Sardar Vallabh Bhai Patel Jayanti 2022: सरदार वल्लभभाई के जीवन से जुड़े प्रमुख प्रश्नोत्तर

सरदार वल्लभ भाई पटेल एक निस्वार्थ नेता थे, जिनका जन्म 31 अक्टूबर 1875 को हुआ था। भारत में सरदार पटेल की जयंती को एकता दिवस के रूप में मनाया जाता है क्योंकि उनका आधुनिक और एकीकृत भारत के निर्माण में अमूल्य योगदान रहा। बता दें कि सरदार पटेल ने सदैव स्वयं के हितों से ऊपर देश के हितों को रखा और भारत की नियति का एकीकरण कर आकार दिया।

 

चलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको सरदार वल्लभ भाई पटेल के जीवन से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवालों के जवाब बताते हैं। जिन्हें जानना आपके लिए बेहद जरूरी है।

Sardar Vallabh Bhai Patel Jayanti 2022: सरदार वल्लभ भाई के जीवन से जुड़े प्रमुख प्रश्नोत्तर

भारत का लौह पुरुष किसे कहा जाता है?
भारत का लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल को कहा जाता है।

स्वतंत्रता संग्राम में सरदार वल्लभभाई पटेल की क्या भूमिका थी?
सरदार वल्लभ भाई पटेल भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में एक प्रमुख व्यक्ति थे, जिन्होंने स्वतंत्रता के लिए देश के संघर्ष में अग्रणी भूमिका निभाई और एक संयुक्त, स्वतंत्र राष्ट्र में इसके एकीकरण का मार्गदर्शन किया था।

 

सरदार वल्लभ भाई पटेल ने भारत के लिए क्या योगदान दिया?
सरदार वल्लभ भाई पटेल भारत के पहले उप प्रधान मंत्री और पहले गृह मंत्री बने। जिन्हें 565 रियासतों को एक नए स्वतंत्र भारत में एकीकृत करने में उनके योगदान के लिए जाना जाता है।

सरदार वल्लभभाई पटेल को सरदार की उपाधि किस आंदोलन के दौरान दी गई थी?
सरदार वल्लभभाई पटेल को बारडोली सत्याग्रह के दौरान सरदार की उपाधि दी गई थी। ये आंदोलन गुजरात में वर्ष 1928 में हुआ था। ब्रिटिश शासन के दौरान इसे सविनय अवज्ञा आंदोलन का एक प्रमुख हिस्सा माना जाता था। जिस सत्याग्रह का नेतृत्व अंतत: वल्लभभाई पटेल द्वारा किया गया था।

वल्लभभाई पटेल को सरदार की उपाधि किसने दी?
बारडोली सत्याग्रह आंदोलन की सफलता के बाद बारडोली की महिलाओं ने वल्लभभाई पटेल को सरदार वल्लभभाई पटेल की उपाधि दी थी।

क्या सरदार वल्लभ भाई पटेल एक स्वतंत्रता सेनानी थे?
सरदार वल्लभभाई पटेल भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में एक वकील और प्रभावशाली राजनीतिक नेता थे।

सरदार वल्लभाई पटेल

  • जन्म- 31 अक्टूबर 1875
  • मृत्यु- 15 दिसंबर 1950
  • व्यवसाय- बैरिस्टर, राजनीतिज्ञ कार्यकर्ता, स्वतंत्रता सेनानी
  • पुरस्कार- भारत रत्न (1991) (मरणोपरांत)

सरदार वल्लभ भाई पटेल को लौह पुरुष क्यों कहा जाता है?
सरदार वल्लभभाई पटेल को रियासतों को भारतीय संघ में एकीकृत करने के उनके अटूट प्रयासों के लिए "भारत का लौह पुरुष" कहा जाता था। बता दें कि सरदार पटेल महात्मा गांधी के असहयोग आंदोलन के समर्थक थे और केवल खादी के कपड़े पहनते थे।

भारत की प्रथम लौह महिला कौन थी?
भारत की प्रथम लौह महिला इरोम चानू शर्मिला थी। इरोम चानू शर्मिला को सशस्त्र बल (विशेष शक्तियां) अधिनियम के खिलाफ भूख हड़ताल के लिए जाना जाता है। वह अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस की सदस्य थी।

भारत विभाजन के समय सरदार पटेल ने क्या किया था?
महात्मा गांधी द्वारा अस्वीकार किए जाने और कांग्रेस द्वारा अनुमोदित योजना के बाद, पटेल ने विभाजन परिषद में भारत का प्रतिनिधित्व किया। जहां उन्होंने सार्वजनिक संपत्ति के विभाजन की देखरेख की, और नेहरू के साथ भारतीय मंत्रिपरिषद का चयन किया।

सविनय अवज्ञा में सरदार पटेल की क्या भूमिका थी?
सरदार पटेल का पालन-पोषण गुजरात राज्य के ग्रामीण इलाकों में हुआ था। वे एक सफल वकील थे। बाद में उन्होंने गुजरात में खेड़ा, बोरसाड और बारडोली के किसानों को ब्रिटिश राज के खिलाफ अहिंसक सविनय अवज्ञा में संगठित किया, जो गुजरात में सबसे प्रभावशाली नेताओं में से एक बन गया।

भारत में प्रथम स्वतंत्रता सेनानी कौन थे?
1827 में जन्मे मंगल पाण्डेय प्रारंभिक स्वतंत्रता सेनानी थे। वह 1857 के महान विद्रोह को भड़काने के लिए युवा भारतीय सैनिकों को प्रेरित करने वाले पहले विद्रोहियों में से थे। ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के लिए एक सैनिक के रूप में सेवा करते हुए, पाण्डेय ने अंग्रेजी अधिकारियों पर गोलीबारी करके पहला हमला किया, जो भारतीय विद्रोह की शुरुआत थी।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
Sardar Vallabhbhai Patel was a selfless leader who was born on 31 October 1875. Sardar Patel's birth anniversary is celebrated as Ekta Diwas in India because of his invaluable contribution in building a modern and integrated India. Let us tell you that Sardar Patel always put the interests of the country above his own interests and unified and shaped India's destiny.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X