12वीं के बाद करें बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी (Career in B.Sc. in Medical Imaging Technology After 12th)

बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी तीन साल का एक अंडरग्रैजुएट प्रोग्राम है जो कि मानव शरीर के अंगों को स्कैन करने के लिए चिकित्सा विज्ञान में तकनीकों और प्रक्रियाओं से संबंधित है। इस कोर्स को कुछ विश्वविद्यालयों में चार साल की अवधि के साथ कराया जाता है। बता दें कि ये कोर्स बीएससी डिग्री प्रोग्राम क्लिनिकल रिसर्च एंड डेवलपमेंट के रूप में जानी जाने वाली ब्रांच का ही एक पार्ट है।

 

इस कोर्स में विभिन्न तकनीकों का अध्ययन शामिल है जिनका उपयोग मानव शरीर के अंगों को स्कैन करने के किया जाता है। जबकि इस कोर्स में इमेजिंग तकनीकों जैसे एमआरआई, सीटी स्कैन और हेल्थकेयर मैनेजमेंट से संबंधित सामान्य ज्ञान की चीजें सीखाई जाती है।

12वीं के बाद करें बीएससी इन मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी

बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी के लिए एलिजिबिलिटी

• उम्मीदवारों को अनिवार्य विषयों के रूप में फिजिक्स, कैमेस्ट्री, बायोलॉजी और इंग्लिश के साथ अपनी कक्षा 12 पूरी करनी चाहिए।
• उम्मीदवारों को अपनी 12वीं बोर्ड की परीक्षा में सभी विषयों में कम से कम 50 प्रतिशत अंक प्राप्त करने चाहिए।
• उम्मीदवारों की आयु कम से कम 17 वर्ष होनी चाहिए।
• एंट्रेंस एग्जाम की कट-ऑफ या तो मेरिट लिस्ट में उम्मीदवार का नाम आना चाहिए।

 

बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी एडमिशन प्रोसेस

बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी डिग्री प्रोग्राम में एडमिशन एंट्रेंस एग्जाम बेस्ड होता है। हालांकि, कुछ संस्थान हैं जो आवेदकों की उम्मीदवारी का आकलन करने के लिए अपनी स्वयं की प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं। इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए निम्न स्टेप्स का पालन करें।
• बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी में एडमिशन प्रोसेस विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर ऑनलाइन पूरी की जाती है।
• उम्मीदवारों को आवेदन पत्र भरना होगा और अपना व्यक्तिगत और शैक्षणिक विवरण प्रदान करना होगा।
• उम्मीदवारों को आवेदन फीस का भुगतान करना होगा अन्यथा आवेदन पूरा नहीं होगा।
• विश्वविद्यालय द्वारा सभी आवेदन प्राप्त होने के बाद, अध्ययन के पिछले पाठ्यक्रम या प्रवेश परीक्षा में उम्मीदवारों के अंकों के आधार पर एक मेरिट सूची तैयार की जाती है।
• मेरिट सूची में आने वाले उम्मीदवारों को तब ट्यूशन फी की पहली किस्त का भुगतान करके प्रवेश प्रस्ताव पत्र को स्वीकार करना होगा।

बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी डिग्री प्रोग्राम में एडमिशन के लिए उम्मीदवारों की 12वीं कक्षा के स्कोर के आधार पर मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है। इस कोर्स में प्रवेश के लिए राष्ट्रीय या राज्य स्तर पर कोई एंट्रेंस एग्जाम निर्धारित नहीं की गया है। जबकि कुछ विश्वविद्यालय अपने आधार पर एंट्रेस एग्जाम आयोजित करते हैं।

बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी कटऑफ

बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी के लिए कटऑफ को न्यूनतम स्कोर के रूप में परिभाषित किया गया है जो छात्रों को अपने वांछित अध्ययन और वांछित संस्थान में प्रवेश के लिए पात्र होने के लिए प्राप्त किया जाना चाहिए। ऐसे कई कारण हैं जो बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी कटऑफ तय करने में एक बड़ी भूमिका निभाते हैं जैसे कि एंट्रेंस एग्जाम का लेवल, किसी कार्यक्रम या विश्वविद्यालय के लिए आवेदकों की संख्या, और बहुत कुछ। चूंकि बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी में प्रवेश के मामले में कोई राष्ट्रीय स्तर या राज्य स्तर की प्रवेश परीक्षा नहीं है, इसलिए इस मामले में कटऑफ मान्य नहीं है।

बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी फीस

बीएससी मेडिकल इमेजिंग तकनीक के लिए फीस हर विश्वविद्यालय के लिए परिवर्तनशील है जो कि कई वजहों पर निर्भर करती है। किसी भी विश्वविद्यालय या संस्थान के लिए बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी फीस का निर्धारण करने वाले सबसे बड़े कारकों में से एक संस्थान द्वारा प्रदान की जाने वाली सुविधाएं हैं। इनमें से कुछ विश्वविद्यालय विभिन्न छात्रों को उनकी शैक्षणिक प्रोफ़ाइल के साथ-साथ आर्थिक स्थितियों के आधार पर छात्रवृत्ति प्रदान करते हैं। कोर्स की पूरी अवधि के लिए बीएससी मेडिकल इमेजिंग तकनीक का औसत फीस लगभग 2 लाख से 5 लाख रुपये है।

बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी का स्कोप

बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी में डिग्री होने के बाद छात्र के पास चिकित्सा क्षेत्र में एक अच्छा स्कोप है और स्नातकों को विभिन्न नौकरी की भूमिका प्रदान करता है। इसके अलावा, स्नातकों के पास रेडियोलॉजी, मेडिकल इमेजिंग, फिजियोलॉजी या कार्डियोलॉजी जैसे समान क्षेत्र में उच्च डिग्री हासिल करने के अवसर हैं। कुछ सबसे लोकप्रिय मास्टर्स डिग्री प्रोग्राम एम.फिल., एमएससी, या पीजी डिप्लोमा हैं। मेडिकल इमेजिंग तकनीक से संबंधित क्षेत्र में स्नातकोत्तर डिग्री के साथ, उम्मीदवारों के पास स्वास्थ्य सेवा में जाने की बेहतर संभावनाएं हो सकती हैं।

बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी को पूरा करने के बाद करियर विकल्प

बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी डिग्री प्रोग्राम के पूरा होने के बाद, उम्मीदवारों के पास उच्च शिक्षा के साथ-साथ रोजगार के मामले में विभिन्न करियर विकल्प हैं। बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी में स्नातक होने के बाद उम्मीदवार अस्पतालों और स्वास्थ्य संस्थानों, अनुसंधान केंद्रों और नैदानिक केंद्रों में विभिन्न करियर असाइनमेंट पा सकते हैं।
शुरुआती दौर में इस कोर्स को पूरा करने के बाद छात्र 3 लाख रुपये से लेकर रुपये तक कहीं भी कमा सकते हैं। जो कि अनुभव और स्किल्स के अनुसार प्रति वर्ष 10 लाख तक का हो सकता है।

बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी को पूरा करने के बाद जॉब प्रोफाइल
• रेडियोग्राफर
• एक्स-रे तकनीशियन
• अल्ट्रासाउंड तकनीशियन
• मेडिकल इमेज टेक्निकल साइंटिस्ट
• रेडियोलॉजिक टेक्नोलॉजिस्ट
• न्यूक्लियर मेडिसिन टेक्नोलॉजिस्ट

भारत में बीएससी मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी के लिए टॉप कॉलेज की सूची

1. एशियन इंस्टिट्यूट ऑप मेडिकल साइंस, फरीदाबाद
2. मणिपाल यूनिवर्सिटी, मणिपाल
3. हिंदुस्तान कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस, चेन्नई
4. गुवाहाटी यूनिवर्सिटी, गुवाहाटी
5. एजे इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च सेंटर, मैंगलोर
6. अंसल यूनिवर्सिटी, गुड़गांव
7. चितकारा यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़
8. शारदा यूनिवर्सिटी, नोएडा

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
BSc Medical Imaging Technology is a three-year undergraduate program that deals with techniques and procedures in medical science to create images of human body parts. This course is offered in some universities with a duration of four years. Is. In this course, general knowledge related to imaging techniques such as MRI, CT scan and healthcare management is taught.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X