Career After BA Literature in Hindi : बीए हिंदी लिटरेचर करने के बाद जॉब स्कोप, जाने डिटेल्स

भारत में हिंदी भाषा उन 22 अधिकारिक भाषाओं में से एक है जिसे संविधान सभा द्वारा मान्यता मिली है। भारत के उत्तर के क्षेत्र में हिंदी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा में से एक है। साहित्य में दिलच्सपी रखने वाले छात्र हिंदी लिटरेचर अधिक पसंद करते हैं। लोगों का मानना है की हिंदी लिटरेचर में कोई भविष्य नहीं है। आपको बता दें की ऐसी कोई बात नहीं है हिंदी लिटरेचर पढ़ने वाले छात्र सरकारी के साथ-साथ प्राइवेट सेक्टर में भी कई नौकरी के अवसर उपलब्ध हैं। बस आपको इसके बारे में जानने की ज्यादा जरूरत है। इस कोर्स में प्रवेश छात्र कक्षा 12वीं के बाद ले सकते हैं। कोर्स करने के बाद छात्र कई पदों जैसे शिक्षक, कस्टमर केयर स्पेशलिस्ट, ट्यूटर, ट्रांसलेटर, राइटर और स्क्रिप्ट राइटर के तौर पर कार्य कर सकते हैं और साल का 2 से 4 लाख तक आराम से कमा सकते हैं। जिसकी जानकारी आपको इस लेख में विस्तार में मिल जाएगी।

 

बीए हिंदी लिटरेचर कोर्स एक अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम है जिसे कक्षा 12वीं के बाद किया जा सकता है। इस कोर्स की अवधि 3 साल की होती है। इस कोर्स को पूरा करने के बाद छात्र उच्च शिक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं जिसमें वह एमए, एमफिल, और पीएचडी भी कर सकत हैं। इसकी साथ कई छात्र बीए करने के बाद नौकरी करने की इच्छा रखते हैं वह छात्र हिंदी लिटरेचर करने के बाद कई पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं। आइए जाने बीए हिंदी लिटरेचर करने के बाद आप किस- किस क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं।

Career After BA Literature in Hindi : बीए हिंदी लिटरेचर करने के बाद जॉब स्कोप, जाने डिटेल्स

बीए हिंदी लिटरेचर के बाद करियर ऑप्शन

बीए हिंदी लिटरेचर करने के बाद छात्र कई क्षेत्रों में अपना करियर बना सकते हैं जिसकी लिस्ट कुछ इस प्रकार है।

 

सरकारी नौकरी- सरकारी नौकरी के लिए आप आईएएस, आईपीएस, आईएफएस आदि पदों पर कार्य करने के लिए यूपीएससी की पढ़ाई कर सकते हैं। भारत में यूपीएस की तयारी बहुत से छात्र करते हैं जो आईएएस और आईपीएस आदि बनना चाहते हैं। सिविल सर्विसेज के लिए छात्रों का ग्रेजुएट होना आवश्यक है यदि आपने बीए हिंदी लिटरेचर में ग्रेजुएशन किया है तो आप यूपीएससी परीक्षा में इसे विकल्पिक या मुख्य भाषा के तौर पर ले सकते हैं। इसी के साथ आप एसएससी और पीएसयू आदि कंपैटिटीव परीक्षाओं के में भी हिस्सा लेकर सराकरी नौकरी के लिए तयारी कर सकते हैं।

शिक्षक - शिक्षक का क्षेत्र हिंदी लिटरेचर पढ़ने वाले छात्रों के द्वारा सबसे ज्यादा चुना जाने वाला ऑप्शन है। इसमें वह हिंदी के शिक्षक बन सकते हैं। पीएचडी आदि कर आप प्रोफेसर के पद पर भी काम कर सकते हैं। शिक्षक पद पर आप टीजीटी और पीजीट के लिए आवेदन कर सकते हैं लेकिन एक शिक्षक के तौर पर कार्य करने के लिए आपको बीए के बाद बीएड का कोर्स करना होगा। इस कोर्स के बाद आप पीजीटी के पद पर कार्य कर सकते हैं और बीएड और एम करने के बाद आप पीजीटी के पद पर कार्य कर सकते हैं। बीए और एम करने के बाद छात्र पीएचडी कर नेट जेआरफ के बाद प्रोफेसर के पद पर कार्य कर सकते हैं।

