बीएससी इन हॉस्पिटैलिटी एंड ट्रैवल में करियर (Career in BSc in Hospitality and Travel after 12th)

कक्षा 12वीं की परीक्षा और रिजल्ट के बाद से अब कॉलेजों में एजमिशन की प्रक्रिया शुरुआत की जाएगी। हाल ही में कक्षा 12वीं पास करने वाले छात्रों इपने करियर के हिसाब से विषय के चयन के लेके बहुत चिंतित और अस्पष्ट है यानी वह ये समझ नही पा रहे कि वह अब आगे क्या विषय ले क्या करें और क्या न करें या जो विषय वो लेना चाहते है उसमें उनके लिए क्या स्कोप है करियर ऑप्शन के लिए विषय ठिक है की नहीं। आज हम आपको बीएससी हॉस्पिटैलिटी एंड ट्रैवल के बारे में बताने जा रहे है। इस कोर्स को आज के समय में काफि बढ़ावा मिल रहा है। वह मुख्य तौर पर ये कोर्स वह बच्चे करते है जिन्हे नई- नई जगह जाना और वहां के बारे में जानकारी रखना और ट्रैवल मैनेजमेंट पसंद है और वह छात्र जो होटल या हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट से जुड़ा कुछ करना चाहते है। जो छात्र 12वीं के बाद बीएससी हॉस्पिटैलिटी एंड ट्रैवल करना चाहते है आज हम उनके साथ इस कोर्स जुड़ी कई सारी जानकारी साझा करने वाले हैं।

 
बीएससी इन हॉस्पिटैलिटी एंड ट्रैवल में करियर (Career in BSc in Hospitality and Travel after 12th)


बीएससी हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल

बैचलर ऑफ साइंस इन हॉस्पिटैलिटी एंड ट्रैवल या बीएससी इन हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल तीन साल का एक डिग्री कोर्स है। इस डिग्री प्रोग्राम को तीन साल में छह सेमेस्टर में बांटा गया है। यानी हर साल में दो सेमेस्टर। यह छात्रों को हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल प्रबंध क्षेत्र में नॉलेज बढ़ाने में मदद करता है। डिग्री प्रोग्राम में मैनेजमेंट, मार्केटिंग, हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल, होटल मैनेजमेंट, ग्राहक सेवा मैनेजमेंट और टूरिज्म जैसे विभिन्न मॉडल शामिल हैं।

बीएससी हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल उन छात्रों के लिए फायदेमंद है जो हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल के मैनेजमेंट में रुचि रखते हैं। बीएससी हॉस्पिटैलिटी एंड ट्रैवल कोर्स करने के इच्छा रखने वाले छात्र किसी भी विषय में कक्षा 12वीं पास होने चाहिए। यह कोर्स करने के बाद मैनेजमेंट से जुड़े क्षेत्रों में आपको नौकरियों के कई अवसर मिल जाते हैं। इस कोर्स के माध्यम से अच्छे अवसर के साथ इसकी सालाना इनकम भी काफि बेहतर होती है। विषय में रुचि रखने वाले छात्रों के लिए शानदार कोर्स है।

 

हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल हाइलाइट्स

कोर्स का नाम: बीएससी हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल
डिग्री का प्रकार: अंडर ग्रेजुएट
डिग्री का समय: 3 वर्ष
एंट्रेंस टेस्ट: एनसीएचएमसीटी जेईई, यूजीएटी, एमएएच एचएम सीईटी, आईपीयू सीईटी, सीयूईटी

बीएससी हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल योग्यता

मान्यता प्राप्त बोर्ड से कक्षा 12वीं पास होना जरूरी
प्रवेश प्रक्रिया- एंट्रेंस टेस्ट
उच्चतम - 90 प्रतिशतक (यूजीएटी)
औसत - 65 पर्सेंटाइल (यूजीएटी)
पूरे कोर्स की फीस: 10,000 से 5 लाख रुपए
औसत वेतन: 5 लाख रुपए प्रति वर्ष

हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल में जॉब प्रोफाइल

होटल मैनेजर
फूड एंड बेवरेज मैनेजर
हाउसकीपिंग मैनेजर
शेफ
केबिन क्रू
ट्रैवल कोऑर्डिनेटर
फ्रंट ऑफिस मैनेजर

नौकरी देने वाली सबसे बड़ी कंपनियां

रैडिसन ब्लू
एयर इंडिया
विस्तारा
इंडिगो एयरलाइंस
हयात होटल्स
मेकमाईट्रिप
द ताज ग्रुप ऑफ होटल्स
द लीला पैलेसेस
इंटरकांटिनेंटल होटल्स एंड रिसॉर्ट्स ग्रुप

बीएससी हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल योग्यता

बीएससी हॉस्पिटैलिटी एंड ट्रैवल करने के लिए हर कॉलेज अलग-अलग योग्यता मांगता है। यह कॉलेज आधारित होती है। किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड छात्र को 12वीं कक्षा में 55% अंकों के साथ पास होना आवश्यक है। यदि आपके इससे कम अंक है तो आप इस कोर्स को करने के लिए योग्य नहीं माने जाएंगे। इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए छात्रों को एंट्रेंस टेस्ट को पास करना होता है। खैर हर कॉलेज के अपने नियम और कानून होते हैं, जिनके आधार पर वह परीक्षा का पैटर्न तैयार करते हैं। इस परीक्षा के एंट्रेंस टेस्ट की लिस्ट कुछ इस प्रकार है-
आईपीयू सीईटी
यूजीएडी
एनसीएचएमसीटी जेईई
एमएएच एचएम सीईटी


बीएससी हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल दाखिले की प्रक्रिया

बैचल ऑफ साइंस इन हॉस्पिटैलिटी एंड ट्रैवल में दाखिले के लिए हर कॉलेज के अपने नियम और प्रवेश पैटर्न होता है। कई संस्थान दाखिले में एंट्रेंस टेस्ट और कक्षा 12 वीं के अंकों को आधार मानते हैं। कुछ अन्य शिक्षण संस्थानों में छात्रों का ग्रुप डिसक्शन होता है फिर वहां शॉर्ट लिस्ट हुए छात्रों का इंटरव्यू लिया जाता है और उसके आधार पर बाद में लिस्ट जारी करक चुने गए छात्रों को दाखिले के लिए बुलाया जता है।

छात्रों को कोर्स में प्रवेश लेने के लिए कई टेस्टों के लिए आवेदन करना होता है फिर हर कॉलेज के नियमों के आधार पर परीक्षा देनी होती है। पास हुए परीक्षार्थीयों को आगे की प्रक्रिया में भाग लेना होता है। जैसा हमने आपको थोड़ी देर पहले बताया कि परीक्षा और प्रक्रिया दोनों हर कॉलेज की अलग होती है। कई शिक्षण संस्थान सिर्फ एंट्रेमस टेस्ट में आए अंकों के आधार पर आपको अपने संस्थान में दाखिला देते हैं।

बीएससी हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल टॉप एंट्रेंस टेस्ट

आईपीयू सेट: इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी अपने संस्थान में दाखिला देना के लिए एक कॉमन अंडरग्रेजुएट एंट्रेंस टेस्ट और पोस्टग्रेजुएट में दाखिले के लिए एंट्रेंस टेस्ट का आयोजन करती है। जिन छात्रों ने परीक्षा पास की होती है उनके लिए एक काउंसिलिंग सेशन का आयोजन करती है ताकी कोर्स के साथ परीक्षा से जुड़ी जानकारी छात्रों को दे सकें जिससे छात्रों को मदद मिले और वह असानी से बिना घबराहट से परीक्षा पर ध्यान दे सकें।

यूजीएडी: अंडर ग्रेजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट का आयोजन कई कोर्सों में दाखिले के लिए आयोजिक किया जाता है। हॉस्पिटैलिटी एंड ट्रैवल कोर्स में इच्छुक छात्र के लिए एंट्रेंस टेस्ट भी इसमें शामिल है। इस परीक्षा का आयोजन हर साल किया जाता है।

