम, डिजिटल सिस्टम प्रोसेसिंग, माइक्रोप्रोसेसर, पावर सिस्टम, इंफॉर्मेशन और कोडिंग, इलेक्ट्रिकल मैकेनिक नेटवर्क थ्योरी और इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जैसे कई विषयों की जानकारी दी जाती है। कोर्स के सिलेबस की जानकारी लेख में नीचे दी गई है। बीई इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग कोर्स करने के बाद छात्र नौकरी कर सकते हैं और यदि वह उच्च शिक्षा प्राप्त करने की इच्छा रखते हैं तो वह एमई (मास्टर ऑफ इंजीनियरिंग कर सकते हैं।

बीई इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग कैसे करें, जानिए कोर्स, फीस, टॉप कॉलेज और करियर स्कोप के बारे में

बीई इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग : योग्यता

 

किसी भी कोर्स को करने से पहल छात्रों को कोर्स की योग्याता जानने की जरूरत होती है। इसलिए बीई इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग कोर्स में प्रवेश लेने के लिए भी छात्रों को कोर्स की योग्यता जानने की आवश्यकता है, जो इस प्रकार है -

- किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से कक्षा 12वीं साइंस स्ट्रीम में पास छात्र कोर्स के लिए योग्य है।
- कक्षा 12वीं में छात्र ने कम से कम 75 प्रतिशत अंक होने चाहिए। (पहले अंक योग्यता 50 से 55 प्रतिशत हुआ करती थी। हाल ही में एनटीए द्वारा अंक प्रतिशत को बढ़ा कर 75 प्रतिशत कर दिया गया है।)
- कक्षा 12वीं के जिन छात्रों ने परीक्षा दी है या वह अंतिम परीक्षा में शामिल होने वाले हैं वह भी इस कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं।
- आरक्षित श्रेणी के छात्रों को अंक प्रतिशत में छूट प्राप्त है। आरक्षित श्रेणी के छात्रों को कक्षा 12वीं की परीक्षा में कम से कम 65 प्रतिशत अंक प्राप्त करने होंगे।
- क्योंकि छात्र इंजीनियरिंग कोर्स के लिए आवेदन कर रहा है इसलिए उसका कक्षा 12वीं की साइंस स्ट्रीम में पीसीएम यानी फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स पढ़ा हुआ होना आवश्यक है।

छात्रों को बता दें की बीई इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग कोर्स में प्रवेश केवल प्रवेश परीक्षा के माध्यम से ही लिया जा सकता है।

बीई इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग : प्रवेश परीक्षा

1. जईई मेंस
2. जेईई एडवांस
3. एमिटी जेईई
4. एएमयू इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम

इंजीनियरिंग कोर्स में प्रवेश लेने के परीक्षा का आयोजन संस्थान, राज्य और राष्ट्र आधिरत होता है।

प्रवेश परीक्षा के छात्रों के प्रदर्शन के आधार पर उन्हें रैंक प्राप्त होती जिसके अनुसार काउंसलिंग प्रक्रिया का आयोजन किया जाता है। काउंसलिंग प्रक्रिया में छात्रों को उनकी रैंक के अनुसार संस्थानों में सीट अलॉट की जाती है।

आईआईटी और एनआईटी संस्थानों में काउंसलिंग प्रक्रिया का आयोजन ज्वाइंट सीट अलॉटमेंट अथॉरिटी यानी JoSAA द्वारा आयोजित की जाती है।

बीई इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग : कोर्स सिलेबस

बीई इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग 4 साल की अवधि का कोर्स है। जिसे 8 सेमेस्टर में बांटा गया है। जिसका सिलेबस इस प्रकार है-

सेमेस्टर 1
इलेक्ट्रिकल साइंस
बेसिक इलेक्ट्रॉनिक लेबोरेटरी

सेमेस्टर 2
बेसिक इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग
बेसिक इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स लैब

सेमेस्टर 3
नेटवर्क थ्योरी
इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस
इंट्रोडक्शन टू इलेक्ट्रिकल सिस्टम
इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस लैब
इलेक्ट्रिकल मैकेनिक लैब
डिजिटल सिस्टम लैब

