12वीं के बाद बीएससी रीनल डायलिसिस टेक्नोलॉजी में करियर: Career in BSc Renal Dialysis Technology After 12th

बैचलर ऑफ साइंस इन रीनल डायलिसिस टेक्नोलॉजी (बीएससी रीनल डायलिसिस टेक्नोलॉजी) 3 साल की पैरामेडिकल साइंस में अंडरग्रेजुएट डिग्री है। जिसके लिए साइंस स्ट्रीम वाले 12वीं पास छात्र आवेदन कर सकते है। भारत में जामिया हमदर्द, जेएनयू नई दिल्ली, और जिपमर जैसे टॉप कॉलेज बीएससी रीनल डायलिसिस टेक्नोलॉजी में कोर्स प्रदान करते हैं, जिनमें प्रवेश या तो कक्षा 12 वीं की अंको के आधार पर या जेईई मेन, बिटसैट, वीआईटीईईई और अन्य विश्वविद्यालय स्तर की आयोजित एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर किया जाता है।

 

जबकि इग्नू, सिम्बायोसिस पुणे, शारदा यूनिवर्सिटी ग्रेटर नोएडा जैसे कॉलेज से भी ये कोर्स डिस्टेंस एजुकेशन के माध्यम से भी किया सकता है। बीएससी रीनल डायलिसिस टेक्नोलॉजी कोर्स की फीस लगभग 20,000 - 3,00,000 रुपये है। इस कोर्स को खास उन विद्यार्थियों के लिए डिजाइन किया गया है जो कि एक नर्स या चिकित्सक के रूप में गुर्दे की विफलता वाले रोगियों के लिए हेमोडायलिसिस इलाज करने के योग्य हो।

12वीं के बाद बीएससी रीनल डायलिसिस टेक्नोलॉजी में करियर

बीएससी रीनल डायलिसिस टेक्नोलॉजी कोर्स कने के बाद, कोई भी छात्र सरकारी या प्राइवेट अस्पतालों और क्लीनिकों में क्लिनिकल कोऑर्डिनेटर, मेडिकल टेक्निशियन, डायलिसिस टेक्नीशियन, लेक्चरर आदि के रूप में नौकरी पा सकता है। जिसका की औसत सालाना शुरुआती वेतन 2,00,000 है और छात्र के फिल्ड के अनुभव के साथ यह 27,00,00 तक पहुंच सकता है।

 

बीएससी रीनल डायलिसिस टेक्नोलॉजी: कोर्स डिटेल्स

कोर्स लेवलअंडरग्रैजुएट
फुल फॉर्म
बैचलर ऑफ साइंस इन रीनल डायलिसिस टेक्नोलॉजी
कोर्स की अवधि3 साल
एग्जाम टाइपसेमेस्टर टाइप
एलिजिबिलिटी
साइंस स्ट्रीम के साथ 12वीं पास
प्रवेश प्रक्रिया
मेरिट बेस्ड/ एंट्रेंस बेस्ड
कोर्स फीस
20,000 से 3,00,000 तक
अवरेज सैलरी
2,00,000 से 27,00,000 तक
रिक्रूटर्स
अपोलो हॉस्पिटल, मैक्स हॉस्पिटल, एम्स इंस्टीट्यूट, मेट्रो हॉस्पिटल, आदी।
जॉब प्रॉफाइल
नेफरोलॉजिस्ट, डायलिसिस थेरेपिस्ट, डायलिसिस टेक्नीशियन और मेडिकल टेक्नीशियन

बीएससी रीनल डायलिसिस टेक्नोलॉजी: प्रवेश प्रक्रिया

बैचलर ऑफ साइंस (रीनल डायलिसिस टेक्नोलॉजी) में प्रवेश निम्नलिखित में से किसी भी तरीके से संभव है:

प्रवेश आधारित प्रवेश
• 80% सीटों के लिए UPESEAT के माध्यम से प्रवेश।
• प्रवेश के इस तरीके के लिए जेईई मेन्स योग्यता के अलावा उच्च और वरिष्ठ माध्यमिक स्तर (10 वीं और 12 वीं कक्षा) में न्यूनतम कुल स्कोर 60% के अलावा 12 वीं कक्षा में मुख्य विषयों के रूप में फिजिक्स, केमेस्ट्री, बायोलॉजी और मैथ्स जैसे विषयों की आवश्यकता होती है।
• जेईई मेन्स का कटऑफ जेईई मेन्स के परिणाम घोषित होने के बाद घोषित किया जाता है।

