यूपीएससी सिविल सेवा में होती हैं ये तीन मुख्य पोस्ट, जानिए इनके बारे में

सिविल सेवा परीक्षा भारत में सबसे प्रतिष्ठित परीक्षाओं में से एक है। ये परिक्षा लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा आयोजित किया जाता है। भारत में यूपीएससी की परिक्षा देने वाले युवाओं में दिन-प्रतिदिन प्रतिस्पर्धा बढ़ती नजर आ रही है। भले ही लोग आईआईटी और डॉक्टरी की परिक्षा को कठिन मानते हो लेकिन उसके बाबजूद यूपीएससी की परिक्षा की किसी और परिक्षा से तुलना नहीं की जा सकती है। यूपीएससी केवल 0.1 प्रतिशत की सफलता दर के साथ देश की सबसे कठिन प्रतियोगी परीक्षाओं में से एक है। बता दें कि अधिक से अधिक पेशेवर डिग्री धारक भी सिविल सेवा में नौकरियों का विकल्प चुन रहे हैं क्योंकि अक्सर ऐसा कहा जाता है जो मजे सरकारी नौकरी में है वो किसी और नौकरी में नहीं। हालांकि बहुत से लोग सिविल सेवा में देश की सेवा करने के उद्देश्य से भी आते हैं।

 

सिविल सेवा भारत सरकार के ढांचे की रीढ़ है। यह प्राथमिक सेवा है, जो राज्य और केंद्रीय प्रशासन चलाने वाले सभी प्रमुख विभागों का प्रमुख है। सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से भर्ती की जाने वाली तीन प्रकार की सेवाएं अखिल भारतीय सेवाएं, केंद्रीय सेवाएं और राज्य सेवाएं हैं।

यूपीएससी सिविल सेवा में होती हैं ये तीन मुख्य पोस्ट, जानिए इनके बारे में

यूपीएससी में मुख्यत: 3 प्रकार की सिविल सेवा सम्मलित हैं

1. अखिल भारतीय सिविल सेवा
2. ग्रुप 'ए' सिविल सर्विसेज
3. ग्रुप 'बी' सिविल सर्विसेज

 

आइए अब एक एक देखते हैं कि कौन सी श्रेणी में कौन सी सेवा आती है?

अखिल भारतीय सिविल सेवा

1. भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस)
2. भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस)
3. भारतीय वन सेवा (IFoS)

ग्रुप 'ए' सिविल सर्विसेज

1. भारतीय विदेश सेवा (IFS)
2. भारतीय लेखा परीक्षा और लेखा सेवा (आईएएएस)
3. भारतीय सिविल लेखा सेवा (आईसीएएस)
4. भारतीय कॉर्पोरेट कानून सेवा (आईसीएलएस)
5. भारतीय रक्षा लेखा सेवा (आईडीएएस)
6. भारतीय रक्षा संपदा सेवा (आईडीईएस)
7. भारतीय सूचना सेवा (आईआईएस)
8. भारतीय आयुध निर्माणी सेवा (आईओएफएस)
9. भारतीय संचार वित्त सेवाएं (आईसीएफएस)
10. भारतीय डाक सेवा (आईपीओएस)
11. भारतीय रेलवे लेखा सेवा (आईआरएएस)
12. भारतीय रेलवे कार्मिक सेवा (आईआरपीएस)
13. भारतीय रेल यातायात सेवा (आईआरटीएस)
14. भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस)
15. भारतीय व्यापार सेवा (आईटीएस)
16. रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ)

ग्रुप 'बी' सिविल सर्विसेज

1. सशस्त्र सेना मुख्यालय सिविल सेवा
2. दानिक्स
3. दानिप्स
4. पांडिचेरी सिविल सेवा
5. पांडिचेरी पुलिस सेवा

यूपीएससी की परिक्षा देने के लिए निर्धारित आयु सीमा

UPSC परीक्षा देने के लिए न्यूनतम आयु 21 वर्ष है जो सभी उम्मीदवारों के लिए समान है। ऊपरी आयु सीमा में भिन्नताएं हैं क्योंकि विभिन्न श्रेणियों से संबंधित उम्मीदवारों को छूट प्रदान की जाती है। साथ ही श्रेणियों के अनुसार ही प्रयास भी तय किए गए हैं कि कौन कितनी बार ये परिक्षा देने योग्य है।
• सामान्य वर्ग के लिए - 32 वर्ष, 6 प्रयास।
• ओबीसी के लिए - 35 वर्ष, 9 प्रयास।
• एससी/एसटी के लिए - 37 वर्ष, असीमित प्रयास।
• शारीरिक रूप से अक्षम- 42 वर्ष; 9 प्रयास।
• जम्मू और कश्मीर अधिवास- 37 वर्ष + (3 वर्ष, यदि ओबीसी या 5 वर्ष, यदि एससी/एसटी); प्रयासों की संख्या आरक्षित श्रेणी पर निर्भर करती है।
• विकलांग और सेवामुक्त रक्षा सेवा कर्मी- 35 वर्ष + (3 वर्ष, यदि जनरल / ओबीसी या 5 वर्ष, यदि एससी / एसटी)
• भूतपूर्व सैनिक आयोग अधिकारी- 37 वर्ष + (3 वर्ष, यदि ओबीसी या 5 वर्ष, यदि एससी/एसटी)
ध्यान देने योग्य
यूपीएसी परीक्षा के लिए शैक्षिक योग्यता: उम्मीदवारों के पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होना आवश्यक है।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
The Civil Services Examination is one of the most prestigious examinations in India. This exam is conducted by Public Service Commission (UPSC). Competition is increasing day by day among the youth appearing for the UPSC exam in India. There are mainly 3 types of civil services in UPSC.1. All India Civil Services2. Group 'A' Civil Services3. Group 'B' Civil Services
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X