सेमेस्टर 4
सिगनल एंड सिस्टम
एनालॉग सर्किट
एइलेक्ट्रिकल मैक्निक्स और पावर इलेक्ट्रॉनिक्स
डिजिटल सिस्टम
एनालॉग सर्किट लैब

सेमेस्टर 5
माइक्रोप्रोसेसर एंड डिजिटल सिस्टम डिजाइन
प्रोबेबिलिटी एंड रेंडम प्रोसेस
इलेक्ट्रोमैग्नेटिक वेव
कम्युनिकेशन सिस्टम
इलेक्ट्रिकल मेजरमेंट एंड इंस्ट्रूमेंटेशन,
वीएलएसआई सिस्टम एंड टेक्नोलॉजी

सेमेस्टर 6
कंट्रोल सिस्टम
डिजिटल सिस्टम प्रोसेसिंग
डिजिटल कम्युनिकेशन
पावर सिस्टम
कंट्रोल सिस्टम लैब
कम्युनिकेशन लैब

सेमेस्टर 7
बीटेक प्रोजेक्ट
पावर इलेक्ट्रॉनिक एप्लीकेशन टू पावर ट्रांसमिशन
डिजिटल कम्युनिकेशन सिस्टम
माइक्रोप्रोसेसर एंड डिजिटल सिस्टम डिजाइन लैब
डिस्क्रीट डाटा एंड डिजिटल कंट्रोल

सेमेस्टर 8
कम्युनिकेशन सिस्टम थ्योरी
फिजिक्स ऑफ सेमीकंडक्टर डिवाइसेज
सेमीकंडक्टर बेस्ड डिवाइस
कंप्यूटर कंट्रोल और ऑटोमेशन ऑफ पावर सिस्टम
इंफॉर्मेशन और कोडिंग थ्योरी।

इलेक्टिव विषय
स्पेशल सेमीकंडक्टर डिवाइस
इंडस्ट्रियल इंस्ट्रूमेंटेशन
कंट्रोल सिस्टम डिजाइन
आईसी फैब्रिकेशन टेक्नोलॉजी
डिजिटल सर्किट डिजाइन
एमओएसएफटी रिलायबिलिटी इश्यूज
एडवांस मेमोरी टेक्नोलॉजी
एनालॉग सीएमओएस आईसी डिजाइन
ऑप्टोइलेक्ट्रॉनिक्स
इलेक्ट्रॉनिक इंस्ट्रूमेंटेशन
एनालॉग फिल्टर
बायोमेडिकल ऑप्टिक्स
एमओएस डिवाइस एंड मॉडलिंन
एडवांस माइक्रो-प्रोसेसर एंड नैनोटेक्नोलॉजी
एडवांस सिगनल प्रोसेसिंग
नेनोटेक्नोलॉजी एंड नेनो इलेक्ट्रॉनिक्स
ऑर्गेनिक इलेक्ट्रॉनिक्स
माइक्रोवेव एंड सैटलाइट कम्युनिकेशन

बीई इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग : कॉलेज, फीस और प्लेसमेंट पैकेज

आईआईटी मद्रास
फीस - 2,30,100 रुपये
प्लेसमेंट पैकेज - 7,00,000 रुपये

आईआईटी दिल्ली
फीस - 116,450 रुपये
प्लेसमेंट पैकेज - 10,400,000 रुपये

आईआईटी गुवाहाटी
फीस - 149,530 रुपये
प्लेसमेंट पैकेज - 10,500,000 रुपये

आईआईटी इंदौर
फीस - 93,000 रुपये
प्लेसमेंट पैकेज - 70,00,000 रुपये

एनआईटी राउरकेला, ओडिशा
फीस - 1,12,500 रुपये
प्लेसमेंट पैकेज - 7,34,000 रुपये

आईआईटी गांधीनगर
फीस - 1,13,000 रुपये
प्लेसमेंट पैकेज - 40,00,000 रुपये

एमिटी यूनिवर्सिटी
फीस - 1,87,000 रुपये
प्लेसमेंट पैकेज - 6,50,000 रुपये

दिल्ली प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
फीस - 1,90,000 रुपये
प्लेसमेंट पैकेज - 43,00,000 रुपये

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय
फी - 1,41,980 रुपये
प्लेसमेंट पैकेज - 6,50,000 रुपये

