12वीं के बाद बीएससी एमएलटी में करियर (Career in B.Sc Medical Laboratory Technology After 12th)

बैचलर ऑफ साइंस इन मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी 3 साल का अंडरग्रेजुएट कोर्स है, जिसे छह सेमेस्टर (प्रति वर्ष दो सेमेस्टर) में बांटा गया है। इस कोर्स में हेल्थकेयर के विभिन्न पहलुओं के बारे में पढ़ाया जाता है। बीएससी एमएलटी कोर्स में छात्रों को क्लिनिकल एंडोक्रिनोलॉजी एंड टॉक्सिकोलॉजी लैब, डायग्नोस्टिक मॉलिक्यूलर बायोलॉजी लैब, डायग्नोस्टिक साइटोलॉजी आदि जैसे विषय पढ़ाए जाते हैं।

 

बता दें कि इस कोर्स में एडमिशन के लिए उम्मीदवारों को साइंस स्ट्रीम के साथ पीसीबी विषयों के साथ किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं कक्षा में पास होना आवश्यक है। बीएससी एमएलटी कोर्स कराने वाले प्रमुख कॉलेज और विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर ही छात्रों को एडमिशन देते हैं जबकि प्राइवेट संस्थान छात्रों को मेरिट बेस्ड भी एडमिशन देते हैं।

12वीं के बाद बीएससी एमएलटी में करियर

बीएससी एमएलटी कोर्स का मुख्य उद्देश्य विभिन्न टेस्टिंग मेथड्स को थ्योरिटिकल व प्रैक्टिकल तरीके से पढ़ाना व समझाना है जैसे कि ब्लड टेस्ट, ब्लड टाइपिंग, यूरिन टेस्ट और अन्य बॉडी लिक्विड से संबंधित टेस्ट। ये कोर्स छात्रों को लेब में उपलब्ध मशिनों का प्रयोग करकर टेस्टिंग करने की प्रक्रिया पर केंद्रीत है। इस कोर्स में चिकित्सा प्रक्रियाओं और सुविधाओं के साथ इलाज के लिए आवश्यक रिपोर्ट बनाना भी सिखाया जाता है। मेडिकल सांइस के आधुनिक युग में, बीमारियों का इलाज पूरी तरह से लेब में किए गए टेस्ट के बाद आने वाली रिपोर्ट पर निर्भर करता है।

 

बैचलर ऑफ साइंस इन मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी कोर्स डिटेल्स

  • कोर्स का नाम- बीएससी इन एमएलटी
  • फुल फॉर्म- बैचलर ऑफ सांइस इन मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी
  • कोर्स लेवल- अंडरग्रैजुएट
  • कोर्स अवधि- 3 साल
  • एलिजिबिलिटी- साइंस स्ट्रीम में 50 प्रतिशत अंको के साथ 12वीं पास
  • एडमिशन प्रोसेस- एंट्रेंस एग्जाम या मेरिट लिस्ट बेस्ड
  • कोर्स फीस- 10 हजार से 4 लाख तक
  • जॉब प्रोफाइल- सीटी स्कैन तकनीशियन, पैथोलॉजी तकनीशियन, एमआरआई तकनीशियन, ऑप्टिकल लेबोरेटरी तकनीशियन, एक्स-रे तकनीशियन, डेंटल मशीन तकनीशियन।

बीएससी एमएलटी कोर्स कोर्स पूरा करने के बाद छात्रों का औसत वार्षिक सैलरी 2 लाख से लेकर 6 लाख प्रति वर्ष तक होती है जो कि समय के साथ आपके अनुभव और स्किल्स के साथ बढ़ती रहती है।

बीएससी एमएलटी कोर्स पूरा होने के बाद छात्रों को मेडिकल संबंधित विभिन्न क्षेत्रों में करियर बनाने का सुनहरा मौका मिलता है। छात्र इस कोर्स की डिग्री के साथ किसी भी सरकारी या निजी हॉस्पिटल में रक्त दाता केंद्रों, आपातकालीन केंद्रों, प्रयोगशालाओं आदि में काम कर आसानी से पैसे कमा सकते हैं।

बीएससी एमएलटी एलिजिबिलिटी

• छात्र को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से अनिवार्य विषय के रूप में फिजिक्स, कैमेस्ट्री, बायोलॉजी और इंग्लिश के साथ 12वीं कक्षा में पास होना चाहिए।
• 12वीं कक्षा में कम से कम 50% अंक प्राप्त करने चाहिए।
• आरक्षित श्रेणियों को 5% की छूट दी जाती है।
• उम्मीदवार 17 वर्ष की आयु पूरी कर चुका हो।

