National Pollution Control Day 2021 राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस 2 दिसंबर को क्यों मनाया जाता है जानिए

By Careerindia Hindi Desk

National Pollution Control Day 2021 Theme History Significance Objectives Facts भारत में हर वर्ष 2 दिसंबर को राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस मनाया जाता है। इस वर्ष 37वां राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस 2021 मनाया जा रहा है। भारत समेत पूरे विश्व के लिए प्रदूषण एक बड़ी समस्या है। प्रदूषण नियंत्रण करने के लिए सरकारें लगातार जागरूकता अभियान चलाती हैं। आइये जानते हैं पहली बार प्रदूषण नियंत्रण दिवस कब मनाया गया, प्रदूषण नियंत्रण दिवस मानाने की शुरुआत कब हुई, प्रदूषण नियंत्रण दिवस का इतिहास, प्रदूषण नियंत्रण दिवस का महत्त्व और प्रदूषण नियंत्रण दिवस मनाने का उद्देश्य क्या है।

 
National Pollution Control Day 2021 राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस 2 दिसंबर को क्यों मनाया जाता है

बढ़ते प्रदूषण के कारण होने वाली समस्या के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए 2 दिसंबर को मनाया जाता है। इसमें कोई शक नहीं। प्रदूषण इन दिनों पूरी दुनिया के सामने एक बड़ी समस्या है। कुछ उपाय करना और उसका मुकाबला करना आवश्यक है। आइए पढ़ते हैं राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस के बारे में, 2 दिसंबर को क्यों मनाया जाता है और प्रदूषण को कम करने के लिए सरकार द्वारा क्या उपाय किए जाते हैं।

प्रदूषण एक बड़ी समस्या है जिससे भारत ही नहीं बल्कि पूरा विश्व जूझ रहा है। इसे पर्यावरण प्रदूषण के रूप में भी जाना जाता है। हम प्रदूषण को किसी भी पदार्थ, चाहे ठोस, तरल या गैस या किसी भी प्रकार की ऊर्जा जैसे गर्मी, ध्वनि आदि के पर्यावरण में मिलाने के रूप में परिभाषित कर सकते हैं। राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस 2 दिसंबर 1984 को भोपाल गैस त्रासदी में अपनी जान गंवाने वालों की याद में मनाया जाता है।

 

कई कारक हैं जो प्रदूषण पैदा करने के लिए जिम्मेदार हैं जैसे पटाखे फोड़ना, सड़कों पर दौड़ते वाहन, बम विस्फोट, उद्योगों के माध्यम से गैसों का रिसाव आदि। आजकल प्रदूषण की समस्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है और यह इसका कर्तव्य है संबंधित सरकार और लोगों को भी प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए। हमें प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए विचार और योजनाएं बनानी चाहिए।

राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस के उद्देश्य
मुख्य उद्देश्य लोगों को जागरूक करना, उद्योगों में जागरूकता फैलाना है जो पानी, वायु, मिट्टी, शोर जैसे विभिन्न प्रदूषण का कारण बनते हैं और पर्यावरण और जाहिर तौर पर स्वास्थ्य को प्रभावित करते हैं। हम नहीं भूल सकते, भोपाल गैस त्रासदी जिसमें जहरीली गैस 'मिथाइल आइसोसाइनेट (MIC) का रिसाव दुनिया में अब तक हुई सबसे भीषण त्रासदी है। प्रदूषण के संबंध में लोगों को ज्ञान देना भी जरूरी है ताकि एक बेहतर या स्वच्छ वातावरण का निर्माण किया जा सके। भारत में सरकार ने प्रदूषण से निपटने के लिए कई कानून बनाए थे जैसे दिल्ली में सड़क पर चलने वाले वाहनों को कम करना, ऑड और ईवन लागू करना। राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (एनपीसीबी) मुख्य शासी निकाय है, जो नियमित रूप से उद्योगों पर यह जानने के लिए जाँच करता है कि वे पर्यावरण नियमों का पालन कर रहे हैं या नहीं।

राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस क्यों मनाया जाता है?
जैसा कि ऊपर चर्चा की गई है, मुख्य कारण औद्योगिक आपदा को नियंत्रित करना और प्रदूषण के स्तर को कम करना है। प्रदूषण को नियंत्रित करने और रोकने के लिए पूरी दुनिया में सरकार द्वारा विभिन्न कानून बनाए जाते हैं।

