Career in B.com Supply Chain Management 2023: बीकॉम सप्लाई चैन मैनेजमेंट में कैसे बनाएं करियर

बीकॉम सप्लाई चैन मैनेजमेंट 3 साल की अवधि का ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स है, जिसको की 6 सेमेस्टर में विभाजित किया गया है। इस कोर्स का मकसद यह सुनिश्चित करना है कि लागत को कम करते हुए और ग्राहकों की संतुष्टि के लिए श्रृंखला कुशलतापूर्वक और प्रभावी ढंग से कैसे चलती है।

 

बीकॉम सप्लाई चैन मैनेजमेंट कोर्स को फुल टाइम, पार्ट टाइम और डिस्टेंस लर्निंग मोड से किया जा सकता है। यह कोर्स मुख्य रूप से वस्तुओं को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाने में जोड़ता है। यदि सटीक शब्दों में कहे तो यह सप्लाई चैन मैनेजमेंट व्यापार का गठबंधन, जुड़ाव या इंटरकनेक्शन कहलाता है।

Career in B.com Supply Chain Management 2023: बीकॉम सप्लाई चैन मैनेजमेंट में कैसे बनाएं करियर

चलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको बीकॉम सप्लाई चैन मैनेजमेंट से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी से अवगत कराएंगे कि आखिर सप्लाई चैन मैनेजमेंट में बीकॉम करने के लिए एलिजिबिलिटी क्या होनी चाहिए। इसका एडमिशन प्रोसेस क्या है, इसके लिए प्रमुख एंट्रेंस एग्जाम कौन से हैं, इसे करने के बाद आपके पास जॉब प्रोफाइल क्या होंगी और उनकी सैलरी क्या होगी। भारत में सप्लाई चैन मैनेजमेंट में बीकॉम करने के लिए टॉप कॉलेज कौन से हैं और उनकी फीस क्या है।

 

• कोर्स का नाम- बीकॉम सप्लाई चैन मैनेजमेंट
• कोर्स का प्रकार- ग्रेजुएशन
• कोर्स की अवधि- 3 साल
• पात्रता- कक्षा 12वीं
• एडमिशन प्रोसेस- एंट्रेंस एग्जाम/ मेरिट बेस्ड
• अवरेज सैलरी- 2 से 20 लाख तक
• कोर्स फीस- 35,000 से 11 लाख तक
• जॉब फील्ड- एचसीएल, टीसीएस, सीटीएस, सिटी बैंक, टोयोटा, अमेज़ॅन आदि।
• जॉब प्रोफाइल- ऑपरेशन मैनेजर, सप्लाई चैन कंस्लटेंट, प्रोडक्शन मैनेजर, क्वालिटी मैनेजर, पर्चेसिंग एजेंट, आदि।

बीकॉम सप्लाई चैन मैनेजमेंट: पात्रता

  • उम्मीदवारों के पास किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड सें कॉमर्स स्ट्रीम में 12वीं कक्षा की मार्कशीट होनी चाहिए।
  • उम्मीदवार के 12वीं कक्षा में कुल मिलाकर कम से कम 60% अंक होने चाहिए।
  • अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग से संबंधित उम्मीदवारों को अनिवार्य प्रक्रिया के रूप में पाठ्यक्रम कार्यक्रम में कुछ प्रतिशत छूट प्रदान दी जाती है।

बीकॉम सप्लाई चैन मैनेजमेंट: प्रवेश प्रक्रिया

किसी भी टॉप यूनिवर्सिटी में बीकॉम सप्लाई चैन मैनेजमेंट कोर्स में एडमिशन लेने के लिए, उम्मीदवारों को एंट्रेंस एग्जाम देने की आवश्यकता होती है जबकि कुछ कॉलेजों में मेरिट आधार पर भी एडमिशन दिए जाते हैं।

सप्लाई चैन मैनेजमेंट में बीकॉम के लिए भारत के टॉप कॉलेजों द्वारा अपनाई जाने वाली एडमिशन प्रोसेस निम्नलिखित है

चरण 1: रजिस्ट्रेशन

  • उम्मीदवार ऑफिशयल वेबसाइट पर जाएं।
  • ऑफिशयल वेबसाइट पर जाने के बाद आवेदन फॉर्म भरें।
  • आवेदन फॉर्म को भरने के बाद ठीक तरह से जांच लें यदि फॉर्म में गलती हुई तो वह रिजक्ट हो सकता है।
  • मांगे गए दस्तावेज अपलोड करें।
  • आवेदन पत्र सबमिट करें।
  • क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड से ऑनलाइन फॉर्म की फीस जमा करें।

चरण 2: एंट्रेंस एग्जाम

  • यदि उम्मीदवार बीकॉम सप्लाई चैन मैनेजमेंट में एडमिशन लेने के लिए टॉप यूनिवर्सिटी का लक्ष्य रखते हैं, तो उनके लिए एंट्रेंस एग्जाम क्रेक करना अत्यंत आवश्यक है। जिसके लिए रजिस्ट्रेशन प्रोसेस पूरी हो जाने के बाद एडमिट कार्ड जारी किए जाते हैं। जिसमें की एंट्रेंस एग्जाम से संबंधित सभी जानकारी दी जाती है जैसे कि एग्जाम कब और कहां होगा, आदि।
  • बता दें कि बीकॉम सप्लाई चैन मैनेजमेंट के लिए एडमिशन प्रोसेस सीयूईटी, बीएचयू यूईटी, एनपीएटी, आईपीयू सीईटी आदि जैसे एंट्रेंस एग्जाम पर निर्भर करती है। योग्य उम्मीदवारों का चयन आगे इंट्रव्यू के आधार पर किया जाता है।

