बीटेक में इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग कैसे करें, जानिए कोर्स, फीस और टॉप कॉलेज

इंजीनियरिंग भारत में रहने वाले कई छात्रों का सपना है। जिसे करने के लिए छात्र शुरू से ही संस्थानों, राज्यों और नेशनल लेवल पर हर साल आयोजित होने वाली प्रवेश परीक्षा की तैयारी करते हैं। इन सभी प्रवेश परीक्षा में सबसे प्रमुख जेईई की परीक्षा होती है जिसके लिए हर साल लाखों छात्र आवेदन करते हैं और इस परीक्षा में शामिल होते हैं। दिन पर दिन इंजनीयरिंकग कोर्स की मांग और बढ़ती जा रही है। कोर्स पूरा होने का बाद हाई सैलरी छात्रों को अपनी ओर आकर्षित करती ही है। कौन नहीं चाहता कि पढ़ाई करने के बाद वह अच्छे पद अच्छी सैलरी प्राप्त करें। ये सपना हर छात्र का होता है और इसी सपने को लेकर न जाने कितने बच्चें हर साल इंजीनियरिंग कोर्स में प्रवेश लेते हैं। इंजीनियरिंग का क्षेत्र एक वास्ट क्षेत्र है, जिसमें कई तरह की स्पेसलाइजेशन कोर्स शामिल है, इन्हीं कोर्स में से एक कोर्स है बीटेक इन इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग। आज आपको इस लेख के माध्यम से बीटेक इन इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग कोर्स के बारे में बताएंगे।

 
बीटेक में इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग कैसे करें, जानिए कोर्स, फीस और टॉप कॉलेज

बीटेक इन इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग कोर्स 4 साल का ग्रेजुएशनल लेवल प्रोग्राम है। जिसे 8 सेमेस्टर में बांटा गया है। इस कोर्स को छात्र कक्षा 12वीं के बाद कर सकते हैं। कोर्स पूरा होने के बाद कई संस्थानों द्वारा छात्रों को प्लेसमेंट प्राप्त होती है। आपको बता दें की बीटेक इन इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग कोर्स करने के बाद छात्र अच्छे पदों पर साल का 2 से 9 लाख रुपये तक कमा सकते हैं। बीटेक इन इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग कोर्स में छात्रों को थ्योरी के साथ प्रैक्टिकल नॉलेज भी दी जाती है। इस कोर्स में छात्रों को मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस प्रोग्रामिंग, डेटा स्ट्रक्चर का परिचय, इलेक्ट्रिकल टेक्नोलॉजी, सूचना प्रणाली I, कास्टिंग, फॉर्मिंग और वेल्डिंग, इन्वेंटरी सिस्टम का प्रबंधन और औद्योगिक प्रशिक्षण जैसे कई विषय पढ़ाए जाते हैं।

बीटेक इन इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग कोर्स: योग्यता
- बीटेक इन इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग कोर्स में प्रवेश लेने के लिए छात्र को कक्षा 12वीं साइंस स्ट्रीम से पास होना अनिवार्य है।
- साइंस में छात्र के पास मुख्य विषयों के रूप में फिजिक्स, केमिस्ट्रि, मैथ्स होनी आवश्यक है।
- इन तीनों मुख्य विषयों में छात्रों को कम से कम 60 से 70 प्रतिशत अंक होने अनिवार्य है।
- कोर्स में प्रवेश केवल प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होगा।

 

बीटेक इन इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग कोर्स: टॉप एंट्रेंस टेस्ट
जेईई मेन
जेईई एडवांस
डब्ल्यूबीजेईई
एमएचटी सीईटी
बीआईटीसीईटी

बीटेक इन इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग कोर्स: कॉलेज और फीस
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान खड़गपुर - 82,070 रुपये
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान नई दिल्ली - 2.2 लाख रुपये
बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस पिलानी - 4.23 लाख रुपये
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रुड़की - 2.22 रुपये
दिल्ली प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय नई दिल्ली - 1.66 रुपये
कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग त्रिवेंद्रम - 50000 रुपये
आई.के. गुजराल पंजाब तकनीकी विश्वविद्यालय जालंधर - 80,750 रुपये
विश्वकर्मा इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी पुणे - 1,79,379 रुपये
एपीजे अब्दुल कलाम प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, तिरुवनंतपुरम - 1-3 लाख रुपये
GITAM हैदराबाद - 2,22,200 रुपये

ऊपर दिए गए सभी संस्थान छात्रों को प्लेसमेंट प्रदान करते हैं। जिसके पैकेज की बात करें तो छात्रों को इन संस्थानों से 2 से 8 लाख रुपये तक का पैकज मिल सकता है।

