Good Initiative: क्या है CODE-A-THON, सरकारी स्कूल के छात्रों को मिलेगा फायदा

By Careerindia Hindi Desk

CODE-A-THON क्या है: दिल्ली के सरकारी स्कूलों की व्यवस्था अब पहले का काफी बेहतर है, पढ़ाई से लेकर साफ-सफाई और रख-रखाव तक सब कुछ एक दम सही रूप से व्यवस्तिथ है। दिल्ली के सरकारी स्कूलों के छात्रों को छोटी कक्षा से ही उच्च शिक्षा के लिए दिल्ली के उपमुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने 'CODE-A-THON' अभियान की शुरुआत की। गुरुवार को 'कोड-ए-थोन' अभियान में सरकारी स्कूलों के 12000 से अधिक छात्रों ने हिस्सा लिया।

Good Initiative: क्या है CODE-A-THON, सरकारी स्कूल के छात्रों को मिलेगा फायदा

 

सिसोदिया ने वीर सावरकर सर्वोदय कन्या विद्यालय, कालकाजी में अभियान के शुभारंभ करते हुए कहा कि हमने इस साल जनवरी में छात्राओं के लिए 'SheCodes' नाम से कोडिंग परियोजना शुरुआत की गई, जिसमें अब अब तक 870 छात्राओं को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। कोरोनावायरस (COVID-19) महामारी के प्रकोप के कारण, हमने इसे ऑनलाइन करने का निर्णय लिया। अब, हम इस कार्यक्रम को और भी बड़ा बनाने की कल्पना कर रहे हैं। लॉन्च इवेंट में, छह छात्रों ने अपने एनिमेटेड वीडियो प्रस्तुत किए, जो उन्होंने अपने स्मार्टफोन पर 'गुड टच-बैड टच', 'पर्यावरण को बचाने', 'बेटी पढाओ, बेटी बचाओ' और कोरोनोवायरस सार्वजनिक जागरूकता जैसे विभिन्न विषयों पर प्रेजेंटेंशन दी।

सिसोदिया ने कहा कि स्टीव जॉब्स ने एक बार कहा था कि कोडिंग नई पीढ़ी की उदार कला है। यह प्रोग्रामिंग, डिजाइनिंग या कुछ वीडियो बनाने के बारे में नहीं है, यह कला बनाने के बारे में है। कोडिंग आपको सोचने में मदद करता है, यही कारण है कि कोड को सीखना महत्वपूर्ण है। आज, मैं देख सकता था कि यह हमारे स्कूल के बच्चों को सोचने के लिए कैसे सक्षम कर रहा है।

 

सिसोदिया ने कहा कि एक लड़की थी जिसने बचपन की शादी पर एक वीडियो बनाया था जिसमें उसने उल्लेख किया था कि लड़की असहाय थी। वीडियो देखते समय मेरे दिमाग में एक विचार आया कि अब वह असहाय नहीं होगा, वह कोड कर सकेगी। हम एक भाषा को इतनी सुलभ बनाने के लिए प्रयास करते हैं कि इसका उपयोग दिन-प्रतिदिन के आधार पर किया जा सके, जैसे कि हिंदी, अंग्रेजी या अन्य किसी भी भाषा में।

What Is CODE-A-THON In Hindi

'कोड ए थोन' दिल्ली सरकार द्वारा जारी एक कोडिंग अभियान है। इस अभियान में छात्रों को कोडिंग पर स्व-शिक्षण मॉड्यूल का प्रशिक्षण दिया जाता है। इसमें छात्रों को कोडिंग के विभिन्न क्विज़ में भाग लेना होता है और उसी के आधार पर छात्र अगले स्तर पर जाएंगे। दिसंबर 2020 में 'कोड-ए-थोन' का एक ग्रैंड फिनाले होगा जहां छात्रों को अपनी परियोजनाओं के प्रदर्शन का अवसर मिलेगा।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
What is CODE-A-THON: Delhi's government schools are now much better than before, everything from education to cleanliness and maintenance is perfectly organized. Delhi's Deputy Chief Minister and Education Minister Manish Sisodia launched the 'CODE-A-THON' campaign for the higher education of students of Delhi's government schools from a small class. More than 12000 students of government schools took part in the 'Code-a-thon' campaign on Thursday.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X