भारत-स्लोवाकिया संबंध (India-Slovakia Relations): भारत के अंतर्राष्ट्रीय संबंध से जुड़े समान्य ज्ञान के प्रश्न

भारत-स्लोवाकिया के संबंध मैत्रीपूर्ण हैं और किसी भी द्विपक्षीय मुद्दों से मुक्त हैं। दोनों देश आमतौर पर अंतरराष्ट्रीय संगठनों में एक-दूसरे की उम्मीदवारी के समर्थक रहते हैं। सन् 1921 में बंबई में भारत ने चेकोस्लोवाक के साथ वाणिज्य संबंध स्थापित किए थे जबकि चेकोस्लोवाकिया के विघटन के बाद सन् 1993 में भारत और स्लोवाकिया के आधुनिक संबंध शुरू हुए।

 

हाल ही में 11 मई 2022 में भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन में तीन राष्ट्रों के दूत- स्लोवाक गणराज्य, सूडान गणराज्य और नेपाल के राजदूतों से परिचय पत्र स्वीकार किए। जिन्होंने अपना परिचय पत्र प्रस्तुत किया वे थे:
• स्लोवाक गणराज्य के राजदूत रॉबर्ट मैक्सियन
• सूडान गणराज्य के राजदूत अब्दुल्ला ओमर बशीर एलहुसैन और
• डॉ. शंकर प्रसाद शर्मा, नेपाल के राजदूत

India-Slovakia Relations : भारत के अंतर्राष्ट्रीय संबंध से जुड़े समान्य ज्ञान के प्रश्नोत्तर

बता दें, परिचय पत्र प्रस्तुत करने के बाद राष्ट्रपति ने तीनों दूतों के साथ अलग-अलग बातचीत की। जिसके बाद राष्ट्रपति ने तीनों राष्ट्रों के दूतों को उनकी नियुक्तियों पर बधाई दी और उन देशों के साथ भारत द्वारा साझा किए गए मैत्रीपूर्ण संबंधों और उनमें से प्रत्येक के साथ भारत के बहुआयामी संबंधों पर जोर दिया। राष्ट्रपति ने उन्हें द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने में सफलता और मित्र लोगों की भलाई, प्रगति और समृद्धि के लिए भी कामना की। राष्ट्रपति ने राजदूतों के माध्यम से उनके नेतृत्व को अपने व्यक्तिगत सम्मान से भी अवगत कराया। कार्यक्रम में मौजूद दूतों ने भारत के साथ अपने संबंधों को मजबूत करने के लिए मिलकर काम करने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराई।

 

स्लोवाकिया से जुड़े समान्य ज्ञान के प्रश्नोत्तर-

1. स्लोवाकिया का गठन कब हुआ?

1 जनवरी 1993
(स्लोवाकिया युरोप महाद्वीप में स्थित एक देश है, जिसका निर्माण 1 जनवरी 1993 को चेकोस्लोवाकिया से अलग होने के बाद हुआ।)

2. स्लोवाकिया देश की राजधानी क्या है?

ब्रातिस्लावा

3. स्लोवाकिया के राष्ट्रपति कौन है?

जुज़ाना कापुतोवा

4. स्लोवाकिया के प्रधानमंत्री कौन है?

एडुअर्ड हेगर

5. स्लोवाकिया देश की मुद्रा क्या है?

यूरो

6. स्लोवाकिया की राजधाषा क्या है?

स्लोवक

7. स्लोवाकिया में धर्म कौन माना जाता है?

ईसाई (2021 की रिपोर्ट के मुताबिक यहां कि 68.8% आबादी ईसाई है।)

8. स्वोवाकिया में कुल कितने भारतीय नागरिक है?

लगभग 550

9. स्लोवाकिया में भारत के राजदूत कौन है?

मनोज कुमार

10. स्लोवाकिया के राजदूत का क्या नाम है?