कंटेंट डेवलपर - कंटेंट डेवलपर के पद पर आपको हिंदी भाषा में कई तरह के कंटेंट तयार करने होते हैं। सराकरी संस्थानों में कई संस्थान हैं जो इस पद के लिए हिंदी बीए के छात्रों को नौकरी देते हैं।

ग्राहक सेवा प्रतिनिधि- इस क्षेत्र में आपको सरकारी और प्राइवेट दोनों नौकरी मिल जाएगी। अच्छी और शुद्ध हिंदी बोलने वाले को इस क्षेत्र में अधिक नौकरी मिलती है। जिसमें उन्हें अपने ग्राहकों से बात कर उनकी परेशानियों को समाधान देना होता है।

ट्रांसलेटर - ट्रांसलेटर की नौकरी आज कल सरकारी और प्राइवेट दोनों सेक्टर में उपलब्ध है। ज्यादातर कंपनियां ट्रांसेलर को हायर करने लगे है और धीरे-धीरे इनकी डिमांज बढ़ने लगी है। ट्रांसलेटर के तौर पर किताबों के अनुवाद, खबरों का अनुवाद, समातार और अन्य लेखों का अनुवाद आदि कर सकते हैं। एक ट्रांसलेटर के तौर पर कार्य करने के लिए आपको कई भाषाओं में सर्टिफिकेट कोर्स करने होंगे।

कंटेंट राइटर - कई संस्थान जैसे मीडिया, पब्लिशिंग कंपनियां आदि में हिंदी लिखने वाले छात्रों को खबरे लिखने और आर्टिकल आदि लिखने के लिए नौकरी देती है क्योंकि हिंदी लिटरेचर पढ़ने वाले छात्रों की हिंदी भाषा पर पकड़ अच्छी होती है इसी के साथ वह बिना गलती के लिख सकते हैं।

वॉयस ओवर आर्टिस्ट - हिंदी में बोलने और व्यक्तियों की डिमांड दिन पर दिन अधिक बढ़ती जा रही है। आप कई कंपनियों जैसे क्लाइंट केयर एडमिनिस्ट्रेशन, कॉले सेटंर, सेल्स टेलीमार्केटिंग और बीपीओ में आसानी से नौकरी पा सकते हैं। और अच्छी सैलरी पर कार्य कर सकते हैं।

पत्रकार - हिंदी लिटरेचर करने के बाद आप एक पत्रकार के तौर पर भी कार्य कर सकते हैं। इसके लिए आप पत्रकारिता को कोर्स भी कर सकते हैं और वैसे भी आवेदन कर सकते हैं। पत्रकारिता करने के बाद इस क्षेत्र में नौकरी करने के आपके अवसर और बढ़ जाते हैं। आप समाचर लेखन, प्रूफ-रीडर, पत्रकार, एंकर और रेडियों आदि में कार्य कर सकते हैं।

स्पीच राइटर - बिजनेस मैन, राजनितिज्ञ या अन्य प्रभावशाली लोग अपने लिए हिंदी में भाषाण लिखवाते हैं ताकि वह जनता के सामने प्रभावशाली ढ़ग से अपना भाषाण दे सकें।

टूरिस्ट गाइड - कई लोग ऐसे होते हैं जिन्हें हिंदी भाषा के अलावा कोई और भाषा नहीं आती है ऐसे में आप उन्हें ट्रवल के दौरान जगहों के बारे में एक टूरिस्ट के तौर पर बता सकते हैं।

आइए ऊपर दिए गए पदों की सैलरी के बारे में जाने

  1. स्पीच : 2 से 3 लाख सालाना
  2. राइटर ट्रांसलेटर : 3 लाख सालाना
  3. टीचर : 3 लाख सालाना
  4. पत्रकार : 4 लाख सालाना
  5. कंटेंट राइटर : 2 से 3 लाख सालाना
  6. वॉइस एसोसिएट : 5 लाख सालाना
  7. प्रोफेसर : 3 से 5 लाख सालाना
  8. कंटेंट डेवलपर : 3 लाख सालाना
  9. कस्टमर सर्विस : 4 लाख सालाना
  10. आईएएस : 7 लाख सालाना
  11. एस्ट्रोलॉजर्स : 3 लाख सालाना
  12. योगा टीचर : 3 लाख सालाना
  13. टूरिस्ट गाइड : 4 लाख सालाना
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
Hindi language is one of the 22 official languages in India that have been recognized by the Constituent Assembly. Hindi is one of the most spoken language in the region of North of India. After doing the course, students can work in many positions like teacher, customer care specialist, tutor, translator, writer and script writer and can earn comfortably from 2 to 4 lakhs per year.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X