एनआईटी, सिलचर
फीस - 74,000 रुपये
प्लेसमेंट पैकेज - 5,96,000 रुपये

बीई इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग : जॉब प्रोफाइल और वेतन

1. टेलीकम्युनिकेशन इंजीनियर - 6 से 8 लाख रुपये सालाना
2. इलेक्ट्रिकल डिजाइन इंजीनियर - 6 से 9 लाख रुपये सालाना
3. डेपवलपमेंट एंट टेस्टिंग इंजीनियर - 5 से लाख रुपये सालाना
4. इलेक्ट्रिकल इंजीनियर - 4 से 7 लाख रुपये सालाना
5. जूनियर इलेक्ट्रिकल इंजीनियर - 4 से 6 लाख रुपये सालाना
6. इलेक्ट्रिकल टेस्टिंग इंजीनियर - 2.5 से 3.5 लाख रुपये सालाना
7. प्रोडक्ट इंजीनियर - 3 से 5 लाख रुपये सालाना
8. क्वालिटी इंजीनियर - 3.5 से 4 लाख रुपये सालाना
9. इलेक्ट्रिकल प्रोडक्ट डिजाइन इंजीनियर - 7 से 10 लाख रुपये सालाना
10.इंस्ट्रूमेंटेशन इंजीनियर - 6 से 7 लाख रुपये सालाना
11. पावर इंजीनियर - 7 से 10 लाख रुपये सालाना
12. ऑपरेश मैनेजर - 6 से 8 लाख रुपये सालाना
13. इलेक्ट्रो मैकेनिकल इंजीनियर - 10 लाख रुपये सालाना
14. इलेक्ट्रिकल इंजीनियर - 4 से 7 लाख रुपये सालाना
15. वर्कशॉप इंजीनियरिंग - 2 से 5 लाख रुपये सालाना

बीई इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग : भर्तीकर्ता

1. एसएआईएल (स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड)
2. बीएचईएल (भारत हैवी इलेक्ट्रिकल लिमिटेड)
3. जनरल इलेक्ट्रिक
4. गूगल
5. एनटीपीसी (नेशनल थर्मल पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड)
6. टाटा स्टील एंड पावर लिमिटेड
7. हिंदुस्तान मोटो
8. इसरो (भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन)
9. एल एंड टी कंस्ट्रक्शन एंड स्टील
10. आईबीएम (अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मशीनें)
11. सीमेंस प्रौद्योगिकी सेवाएं
12. दुर्गापुर स्टील प्लांट
13. जीएआईएल (गैस अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड)
14. जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड
15. ओमेगा लिफ्ट

बीई इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग : स्कोप

इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अवसरों की कम नहीं है। इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग का कोर्स पूरा कर छात्र ऊपर दी गई कंपिनियों में निम्न पदों पर कार्य कर साल का 4 से 10 लाख रुपये तक कमा सकते हैं। इसके अलावा यदि आपकों आपके संस्थान द्वारा प्लेसमेंट प्राप्त होती है तो ये आपके लिए और फायदेमंद होगा।

नौकरी के अलावा जो छात्र कोर्स पूरा करने के बाद उच्च शिक्षा के लिए जाना चाहते है वह एमई इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग कर सकते हैं। मास्टर की डिग्री के बाद छात्र पीएचडी कर विश्वविद्यालयों में पढ़ा सकते हैं। उच्च शिक्षा के साथ छात्रों के लिए अवसर में बढ़ौतरी होती हैं।

यह खबर पढ़ने के लिए धन्यवाद, आप हमसे हमारे टेलीग्राम चैनल पर भी जुड़ सकते हैं।

बीई इन केमिकल इंजीनियरिंग कैसे करें, जानिए कोर्स, फीस, टॉप कॉलेज और करियर स्कोप के बारे में

बीई इन सिविल इंजीनियरिंग कैसे करें, जानिए कोर्स, फीस और टॉप कॉलेज के बारे में

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
BE in Electrical Engineering course is 4 years duration course this course is divided into 8 semesters to help the students. To do this course, it is mandatory for the student to pass class 12th in science stream with at least 75 percent marks. The course can be pursued by class 12th science stream students. In the course, students are exposed to a wide range of topics such as control systems, digital systems processing, microprocessors, power systems, information and coding, electrical mechanics, network theory, and electronic devices.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X