रॉबर्ट मैक्सियन

भारत-स्लोवाकिया राजनीतिक संबंध से जुड़े महत्वपूर्ण द्विपक्षीय समझौते

• एमओयू ऑन डिफेन्स कॉपरेशन (1995)
• हवाई सेवा समझौता (1996)
• विज्ञान और प्रौद्योगिकी में सहयोग पर समझौते के लिए प्रोटोकॉल (1996)
• भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी और स्लोवाक अकादमी के बीच वैज्ञानिक सहयोग पर समझौता विज्ञान (2001)
• आर्थिक सहयोग समझौते के लिए प्रोटोकॉल (2004)
• संस्कृति के क्षेत्र में सहयोग कार्यक्रम (2004)
• भारत गणराज्य के बीच निवेश के संवर्धन और पारस्परिक संरक्षण के लिए समझौता और स्लोवाक गणराज्य (2006)
• द्विपक्षीय निवेश संवर्धन समझौता (2006)
• भारत गणराज्य के रेल मंत्रालय के बीच रेलवे क्षेत्र में तकनीकी सहयोग पर समझौता ज्ञापन
और स्लोवाक गणराज्य के परिवहन, निर्माण और क्षेत्रीय विकास मंत्रालय (12 अगस्त, 2015 से प्रभावी)
• भारत और स्लोवाकिया के बीच यूरोपीय संघ-भारत क्षैतिज हवाई सेवा समझौते के कार्यान्वयन पर समझौता ज्ञापन 5 अप्रैल, 2017 से प्रभावी कार्गो सेवा के उदारीकरण से संबंधित चार प्रावधानों पर।
• कार्यालय मानक, मौसम विज्ञान और परीक्षण, स्लोवाकिया के बीच समझौता ज्ञापन के कार्यान्वयन के लिए कार्य योजना और भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस-2017)।

भारत-स्लोवाकिया व्यापारिक संबंध

भारत को स्लोवाकिया का निर्यात: लोहा और इस्पात, सड़क वाहन, औद्योगिक मशीनरी, फार्मास्यूटिकल्स, परिधान और कपड़ों के सामान, विद्युत मशीनरी, जैविक रसायन, और प्लास्टिक।

भारत से स्लोवाकिया में आयात: परिधान और कपड़े के सामान, जूते, अकार्बनिक रसायन, यार्न संबंधित उत्पाद, फार्मास्यूटिकल्स, सड़क वाहन, विद्युत मशीनरी, लोहा और इस्पात, धातु, चमड़ा और चमड़े के निर्माता।

भारत-स्लोवाकिया संयुक्त आर्थिक समिति (जेईसी)

इंडो-स्लोवाक जेईसी की स्थापना सन् 1994 में स्लोवाक प्रधानमंत्री जोसेफ मोरावसिक की भारत यात्रा के दौरान की गई थी। हालांकि भारत-स्लोवाकिया के बीच अभी तक कुल 10 सत्रों का आयोजन किया जा सका है।

जिसका पहला सत्र मई 1995 में ब्रातिस्लावा में आयोजित किया गया था। जबकि दूसरा सत्र दिसंबर 1996 में नई दिल्ली में आयोजित किया गया था जिसमें की स्लोवाक अर्थव्यवस्था मंत्रालय और भारतीय वाणिज्य मंत्रालय के राष्ट्रीय व्यापार और सूचना केंद्र (NCTI) के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। तत्कालीन स्लोवाक अर्थव्यवस्था मंत्री करोल सेसनेक ने भी दिसंबर 1996 में भारत का दौरा किया और द्विपक्षीय सहयोग पर चर्चा करने के लिए वाणिज्य मंत्री और वाणिज्य और रक्षा मंत्रालयों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठकें कीं। बैठक में, रेलवे निर्माण, इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स, दूरसंचार, बैंकिंग, पर्यटन, तेल और गैस की खोज, खनन, इस्पात उद्योग, रसायनों के उत्पादन सहित द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने के लिए कई क्षेत्रों की पहचान की गई थी।

तीसरा सत्र अक्टूबर 1998 में ब्रातिस्लावा में आयोजित किया गया था और दोनों देशों के बीच एक प्रोटोकॉल पर हस्ताक्षर किए गए थे। इसके साथ ही स्लोवाक-इंडिया ज्वाइंट बिजनेस काउंसिल का आयोजन किया गया जिसमें भारतीय कंपनियों के 14 प्रतिनिधियों ने भाग लिया। इसके बाद स्लोवाक चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के अध्यक्ष के नेतृत्व में एक स्लोवाक व्यापार प्रतिनिधिमंडल ने 11-21 नवंबर 1998 तक भारत का दौरा किया।

