वर्ल्ड यूएफओ डे 2022: कब और क्यों मनाया जाता है विश्व यूएफओ दिवस

विश्व यूएफओ दिवस प्रत्येक वर्ष 2 जुलाई को मनाया जाता है जो कि अनदेखी (अज्ञात) उड़ने वाली चीजों के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए दुनिया भर में मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का उद्देश्य यूएफओ के अस्तित्व को स्वीकार करना है। बता दें कि वर्ल्ड यूएफओ डे पहली बार 2001 में यूएफओ के शोधकर्ता हकतन अकडोगन द्वारा मनाया गया था। हालांकि इस दिन, लोग एक साथ इकट्ठा होते हैं और आकाश को अलौकिक वस्तुओं की तलाश करते हैं।
इससे पहले, यह दिन 24 जून को कुछ लोगों द्वारा मनाया जाता था क्योंकि एविएटर केनेथ अर्नोल्ड के अनुसार, इस दिन 1990 के दशक की शुरुआत में नौ असामान्य वस्तुओं ने वाशिंगटन के ऊपर उड़ान भरी थी। जबकि कुछ लोग इसे 2 जुलाई को मनाते थे। जिसे बाद में, 2 जुलाई को आधिकारिक तौर पर विश्व यूएफओ दिवस के रूप में घोषित किया गया।

 

यूएफओ क्या हैं?

यूएफओ क्या हैं?

यूएफओ को आमतौर पर दूसरी दुनिया से पृथ्वी पर आने वाले एलियंस का अंतरिक्ष यान माना जाता है।

क्या वास्तव में किसी ने यूएफओ देखा है?

क्या वास्तव में किसी ने यूएफओ देखा है?

नासा की एक साइट के अनुसार, अभी तक किसी भी अंतरिक्ष यात्री ने अंतरिक्ष में 'यूएफओ' नहीं देखा है। और न ही अभी तक किसी विदेशी अंतरिक्ष यान को देखने का कोई सबूत मिला है।

दुनिया भर में यूएफओ से जुड़े प्रसिद्ध किस्से
 

दुनिया भर में यूएफओ से जुड़े प्रसिद्ध किस्से

• केनेथ अर्नोल्ड, 1947: पायलट केनेथ अर्नोल्ड नाम के एक व्यक्ति ने 24 जून, 1947 को यूएफओ की उत्पत्ति का पता लगाया। जब वह वाशिंगटन के माउंट रेनियर के पास अपना विमान उड़ा रहे थे, उन्होंने दावा किया कि उन्होंने नौ नीली, चमकती हुई वस्तुओं को एक वी फॉर्मेशन में 1,700 मील प्रति घंटे की अनुमानित गति से तेजी से उड़ते हुए देखा। जिसके बाद यूएफओ की विभिन्न रिपोर्टें सामने आई लेकिन सरकार ने कभी भी इसका सही स्पष्टीकरण नहीं किया।
• रोसवेल, 1947: यूएफओ के सबसे बड़े अनसुलझे रहस्यों में से एक है रोसवेल, 1947। विलियम रोसवेल ने 1947 में न्यू मैक्सिको में अपने एक चरागाह में रहस्यमय मलबे की खोज की। जब उन्होंने इसकी सूचना सरकार को दी, तो सेना को सामग्रियों को पुनः प्राप्त करने के लिए बुलाया गया, लेकिन अधिकारियों ने उन्हें भी सही वजह नहीं बताई।
• रेंडलेशम वन, 1980: वुडब्रिज और बेंटवाटर्स में तैनात अमेरिकी वायु सेना के अधिकारियों ने लंदन से लगभग 100 मील उत्तर पूर्व में रेंडलेशम वन के ऊपर एक अजीब रंगीन रोशनी देखने की सूचना दी। ऐसा कहा गया था कि एक आदमी जंगल में घुस गया और उसने दावा किया कि उसने एक तरह का अंतरिक्ष यान देखा और अगले दिन वहां के लोगों ने पेड़ों के पास होने वाले नुकसान की पुष्टि की और साइट पर उच्च स्तर के विकिरण के बारे में भी पुष्टि की। लेकिन ब्रिटेन के मंत्रालय ने दावा किया कि उन्हें राष्ट्र के लिए कोई विश्वसनीय खतरा नहीं मिला है और इसलिए, जांच को आगे नहीं बढ़ाया।
• भारत में भी 2007 में, कोलकाता में, कुछ समाचारों के अनुसार, 3:30 बजे से 6:30 बजे के बीच एक अजीब हिलने वाली वस्तु की पहचान की गई और इसे एक कैमरे पर फिल्माया गया। वस्तु का आकार एक गोले से एक त्रिभुज में बदल गया और आगे एक सीधी रेखा में बदल गया।

 

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
World UFO Day is observed every year on 2nd July to spread awareness about unseen flying objects around the world. The purpose of celebrating this day is to acknowledge the existence of UFOs. Let us tell you that World UFO Day was first celebrated in 2001 by UFO researcher Haktan Akdogan.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X