मेरिट आधारित प्रवेश
• सीट के 20% तक मेरिट / जेईई मेन्स स्कोर के माध्यम से प्रवेश।
• प्रवेश के इस तरीके के लिए उच्च और वरिष्ठ माध्यमिक स्तर (10वीं और 12वीं) में न्यूनतम कुल 80% अंकों की आवश्यकता होती है, जिसमें फिजिक्स, केमेस्ट्री, बायोलॉजी और मैथ्स मुख्य विषय होते हैं।

बीएससी रीनल डायलिसिस टेक्नोलॉजी: एलिजिबिलिटी

• आवेदकों को मान्यता प्राप्त शिक्षा बोर्ड से विज्ञान की धारा में अपनी कक्षा 12 वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा में पास होना चाहिए।
• आवेदकों को फिजिक्स, केमेस्ट्री, बायोलॉजी और मैथ्स जैसे विषयों में प्रमाणित परीक्षा में 45 से 50 प्रतिशत (%) के कुल अंक प्राप्त करने चाहिए।
• कुछ विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर प्रवेश प्रदान करते हैं, इसलिए, आवेदकों को अपनी पसंद के विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित विशिष्ट परीक्षा में बैठने की आवश्यकता होती है।

बीएससी रीनल डायलिसिस टेक्नोलॉजी: प्रवेश के लिए आवेदन कैसे करें?

चरण 1: उम्मीदवार को लॉगिन आईडी और पासवर्ड बनाना होगा।
चरण 2: विश्वविद्यालय के आधिकारिक पोर्टल के माध्यम से लॉगिन करें।
चरण 3: सभी आवश्यक विवरण भरें और फिर आवश्यक दस्तावेज अपलोड करें। आवश्यक दस्तावेज नीचे दिए गए हैं:
• स्कैन की गई 10वीं कक्षा की मार्कशीट
• स्कैन की गई 12वीं कक्षा की मार्कशीट
• चरित्र प्रमाण पत्र
• प्रवासन प्रमाणपत्र
• आधार कार्ड
• पासपोर्ट के आकार की तस्वीर
• उम्मीदवार के हस्ताक्षर
• जाति प्रमाण पत्र (यदि लागू हो)
• ईडब्ल्यूएस प्रमाणपत्र (यदि लागू हो)
• पीडब्ल्यूडी प्रमाणपत्र (यदि लागू हो)
चरण 4: सभी आवश्यक दस्तावेज अपलोड करने के बाद, आवेदन शुल्क का भुगतान डेबिट कार्ड / क्रेडिट कार्ड / नेट बैंकिंग के माध्यम से करें।
चरण 5: 'सबमिट बटन' पर क्लिक करें।
ये वे चरण हैं जिनका उम्मीदवारों को पालन करना होता है और अधिकांश विश्वविद्यालयों में समान होते हैं।

बीएससी रीनल डायलिसिस टेक्नोलॉजी कोर्स करने के बाद जॉब प्रोफाइल

लेक्चरआर (प्रति वर्ष औसतन सैलरी 3,10,000 से 4,00,000 तक)
नेफरोलॉजिस्ट (प्रति वर्ष औसतन सैलरी 27,00,000 से 28,23,000 तक)
डायलिसिस थेरेपिस्ट (प्रति वर्ष औसतन सैलरी 2,42,000 से 3,44,000 तक)
डायलिसिस टेक्निशियन (प्रति वर्ष औसतन सैलरी 2,40,000 से 3,30,000 तक)
मेडिकल टेक्निशियन (प्रति वर्ष औसतन सैलरी 2,06,000 से 3,23,000 तक)

बीएससी रीनल डायलिसिस टेक्नोलॉजी कोर्स करने के लिए टॉप कॉलेज

कॉलेज का नामस्थानऔसत वार्षिक फीस
मणिपाल विश्वविद्यालयकर्नाटक35,850
जेआईपीएमईआरपांडिचेरी50,000
जेएसएस विश्वविद्यालयमैसूर33,625
जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालयदिल्ली21,840
जामिया हमदर्द विश्वविद्यालयदिल्ली2,21,000
एमजीएमआईएचएसमुंबई1,00,000
एम.एम.एम. कॉलेज ऑफ हेल्थ साइंसचेन्नई56,000
एजे इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च सेंटर
मंगलौर24,000
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
Bachelor of Science in Renal Dialysis Technology (BSc Renal Dialysis Technology) is a 3-year undergraduate degree in Paramedical Science. For which 12th pass students with Science stream can apply. Top colleges in India like Jamia Hamdard, JNU New Delhi, and JIPMER offer course in B.Sc Renal Dialysis Technology.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X