चौथा सत्र अप्रैल 2004 में नई दिल्ली में आयोजित किया गया था। जबकि पांचवां सत्र 19 अक्टूबर 2004 को ब्रातिस्लावा में आयोजित किया गया था। इस बैठक में ऑटोमोबाइल, कपड़ा, चमड़ा और दवा क्षेत्रों में प्रतिनिधिमंडलों का आदान-प्रदान करने पर सहमति हुई।

छठा सत्र 13 नवंबर, 2006 को नई दिल्ली में हुआ। इसमें दोनों पक्षों के साथ पारंपरिक क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने और व्यापार टोकरी में विविधता लाने के लिए सहमत होने के साथ एक प्रोटोकॉल पर हस्ताक्षर किए गए थे। 2007-08 में स्लोवाकिया में एक इंडो-स्लोवाक बिजनेस एंड इनवेस्टमेंट फोरम आयोजित करने का भी निर्णय लिया गया। 2007 की पहली छमाही में विज्ञान और प्रौद्योगिकी पर संयुक्त समिति की बैठक आयोजित करने का भी निर्णय लिया गया। बैठक में दोहरे कराधान से बचाव समझौते (डीटीएए) के निष्कर्ष में तेजी लाने का भी निर्णय लिया गया। 14 नवंबर 2006 को फिक्की द्वारा एक इंडो-स्लोवाक बिजनेस एंड इन्वेस्टमेंट फोरम का आयोजन किया गया था।

सातवां सत्र 11-12 जुलाई 2013 को ब्रातिस्लावा में आयोजित किया गया था। तत्कालीन वाणिज्य राज्य मंत्री डॉ डी पुरंदेश्वरी ने तत्कालीन स्लोवाक राज्य के अर्थव्यवस्था सचिव पावोल पावलिस के साथ बैठक की सह-अध्यक्षता की थी। द्विपक्षीय संयुक्त आर्थिक समिति का आठवां सत्र 25 फरवरी 2015 को नई दिल्ली में आयोजित किया गया था।

नौवां सत्र 21 अप्रैल 2017 को ब्रातिस्लावा में आयोजित किया गया था। सुश्री अनीता प्रवीण, संयुक्त सचिव, वाणिज्य और उद्योग विभाग, वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय और श्री दुसान जुरिक, रणनीति महानिदेशक, अर्थव्यवस्था मंत्रालय ने बैठक की सह-अध्यक्षता की। द्विपक्षीय आर्थिक और व्यावसायिक सहयोग के आगे विकास से संबंधित विषयों पर विशेषज्ञ समूहों की चर्चा के बाद, कार्यक्रम के अंत में एक प्रोटोकॉल पर हस्ताक्षर किए गए। साथ ही, स्लोवाक इन्वेस्टमेंट एंड ट्रेड डेवलपमेंट एजेंसी (SARIO) द्वारा FICCI व्यापार प्रतिनिधिमंडल के लिए एक व्यापार मंच का भी आयोजन किया गया था। इसमें 10 भारतीय कंपनियां और स्लोवाकिया से 23 कंपनियां भाग ले रही थीं। यात्रा के दौरान फिक्की और सारियो के बीच एक साझेदारी समझौते पर हस्ताक्षर किए गए।

भारत-स्लोवाकिया संयुक्त आर्थिक समिति का दसवां सत्र 13 फरवरी 2019 को नई दिल्ली में आयोजित किया गया। स्लोवाक प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व अर्थव्यवस्था मंत्रालय में राज्य सचिव श्री वोजटेक फेरेंज़ और वित्त मंत्रालय में राज्य सचिव श्री राडको कुरुक ने किया था, जिसमें स्लोवाक गणराज्य में विभिन्न मंत्रालयों / विभागों के कई वरिष्ठ अधिकारी थे और एक व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल ने भाग लिया था। इसके बाद, दोनों राज्य सचिवों ने भारत सरकार के वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री श्री सी.आर. चौधरी के साथ द्विपक्षीय बैठक की। स्लोवाक प्रतिनिधिमंडल ने नई दिल्ली में फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) और सीआईआई द्वारा आयोजित बिजनेस फोरम और बी2बी बैठकों में भी भाग लिया।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
India-Slovakia relations are friendly and free from any bilateral issues. These two countries are generally supportive of each other's candidacy in international organizations. India established trade relations with Czechoslovakia in Bombay in 1921, while modern relations between India and Slovakia began in 1993 after the dissolution of Czechoslovakia
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X