Bhagat Singh Quotes In Hindi: भगत सिंह के ये 10 विचार आपकी जिंदगी में क्रांतिकारी बदलाव ला सकते हैं

By Careerindia Hindi Desk

Bhagat Singh Birth Anniversary Special Quotes In Hindi: आज शहीदे आजम भगत सिंह की 114वीं जयंती है। उनका जन्म आज ही के दिन यानि 28 सितंबर 1907 को बंगा जिला लायलपुर, पंजाब (अब पाकिस्तान में) में हुआ था। मात्र 23 वर्ष की छोटी सी उम्र में देश के लिए फांसी पर झूलने वाले भगत सिंह का युवा पीढ़ी पर गहरा प्रभाव रहा है। भारत की आजादी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले भगत सिंह ने चंद्रशेखर आजाद और अन्य लोगों के साथ मिलकर देश की आजादी में अभूतपूर्व साहस के साथ शक्तिशाली ब्रिटिश सरकार से मुकाबला किया था। भगत सिंह ने पहले लाहौर में साण्डर्स की हत्या और उसके बाद दिल्ली में सेंट्रल असेम्बली में बम विस्फोट करके ब्रिटिश साम्राज्य को खुले तौर पर चुनौती दी थी। 1922 में महात्मा गांधी द्वारा असहयोग आंदोलन खत्म करने के बाद भगत सिंह का अहिंसावादी विचारधारा से मोहभंग हो गया। जिसके बाद उन्होंने ब्रिटिश सरकार से लोहा लेना शुरू कर दिया। साण्डर्स की हत्या और असेम्बली में विस्फोट के आरोप में 23 मार्च 1931 की रात भगत सिंह को सुखदेव और राजगुरू के साथ फांसी पर लटका दिया गया। आज भले ही भगत सिंह हमारे बीच नही है लेकिन उनके क्रांतिकारी विचार हजारों सालों तक हमें प्रेरित करते रहेंगे। आज हम देश के वीर सपूत और महान क्रांतिकारी भगत सिंह के जन्मदिवस पर उनके कुछ अनमोल विचारों को आपके सामने लाने जा रहे है।

 
Bhagat Singh Quotes In Hindi: भगत सिंह के ये 10 विचार आपकी जिंदगी में क्रांतिकारी बदलाव ला सकते हैं

Bhatat Singh Quotes In Hindi #BhagatSingh1

Bhatat Singh Quotes In Hindi #BhagatSingh1

मैं एक मानव हूँ और जो कुछ भी मानवता को प्रभावित करता है उससे मुझे मतलब है।

Bhatat Singh Quotes In Hindi #BhagatSingh2

Bhatat Singh Quotes In Hindi #BhagatSingh2

प्रेमी, पागल और कवि एक ही चीज से बने होते है और देशभक्तों को अक्सर लोग पागल कहते है।

Bhatat Singh Quotes In Hindi #BhagatSingh3
 

Bhatat Singh Quotes In Hindi #BhagatSingh3

व्यक्तियों को कुचलकर भी आप उनके विचार नही मार सकते।

Bhatat Singh Quotes In Hindi #BhagatSingh4

Bhatat Singh Quotes In Hindi #BhagatSingh4

जिंदगी तो सिर्फ अपने कंधों पर जी जाती है, दूसरों के कंधों पर तो सिर्फ जनाजे उठाए जाते है।

Bhatat Singh Quotes In Hindi #BhagatSingh5

Bhatat Singh Quotes In Hindi #BhagatSingh5

बम और पिस्तौल से क्रांति नही लाई जा सकती है, क्रांति की तलवार विचारों से तेज होती है।

भगत सिंह के ये 10 विचार आपकी जिंदगी बदल सकते है (Bhagat Singh Birth Anniversary Special)-

1.बम और पिस्तौल से क्रांति नही लाई जा सकती है, क्रांति की तलवार विचारों से तेज होती है।

2.जिंदगी तो सिर्फ अपने कंधों पर जी जाती है, दूसरों के कंधों पर तो सिर्फ जनाजे उठाए जाते है।

3.व्यक्तियों को कुचलकर भी आप उनके विचार नही मार सकते।

4.राख का एक-एक कण मेरी गर्मी से गतिमान है, मैं एक ऐसा पागल हूं जो जेल में भी आजाद है।

5.प्रेमी, पागल और कवि एक ही चीज से बने होते है और देशभक्तों को अक्सर लोग पागल कहते है।

6.मैं एक मानव हूँ और जो कुछ भी मानवता को प्रभावित करता है उससे मुझे मतलब है।

7.खुदा के आशिक हजारों हैं, वनों में फिरते हैं मारे-मारे, मैं उसका बंदा बनूंगा जिसको खुदा के बंदों से प्यार होगा।

8.मैं इस बात पर जोर देता हूँ कि मैं महत्वाकांक्षा, आशा और जीवन के प्रति आकर्षण से भरा हुआ हूँ। पर मैं जरूरत पड़ने पर ये सब त्याग सकता हूँ और वही सच्चा बलिदान है।

9.क्रांति मानव जाति का एक अपरिहार्य अधिकार है, स्वतंत्रता सभी का एक कभी न खत्म होने वाला जन्मसिद्ध अधिकार है। श्रम समाज का वास्तविक निर्वाहक है।

10.क्रांति में हमेशा संघर्ष हो यह जरूरी नही, यह बम और पिस्तौल का रास्ता नही है।

Teachers Day Quotes In Hindi: डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन के ये 10 विचार आपकी जिंदगी बदल सकते है

Engineers Day: एम. विश्र्वेश्र्वरैया, जिनके जन्मदिवस पर मनाया जाता है इंजीनियर्स डे

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
Bhagat Singh Birth Anniversary Special Quotes In Hindi: Today is the 114th birth anniversary of Shaheed Azam Bhagat Singh. He was born on this day i.e. 28 September 1907 in Banga district Lyallpur, Punjab (now in Pakistan). Bhagat Singh, who hanged for the country at the young age of just 23, has had a deep impact on the younger generation. Bhagat Singh, who played an important role in the independence of India, along with Chandrashekhar Azad and others, fought the mighty British government with unprecedented courage in the independence of the country. Bhagat Singh openly challenged the British Empire by first assassinating Saunders in Lahore and then by bombing the Central Assembly in Delhi. Bhagat Singh became disillusioned with the non-violent ideology after Mahatma Gandhi ended the non-cooperation movement in 1922. After which he started taking iron from the British government. Bhagat Singh was hanged along with Sukhdev and Rajguru on the night of 23 March 1931 for the murder of Saunders and the explosion in the assembly. Even today Bhagat Singh is not with us but his revolutionary ideas will continue to inspire us for thousands of years. Today we are going to bring to you some of his precious thoughts on the birthday of the brave son of the country and the great revolutionary Bhagat Singh.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X