एलपीयूईएसटी: लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी में बीएससी हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल कोर्स में दाखिला पाने के लिए यूनिवर्सिटी अपने स्तर पर एक परीक्षा का आयोजन करती है। लेकिन छात्रों को बता दें कि यह परीक्षा साल मे एक बार हर साल होती है और इसका आयोजन ऑनलाइन मोड में किया जाता है।

सीयूईटी: ये एंट्रेंस टेस्ट क्राइस्ट डीम्ड यूनिवर्सिटी हर साल आयोजित करती है। यह भी यूनिवर्सिटी लेवल की परीक्षा होती है। हॉस्पिटैलिटी एंड ट्रैवल कोर्स में प्रवेश लेना चाहने वाले सभी उम्मीदवारो जो क्राइस्ट यूनिवर्सिटी में दाखिला चाहते है उन्हें इस परीक्षा को देना होगा। इस ये परीक्षा केवल क्राइस्ट डीम्ड यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने के लिए है।

बीएससी हॉस्पिटैलिटी एंड ट्रैवल कोर्स स्किल्स

बीएससी हॉस्पिटैलिटी एंड ट्रैवल कोर्स वाले उम्मीदवारों के पास इंडस्ट्री में काम करने के लिए लोगों को अच्छे ढंग बात करने और संभालने के साथ साथ अच्छी पर्सनालिटी भी आवश्यक है। इसके साथ साथ इस फील्ड मे करियर बनाने के लिए छात्रों को के लिए अच्छी कम्यूनिकेशन स्किल्स विनम्र व्यवहार होना भी जरूरी है। इन सभी स्किल्स के साथ ही छात्र इस फिल्ड में आगे बढ़ सकते हैं। इसकी कुछ सबसे अधिक जरूरी स्किल्स-

कम्यूनिकेशन स्किल्स: डीसिप्लिन
सुनने की स्किल्स: आत्मविश्वास
आउटगोइंग पर्सनैलिटी: टाइम मैनेजमेंट स्किल्स
क्रिएटिविटी: विनम्र व्यवहार

बीएससी हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल फीस स्ट्रक्चर

बीएससी हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल का फिस स्ट्रक्चर करीब 10,000 रुपये से शुरु होकर 5 लाख तक जाता है। ये स्ट्रक्तर कॉलेज और विश्वविद्यालय आधारित होता है। कॉलेज की रैंकिंग के साथ साथ कॉलेज सरकारी है या प्राइवेट फीस का ज्यादा या कम होना इस बात पर मुख्य रूप से निर्भर करता है।

बीएससी हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल स्कोप

बीएससी हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल डिग्री पूरी करने के बाद से छात्र होटल, रेस्तरां, एयरलाइंस, ट्रैवल एजेंसियों, बड़ी फर्मों आदि में काम करना शुरू करते हैं। छात्र की कई अन्य पदों पर भरिती की जाती है। वह अपनी पसंद से भी चुन सकते हैं कि वह किस क्षेत्र में काम करना चाहते हैं। पसंद के क्षेत्र में जिनमें होटल मैनेजर, फ्रंट ऑफिस मैनेजर, फूड एंड बेवरेज मैनेजर, शेफ, केबिन क्रू, ट्रैवल कंसल्टेंट और ट्रैवल कोऑर्डिनेटर आदि शामिल हैं। छात्र हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल में मास्टरस की पढ़ई के लिए भी जा सकते हैं और आगे की पढ़ाई की इच्छा रखने छात्र एमएससी के लिए जा सकते हैं। हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल पढने वाला व्यक्ति हर साल 5 लाख तक कमा सकता है।

बीएससी हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल के बाद करियर

बीएससी हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल एक बहुत बड़ी इंटस्ट्री है जो की अरब डॉलर की है। इस समय में हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल दिन पर दिन तेजी से बढ़ रहा है। इस इंडस्ट्री में काम करने के लिए छात्रों के पास बहुत ऑप्शन होते हैं। इन ऑप्शन की बात करें तो वो है- एयरलाइंस, होटलों से जुड़े काम या ट्रैवल एजेंसियों के लिए भा जा सकते हैं। छात्र चाहें तो वह अपना खुद का एक बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