बीएससी एमएलटी कोर्स के लिए एडमिशन प्रोसेस

• उम्मीदवारों को उस संस्थान की वेबसाइट पर जाना होगा जहां वे प्रवेश लेना चाहते हैं और एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया की जांच करें।
• जिसके बाद उम्मीदवारों को अपना पंजीकरण फॉर्म एक रनिंग मेल आईडी और फोन नंबर के साथ भरना चाहिए और लॉगिन आईडी जेनरेट करना चाहिए।
• लॉगिन आईडी बनाने के बाद उम्मीदवारों को आवेदन पत्र भरना होगा और दस्तावेज अपलोड करने होंगे।
• उसके बाद उम्मीदवारों को अपने आवेदन फीस का भुगतान करना होगा और भविष्य के संदर्भ के लिए आवेदन पत्र की रसीद लेनी होगी।
• मेरिट आधारित प्रवेश के मामले में कॉलेज योग्य उम्मीदवारों की एक सूची जारी करेगा।
• और प्रवेश परीक्षा के मामले में एजेंसी द्वारा योग्य उम्मीदवारों की सूची जारी की जाती है। उम्मीदवारों को काउंसलिंग के अंतिम दौर के दौरान अपनी पसंद बनानी होती है।

बीएससी एमएलटी में एडमिशन के लिए एंट्रेंस एग्जाम के नाम

• JEE Mains
• JEE Advanced
• JNUEE

बीएससी एमएलटी कोर्स पूरा करने के बाद जॉब प्रोफाइल

मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी का कोर्स करने के बाद छात्र दुनिया के किसी में देश में जॉब करने योग्य हो जाते हैं। इस कोर्स को करने के बाद छात्र ब्लड बैंकिंग, क्लिनिकल केमिस्ट्री, हेमेटोलॉजी, इम्यूनोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी, साइटोटेक्नोलॉजी, यूरिन एनालिसिस और ब्लड सैंपलिंग आदि जैसे क्षेत्र में भी जॉब कर सकते हैं। जैसे-जैसे दुनिया टेक्नोलॉजी की ओर बढ़ती जा रही है वैसे वैसे इस छेत्र में नौकरी के विकल्प बढ़ते जा रहे हैं। बीएससी एमएसटी का कोर्स पूरा करने के बाद छात्र निम्न जॉब प्रोफाइल के लिए आवेदन कर सकते हैं।

  • सीटी स्कैन तकनीशियन
  • पैथोलॉजी तकनीशियन
  • एमआरआई तकनीशियन
  • ऑप्टिकल लेबोरेटरी तकनीशियन
  • एक्स-रे तकनीशियन
  • डेंटल मशीन तकनीशियन
  • रेडियोलॉजी तकनीशियन
  • लेबोरेटरी तकनीशियन
  • लेबोरेटरी मैनेजर
  • मेडिकल ऑफिसर
  • रिसर्च असोसिएट
  • मेडिकल रिकॉर्ड तकनीशियन
  • रेसिडेंट मेडिकल ऑफिसर
  • लेब असिस्टेेंट
  • लेबोरेटरी टेस्टिंग मैनेजर
  • असोसिएट

बैचलर ऑफ साइंस इन मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी के टॉप 10 कॉलेज

1. मणिपाल उच्च शिक्षा अकादमी, मणिपाल, कर्नाटक
2. जामिया हमदर्द विश्वविद्यालय, नई दिल्ली, दिल्ली एनसीआर
3. शिक्षा 'ओ' अनुसंधान विश्वविद्यालय, भुवनेश्वर, उड़ीसा
4. किंग्स जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ, उत्तर प्रदेश
5. एसआरएम इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, कांचीपुरम, तमिलनाडु
6. क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लोर, तमिलनाडु
7. चंडीगढ़ विश्वविद्यालय, चंडीगढ़
8. बैंगलोर मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट, बैंगलोर, कर्नाटक
9. गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज, कोझीकोड, केरल
10. गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, चंडीगढ़

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
Bachelor of Science in Medical Laboratory Technology is a 3-year undergraduate course, divided into six semesters (two semesters per year). Various aspects of healthcare are taught in this course. In BSc MLT course, students are taught subjects like Clinical Endocrinology & Toxicology Lab, Diagnostic Molecular Biology Lab, Diagnostic Cytology etc.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X