Coronavirus India Update: कोविड-19 का सॉफ्टवेर तैयर, 5 सेकंड में पता चलेगी कोरोनावायरस की डिटेल

By Careerindia Hindi Desk

Coronavirus India Update: विश्वभर में कोरोनावायरस महामारी कोविड-19 पर रिसर्च चल रही है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रुड़की (IIT Roorkee) आईआईटी रुड़की ने एक ऐसा सॉफ्टवेयर विकसित किया है, जिसकी मदद से पांच सेकंड के भीतर कोरोनावायरस का पता लगा सकता है। आईआईटी रुड़की के प्रोफेसर कमल जैन ने दावा किया है कि आईआईटी रुड़की की प्रयोगशाला में कोरोनावायरस महामारी कोविड-19 डिटेक्ट सॉफ्टवेर डवलप किया गया है, जो X-Ray तकनीक का उपयोग करके मात्र 5 सेकंड में कोरोनावायरस संक्रमण की जानकरी दे देगा। यह उन स्वास्थ्य कर्मियों के लिए मददगार हो सकता है जो कोरोनावायरस के इलाज में हमेशा सामने आते हैं।

Coronavirus India Update: कोविड-19 का सॉफ्टवेर तैयर, 5 सेकंड में पता चलेगी कोरोनावायरस की डिटेल

 

कमल जैन, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, आईआईटी रुड़की के प्रोफेसर ने एक ऐसा सॉफ्टवेयर विकसित करने का दावा किया है, जो 5 सेकंड के रिकॉर्ड समय के भीतर कोरोनावायरस का पता लगा सकता है। सॉफ्टवेयर संदिग्ध रोगी को स्कैन करने के उपाय के रूप में एक्स-रे का उपयोग करता है। प्रोफेसर ने सॉफ्टवेयर विकसित करने में 40 दिनों का समय लिया है और इसके लिए पेटेंट भी दाखिल किया है। उसी की समीक्षा के लिए उन्होंने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च, आईसीएमआर से भी संपर्क किया।

कमल जैन आईआईटी रुड़की में सिविल इंजीनियरिंग विभाग में प्रोफेसर हैं। उनका दावा है कि सॉफ्टवेयर न केवल COVID-19 की परीक्षण लागत को कम करेगा, बल्कि डॉक्टरों और उनके स्वास्थ्य देखभाल पेशेवरों के जोखिम को कम करने में भी सहायक होगा जो रोगियों की जाँच करते हैं। मैंने पहले 60,000 से अधिक एक्स-रे स्कैन का विश्लेषण करने के बाद एक कृत्रिम बुद्धिमत्ता-आधारित डेटाबेस विकसित किया, जिसमें सीओवीआईडी ​​-19, निमोनिया और तपेदिक के रोगियों को शामिल किया गया था, ताकि तीनों रोगों में छाती की भीड़ में अंतर हो सके। जैन ने एक प्रमुख समाचार एजेंसी को बताया, "मैंने संयुक्त राज्य अमेरिका के एनआईएच क्लिनिकल सेंटर के चेस्ट एक्स-रे डेटाबेस का भी विश्लेषण किया।

 

TOP 10 ONLINE LEARNING TOOLS: बच्चों के लिए सबसे बेस्ट टॉप 10 ऑनलाइन लर्निंग टूल्स

British Council Online Courses: ब्रिटिश काउंसिल के टॉप 7 फ्री ऑनलाइन कोर्सेस, बनाएं शानदार करियर

Online Web Design Courses: वेब डिजाइन क्या है? फ्री ऑनलाइन वेब डिजाइन कोर्स की लिस्ट

Top 10 Online Digital Marketing Course: ये हैं टॉप 10 ऑनलाइन डिजिटल मार्केटिंग कोर्स की लिस्ट

Professional Photography Online Courses: प्रोफेशनल फोटोग्राफर ऑनलाइन कोर्स की पूरी जानकारी

उन्होंने यह भी कहा कि मेरे द्वारा विकसित सॉफ्टवेयर का उपयोग करके, डॉक्टर केवल किसी व्यक्ति के एक्स-रे की तस्वीरें अपलोड कर सकते हैं। सॉफ्टवेयर न केवल यह वर्गीकृत करेगा कि रोगी को निमोनिया का कोई संकेत है, यह बता पाएगा या नहीं। यह COVID-19 या अन्य बैक्टीरिया के कारण होता है और संक्रमण की गंभीरता को भी मापता है। जैन ने कहा कि उनके द्वारा विकसित सॉफ्टवेयर सटीक प्राथमिक स्क्रीनिंग में मदद कर सकता है जो कि उन लोगों के लिए नैदानिक ​​परीक्षण कर सकते हैं जिन्हें कोरोनोवायरस के लिए सकारात्मक परीक्षण किया गया है।

COVID-19 के कारण होने वाला निमोनिया अन्य जीवाणुओं की तुलना में गंभीर होता है क्योंकि यह अन्य मामलों में फेफड़ों के छोटे भागों की तुलना में फेफड़ों को पूरी तरह से प्रभावित करता है। सॉफ्टवेयर में द्विपक्षीय अपारदर्शिता का विश्लेषण किया जाएगा, फेफड़ों में तरल पदार्थ का निर्माण और अगर कोई हो तो अकड़न या थक्के की प्रकृति।

उन्होंने कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका में अमेज़ॅन विश्वविद्यालय द्वारा इसी तरह के प्रयोग किए जा रहे हैं लेकिन अभी तक कोई सफलता नहीं मिली है। हालांकि उनके दावे को अभी तक किसी भी चिकित्सा संस्थान द्वारा सत्यापित नहीं किया गया है। आईसीएमआर ने कोरोनावायरस के अब तक के कुल 23,502 नमूनों की सकारात्मक पुष्टि करने की जानकारी दी।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
Coronavirus India Update: Research is going on around the world on the coronavirus pandemic Kovid-19. Kamal Jain, a professor at the Indian Institute of Technology (IIT) IIT Roorkee, has claimed that IIT Roorkee has developed a software using X-Ray technology that can detect coronaviruses within five seconds.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Careerindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Careerindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more