Sardar Vallabhbhai Patel Jayanti 2022 : सरदार वल्लभभाई पटेल द्वारा दिए गए टॉप 15 प्रेरणात्मक कोट्स

देश को एकजुट करने वाले सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती को पूरा देश राष्ट्रीय एकता दिवस (नेशनल यूनिटी डे) के रूप में मनाता है। उन्हों ब्रिटिश राज के दौरान भारत को एक साथ लाने का कार्य किया था। सरदार वल्लभभाई पटेल का जन्म 31 अक्टूबर 1875 में हुआ था। संवतंत्रता संग्राम उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। भारत में उनके योगदान के लिए उन्हें लोह पुरुष के नाम से भी जाना जाता है। देश की सभी रियासतों को एकजुट करने का कार्य भी उनके द्वारा किया गया। भारत की स्वतंत्रता के बाद वह भारत के पहले उप प्रधानंमेंत्री बने थे। पटेल न केवल एक महान बैलिस्टर थे, वह एक प्रभावशाली राजनीकित नेता भी थें। पटेल को भारत की स्वतंत्रता और राजनीति में उनके योगदान के लिए भारत के सर्वेश्रेष्ठ पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित किया गया है। इस साल भारत इस वर्ष सरदार पटेल की 147वीं जयंती मनाने जा रहा है। एकता के प्रति उनकी अवधारणा को आगे बढ़ाने के लिए उनकी जयंती को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में 2014 से मनाया जा रहा है। आइए उनकी 147वीं जयंती पर आपके साथ उनके द्वारा दिए प्रेरणात्मक कोट्स साझा करें।

 
Sardar Vallabhbhai Patel Jayanti 2022 : सरदार वल्लभभाई पटेल द्वारा दिए गए टॉप 15 प्रेरणात्मक कोट्स

सरदार वल्लभभाई पटेल टॉप प्रेरणात्मक कोट्स

1. एकजुट रहें। पूरी विनम्रता के साथ आगे बढ़ें, लेकिन अपने अधिकारों और दृढ़ता की मांग करते हुए, आपके सामने आने वाली स्थिति के लिए पूरी तरह से जाग्रत हों।

2. शक्ति के अभाव में विश्वास कोई बुराई नहीं है। किसी भी महान कार्य को पूरा करने के लिए विश्वास और शक्ति दोनों ही आवश्यक हैं।

3. सत्याग्रह पर आधारित युद्ध हमेशा दो प्रकार का होता है। एक वह युद्ध है जो हम अन्याय के खिलाफ करते हैं, और दूसरा हम अपनी जीती हुई कमजोरियों से लड़ते हैं।

4. एकता के बिना जनशक्ति एक ताकत नहीं है जब तक कि यह सामंजस्य और ठीक से एकजुट न हो, तब यह एक आध्यात्मिक शक्ति बन जाती है।

5. मेरी एक ही इच्छा है कि भारत ईश्वर का निर्माता हो और कोई भूखा न रहे, देश में अन्न के लिए आंसू बहाए।

 

6. मन, वचन और कर्म से अहिंसा का पालन करना चाहिए। हमारी अहिंसा का पैमाना ही हमारी सफलता का पैमाना होगा।

7. धर्म के मार्ग पर चलो - सत्य और न्याय का मार्ग। अपनी वीरता का दुरुपयोग न करें। एकजुट रहें। पूरी विनम्रता के साथ आगे बढ़ें, लेकिन अपने अधिकारों और दृढ़ता की मांग करते हुए, आपके सामने आने वाली स्थिति के लिए पूरी तरह से जाग्रत हों।

8. चरित्र निर्माण के दो तरीके हैं - दमन को चुनौती देने की ताकत पैदा करना, और परिणामी कठिनाइयों को सहन करना जो साहस और जागरूकता को जन्म देती हैं।

9. कार्य निस्संदेह पूजा है लेकिन हँसी ही जीवन है। जो कोई भी जीवन को बहुत गंभीरता से लेता है, उसे खुद को एक दयनीय अस्तित्व के लिए तैयार करना चाहिए। जो कोई भी सुख-दुख का समान रूप से स्वागत करता है, वह वास्तव में सर्वोत्तम जीवन प्राप्त कर सकता है।

10. इस मिट्टी में कुछ अनोखा है, जो कई बाधाओं के बावजूद हमेशा महान आत्माओं का निवास स्थान रहा है।

11. हमने ईमानदारी से और निश्चित तरीके से अपनी कमजोरियों को दूर करने की कोशिश की है। सबूत, अगर किसी सबूत की जरूरत है, हिंदू-मुस्लिम एकता है।

12. इस मिट्टी में कुछ अनोखा है, जो कई बाधाओं के बावजूद हमेशा महान आत्माओं का निवास स्थान रहा है।

13. महात्माजी द्वारा शुरू किया गया युद्ध दो चीजों के खिलाफ है - सरकार और दूसरा खुद के खिलाफ। पहले प्रकार का युद्ध बंद हो गया है, लेकिन बाद वाला कभी भी समाप्त नहीं होगा। यह आत्मशुद्धि के लिए है।

14. जाति और पंथ का कोई भेद हमें बाधित नहीं करना चाहिए। सभी भारत के बेटे-बेटी हैं। हम सभी को अपने देश से प्यार करना चाहिए और आपसी प्यार और मदद पर अपने भाग्य का निर्माण करना चाहिए।

15. सत्याग्रह पर आधारित युद्ध हमेशा दो प्रकार का होता है। एक वह युद्ध जो हम अन्याय के खिलाफ करते हैं और दूसरा हम अपनी कमजोरियों के खिलाफ लड़ते हैं।

National Unity Day 2022 : एकता और अखंडता पर सरदार वल्लभभाई पटेल द्वारा दिए गए कोट्स

Sardar Vallabh Bhai Patel Jayanti 2022: सरदार वल्लभभाई के जीवन से जुड़े प्रमुख प्रश्नोत्तर

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
Sardar Vallabhbhai Patel was born on 31 October 1875. He played an important role in the freedom struggle. He is also known as Loh Purush for his contribution to India. The task of uniting all the princely states of the country was also done by him. This year India is going to celebrate the 147th birth anniversary of Sardar Patel this year. Let us share with you the inspirational quotes given by him on his birth anniversary.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X