भोपाल गैस त्रासदी में क्या हुआ था?
2 और 3 दिसंबर 1984 को, भोपाल गैस त्रासदी जिसमें एक जहरीला रसायन एमआईसी (मिथाइल आइसोसाइनेट) और कुछ अन्य रसायन भोपाल, एमपी में एक कीटनाशक संयंत्र यूसीआईएल (यूनियन कार्बाइड इंडिया लिमिटेड) से छोड़ा गया था। 500,000 से अधिक लोग एमआईसी जहरीली गैस के संपर्क में थे। लगभग 2259 की तुरंत मृत्यु हो गई और बाद में मप्र सरकार ने घोषणा की कि लगभग 25,000 लोग मारे गए। दुनिया भर के इतिहास में इसे सबसे बड़ी औद्योगिक आपदा के रूप में पहचाना गया।

भारत सरकार द्वारा उठाए गए निवारक उपाय
भारत सरकार ने भारत में प्रदूषण को नियंत्रित करने और रोकने के लिए विभिन्न अधिनियम और नियम शुरू किए हैं।
- जल (प्रदूषण की रोकथाम और नियंत्रण) अधिनियम 1974
- जल (प्रदूषण की रोकथाम और नियंत्रण) उपकर अधिनियम 1977
- वायु (प्रदूषण की रोकथाम और नियंत्रण) अधिनियम 1981
- पर्यावरण (संरक्षण) नियम 1986
- पर्यावरण (संरक्षण) अधिनियम 1986
- 1989 के खतरनाक रासायनिक नियमों का निर्माण, भंडारण और आयात
- खतरनाक अपशिष्ट (प्रबंधन और हैंडलिंग) 1989 के नियम
- निर्माण, भंडारण, आयात, निर्यात और खतरनाक सूक्ष्म जीवों का भंडारण - आनुवंशिक रूप से इंजीनियर जीवों या कोशिकाओं के 1989 के नियम
- राष्ट्रीय पर्यावरण न्यायाधिकरण अधिनियम 1995
- रासायनिक दुर्घटनाएं (आपातकालीन, योजना, तैयारी, और प्रतिक्रिया) 1996 के नियम
- बायो-मेडिकल वेस्ट (प्रबंधन और हैंडलिंग) 1998 के नियम
- 1999 के पुनर्नवीनीकरण प्लास्टिक निर्माण और उपयोग नियम
- ओजोन क्षयकारी पदार्थ (विनियमन) 2000 के नियम
- 2000 के ध्वनि प्रदूषण (विनियमन और नियंत्रण) नियम
- म्युनिसिपल सॉलिड वेस्ट (प्रबंधन और हैंडलिंग) 2000 के नियम
- 2001 की बैटरी (प्रबंधन और हैंडलिंग) नियम।
- 2006 का महाराष्ट्र बायो-डिग्रेडेबल कचरा (नियंत्रण) अध्यादेश
- 2006 की पर्यावरण प्रभाव आकलन अधिसूचना

प्रदूषण कम करने के विभिन्न उपाय
- ठोस कचरे के उपचार और प्रबंधन से प्रदूषण को कम किया जा सकता है।
- बायोकेमिकल कचरे की सुविधा से अपशिष्ट प्रदूषण के पुन: उपयोग को कम किया जा सकता है।
-इलेक्ट्रॉनिक कचरे के उपचार से प्रदूषण को कम किया जा सकता है।
- स्वच्छ विकास तंत्र परियोजना से शहरी क्षेत्रों में प्रदूषण को कम किया जा सकता है।

इसलिए प्रदूषण को नियंत्रित करना आवश्यक है और यह सरकार का कर्तव्य नहीं है कि हम भी इसमें भाग लें और पर्यावरण को स्वच्छ और रोगमुक्त बनाएं। स्वच्छ पर्यावरण लोगों को अपना काम बेहतर तरीके से करने और जीवन को खुशी से जीने में मदद करता है।

World AIDS Day 2021 Theme विश्व एड्स दिवस 1 दिसंबर को क्यों मनाया जाता है जानिए

National Press Day 2021 16 नवंबर को राष्ट्रीय प्रेस दिवस क्यों मनाया जाता है जानिए

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
National Pollution Control Day 2021 Theme History Significance Objectives Facts National Pollution Control Day is celebrated on 2nd December every year in India. This year 37th National Pollution Control Day 2021 is being celebrated. Pollution is a big problem for the whole world including India. Governments constantly run awareness campaigns to control pollution. Let us know when Pollution Control Day was celebrated for the first time, when did the celebration of Pollution Control Day begin, history of Pollution Control Day, importance of Pollution Control Day and what is the purpose of celebrating Pollution Control Day.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X