होटल मैनेजमेंटः होटल मैनेजमेंट की जब बात आती है तो इसमें किसी एक क्षेत्र में नहीं बल्कि पूरे होटल को संभालना होता है। इसमें होटले के सभी क्षेत्रों में काम करना होता है। आए हुए ग्राहकों को अच्छे से अच्छी सेवा देने का सारा ध्यान रखना होता है।

केबिन क्रू: विमान में यात्रियों की सुरक्षा का ध्यान में रखने वाला व्यक्ति केबिन क्रू में आते हैं। वे फलाइट के टेक ऑफ के समय यात्रियों को जलपान, सहायता और अन्य खरीदारी की वस्तुओं को बेचती हैं।

टैवल पलैनर: ये वोकंपनियों या संस्थान होते हैं जो की यात्रा की सारी पलैनिंग का ध्यान रखता है। आपकी ट्रीप की टिकट बुक करने से लेकर होटल और घुमने की सारी व्यवस्था का ध्यान रखते हैं। कम से कम बजट में आपकी पूरी ट्रीप पलैन करते है। आद कल ज्यादातर लोग इस सेवा का उपयोग करते है।

हाउसकीपिंग मैनेजर: होटलों में हाउसकीपिंग के बारे में तो आपने सुना ही होगा, ये वही हाउसकीपिंग डिपार्टमेंट है। हाउसकीपिंग डिपार्टमेंट को संभालने का काम हाउसकीपिंग मैनेजर की जिम्मेदारी होती है। वे कपड़े धोने से लेकर सफाई के सारे काम के संचालन के लिए जिम्मेदार है। इसके साथ ही हाउसकीपिंग मैनेजर हाउसकीपिंग टीम सहित रोजमरा के सारे कामों को सही योजना के तहत सुनिश्चित करता है। ताकि सारे काम ठीक ढ़ग से हो सकें।

बीएससी हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल पढ़ने के फायदे

जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया कि हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल एक बहुत बड़ी इंटस्ट्री है। हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल प्रोफेशनल्स की मांग दिन पर दिन और बढ़ती जा रही है। बीएससी की डिग्री के बाद छात्र काम करना शुरू कर सकते हैं और उनको कई बड़ी कंपनियों में काम के अवसर मिल जाते हैं। इसी के साथ अच्छा वेतन भी मिलता है। छात्र चाहे तो देश के साथ साथ विदेशों की मल्टि नेशनल कंपनियों में भी कई विभिन्न प्रोफाइल पर काम कर सकते हैं।

बीएससी हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल पढने के बाद सालना सैलरी

हॉस्पिटैलिटी एंड ट्रैवल इंडस्ट्री में केवन देश में ही नहीं विदेश में भी नौकरियों के बेहतरीन ऑफर है। हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल में बीएससी करने के बाद ही अच्छे वेतन पर काम के कई अवसर है और यदि आपके पास एक साल का अनुभव है तो आपकी सैलरी और अचछी होती जाती है।एक साल के अनुभव से साथ आपक कम से कमे 3.5 लाख रुपए कमा सकते हैं। अनुभव ओर सालों के मुताबिक सैलरी लिस्ट नीचे दी गई जिससे आप हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल में करियर बनाने के बाद आप सालाना कितना कमा सकते हैं।

0 - 1 साल में 3,87,000 से 4,00,000 रुपए
1 - 3 साल में 6,42,000 से 6,00,000 रुपए
5 वर्ष से अधिक अनुभव के साथ 6,15,000 से 9,00,000 रुपए असानी से कमा सकते हैं।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
Eligibility criteria for B.sc in hospitality and travel is 10+2 with the aggregate around 55%. Every college has different Eligibility criteria for B.sc in hospitality and travel. It's very good course for those who are interested in hotel and travel related work.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X