चरण 3: एंट्रेंस एग्जाम का रिजल्ट
एंट्रेंस एग्जाम हो जाने के कुछ दिन बाद उसका रिजल्ट घोषित किया जाता है जिसके लिए, छात्रों को नियमित रूप से विश्वविद्यालय की वेबसाइटों और सोशल मीडिया हैंडल की जांच करके खुद को अपडेट रखना चाहिए।

चरण 4: इंट्रव्यू एंड एनरोलमेंट

  • एंट्रेंस एग्जाम में पास होने वाले छात्रों को यूनिवर्सिटी द्वारा इंट्रव्यू में उपस्थित होने के लिए कहा जाएगा - या तो ऑनलाइन (स्काइप, गूगल मीट, ज़ूम) या ऑफ़लाइन छात्रों को यूनिवर्सिटी परिसर में बुलाकर।
  • इस दौरान, अन्य सभी एलिजिबिली क्राइटेरिया को क्रॉस चेक किया जाता है और यदि छात्र इंटरव्यू में अच्छा प्रदर्शन करते हैं, तो उन्हें सप्लाई चैन मैनेजमेंट में बीकॉम का अध्ययन करने के लिए एडमिशन दिया जाता है।

बीकॉम सप्लाई चैन मैनेजमेंट: सिलेबस

सेमेस्टर 1

  • कार्यात्मक अंग्रेजी
  • आर्थिक सिद्धांत
  • लेखाशास्त्र की मूल बातें
  • कार्यस्थल कौशल

सेमेस्टर 2

  • मानविकी सामाजिक विज्ञान में नींव
  • व्यावसायिक संगठन
  • व्यापार गणित के आंकड़े
  • एससीएम वितरण संचालन

सेमेस्टर 3

  • सामान्य अंग्रेजी
  • व्यापार कानून
  • मनी बैंकिंग
  • एससीएम सोर्सिंग प्रबंधन व्यावहारिक

सेमेस्टर 4

  • विज्ञान प्रौद्योगिकी में फाउंडेशन
  • उन्नत लेखा
  • भारत में आर्थिक वातावरण
  • एससीएम रसद और भंडारण
  • प्रबंधन व्यावहारिक

सेमेस्टर 5

  • निवेश विकल्प म्युचुअल फंड
  • लागत लेखांकन
  • आर्थिक बाज़ार
  • एससीएम भविष्यवाणी
  • मांग योजना व्यावहारिक

सेमेस्टर 6

  • ऑडिटिंग के सिद्धांत अभ्यास
  • प्रबंधन लेखांकन
  • कंपनी वित्त
  • उन्नत आपूर्ति श्रृंखला
  • व्यावहारिक

बीकॉम सप्लाई चैन मैनेजमेंट: टॉप कॉलेज और उनकी फीस

  • पेट्रोलियम और ऊर्जा अध्ययन विश्वविद्यालय, देहरादून- फीस 11,60,000
  • आईटीएम विश्वविद्यालय, ग्वालियर- फीस 1,45,000
  • भारतीय रसद और सामग्री प्रबंधन संस्थान, उदयपुर- फीस 35,500
  • भारतीय समुद्री विश्वविद्यालय-कोचीन परिसर, कोच्चि- फीस 1,25,000
  • अरुणाचल यूनिवर्सिटी ऑफ स्टडीज: फैकल्टी ऑफ स्किल डेवलपमेंट एंड वोकेशनल स्टडीज, अरुणाचल प्रदेश- फीस 36,750
  • ग्लोबल स्कूल ऑफ फॉरेन ट्रेड (जीएसएफटी) मदुरै- फीस 35,000
  • विश्वकर्मा ग्लोबल बिजनेस स्कूल (वीजीबीएस) पुणे- फीस 3,50,000
  • एडवांस इंस्टीट्यूट फॉर प्रोफेशनल एंड टेक्निकल स्टडीज (एआईपीएस) नोएडा- फीस 1,43,000
  • जीआईआईएमएस, कोच्चि- फीस 37,500
  • एससीएम हब इंटरनेशनल बिजनेस स्कूल, कोच्चि- फीस 48,900
  • लंदन कॉलेज ऑफ बिजनेस एंड फाइनेंस, एर्नाकुलम- फीस 48,000
  • वेल्स विश्वविद्यालय, चेन्नई- फीस 40,000
  • चितकारा यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़- फीस 2,45,000
  • सिंहगढ़ प्रबंधन संस्थान, पुणे- फीस 1,05,000
  • जीआईटीएएम स्कूल ऑफ इंटरनेशनल बिजनेस, विशाखापत्तनम- फीस 90,000

बीकॉम सप्लाई चैन मैनेजमेंट: जॉब प्रोफाइल और सैलरी

  • सप्लाई चैन कंस्लटेंट- सैलरी 9.30 लाख
  • क्वालिटी मैनेजर- सैलरी 8.53 लाख
  • प्रोडक्शन मैनेजर- सैलरी 7.18 लाख
  • ऑपरेशन असिस्टेंट- सैलरी 3.11 लाख
  • मैनेजर- सैलरी 11.74 लाख
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
B.Com Supply Chain Management is a graduation degree course of 3 years duration divided into 6 semesters. The objective of this course is to ensure that how the chain runs efficiently and effectively while reducing costs and increasing customer satisfaction. B.Com Supply Chain Management course can be pursued in full time, part time and distance learning mode.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X