बीटेक इन इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग कोर्स: सिलेबस
4 साल की अवधि वाले इस कोर्स को सेमेस्टर सिस्टम के तहत 8 सेमेस्टर में बांटा गया है, जिसका सिलेबस कुछ इस प्रकार है -

सेमेस्टर 1
इंट्रोडक्शन टू मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस
इलेक्ट्रिकल टेक्नोलॉजी
इंजीनियरिंग ड्रॉइंग एंड ग्रैफिक्स
मेकैनिक्स
बेसिक इलेक्ट्रॉनिक्स

सेमेस्टर 2
प्रोग्रामिंग एंड डाटा स्ट्रक्चर
इंजीनियरिंग ड्राइंग एंड ग्रैफिक्स 2
इलेक्ट्रिकल टेक्नोलॉजी टू
इंट्रोडक्शन टू मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस टू
मैथमेटिक्स 2

सेमेस्टर 3
इंजीनियरिंग इकोनॉमि, कॉस्टिंग एंड अकाउंटिंग
ऑपरेशंस रिसर् 1च
इंफॉर्मेशन सिस्टम 1 (विद लैबॉटरी)
वर्कशॉप प्रोसेस

सेमेस्टर 4
प्रोडक्शन प्लैनिंग एंड कंट्रोल 1
ऑपरेशन रिसर्च
ब्रेड्थ 2

सेमेस्टर 5
क्वालिटी डिजाइन एंड कंट्रोल
फैसिलिटी लेआउट एंड डिजाइनिंग
मशीन टूल एंज मशीनिंग
ब्रेड्थ 3
इलेक्टिव वन

सेमेस्टर 6
सिमुलेशन
मैनेजमेंट आफ इन्वेंटरी सिस्टम
कास्टिंग फॉर्मिंग एंड वेल्डिंग
इलेक्ट्रिक 2
प्रोजेक्ट

सेमेस्टर 7
प्रोडक्ट डेवलपमेंट (विद प्रोजेक्ट)
इलेक्टिव 3
इलेक्टिव 4
इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग

सेमेस्टर 8
ऑप्टिमाइजेशन एंड हार्वेस्टिंग मैथर्ड (विद प्रोजेक्ट)
इलेक्टिव 5-6
प्रोजेक्ट 2
वाइवा-वोस

बीटेक इन इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग कोर्स: स्कोप
बीटेक इन इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग कोर्स करने के बाद छात्रों के पास कई ऑप्शन होते है, जिसमें वह नौकरी के लिए आवेदन कर सकते है और उच्च शिक्षा के लिए भी आगे जा सकते हैं। उच्च शिक्षा प्राप्त करने की इच्छा रखने वाले छात्र एम-टेक कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं और अपना खुद का टीचिंग वैंचर भी खोल सकते हैं।

नौकरी की इच्छा रखने वाले छात्र नीचे दिए गए पदों के लिए आवेदन कर भारत की बड़ी कंपनीयों में कार्य कर सकते हैं।

बीटेक इन इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग कोर्स: जॉब प्रोफाइल और सैलरी
क्वालिटी मैनेजर - 2 से 6 लाख रुपये
प्रोडक्शन मैनेजर - 2 से 8 लाख रुपये
ऑपरेशंस मैनेजर - 2 से 7 लाख रुपये
इंडस्ट्रियल इंजीनियर - 2 से 9 लाख रुपये
टीचर एंड लेक्चरर - 2 से 7 लाख रुपये
मैनेजर -2 से 8 लाख रुपये
इंजीनियर - 2 से 7 लाख रुपये
एडमिनिस्ट्रेशन हेड और एग्जीक्यूटिव ऑफिसर - 2 से 9 लाख रुपये
प्रोजेक्ट इंजीनियर - 2 से 8 लाख रुपये
ऑपरेशंस हेड - 2 से 7 लाख रुपये

बीटेक इन इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग कोर्स: टॉप रिक्रुटर्स
टाटा
रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड
मारुति उद्योग
टीसीएस
इंफोसिस
विप्रो

यह खबर पढ़ने के लिए धन्यवाद, आप हमसे हमारे टेलीग्राम चैनल पर भी जुड़ सकते हैं।

Tips: साहसिक, आत्मविश्वासी और मुखर व्यक्ति कैसे बनें, ये हैं सबसे बढ़िया टिप्स

Speaking Tips: पब्लिक स्पीकिंग स्किल्स मजबूत करने के लिए अपनाएं ये 10 टिप्स

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
B.Tech in Industrial Engineering course is a 4 year graduate level program. Which is divided into 8 semesters. Students can do this course after class 12th. After the completion of the course, the students get placement by many institutes. Let us tell you that after doing B.Tech in Industrial Engineering course, students can earn from 2 to 9 lakh rupees a year on good positions.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X