Independence Day 2022: स्वतंत्रता संग्राम से जुड़ी 10 ऐतिहासिक इमारतें

15 अगस्त को प्रतिवर्ष भारत में स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। जबकि इस वर्ष भारत अपनी आज़ादी का 75वां स्वतंत्रता दिवस आज़ादी के अमृत महोत्सव के रूप में मनाने जा रहा है। बता दें कि लगभग 200 साल भारत पर राज करने के बाद अंग्रेजों ने 15 अगस्त 1947 को देश आज़ाद किया था। जिसके उपलक्ष्य में हर साल 15 अगस्त को ये राष्ट्रीय पर्व मनाया जाता है।

 

तो चलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताते हैं कि भारत में ऐसी कौन से ऐतिहासिक इमारतें हैं जो कि स्वतंत्रता संग्राम से जुड़ी हुई हैं। भारत ने आज़ादी पाने के लिए लंबे समय तक संघर्ष किया था। वर्तमान भारत में कई ऐसी ऐतिहासिक इमारतें है जो कि हमें आज भी स्वतंत्रता आंदोलन और आज़ादी की लड़ाई में शहीद वीर जवानों की याद दिलाती है।

स्वतंत्रता संग्राम से जुड़ी 10 ऐतिहासिक इमारतें

स्वतंत्रता संग्राम से जुड़ी 10 ऐतिहासिक इमारतें निम्नलिखित है

 

1. साबरमती आश्रम, गुजरात
साबरमती आश्रम (जिसे हरिजन आश्रम भी कहा जाता है) 1917 से 1930 तक मोहनदास गांधी का घर था और भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के मुख्य केंद्रों में से एक के रूप में कार्य करता था।

2. चंपारण, बिहार
महात्मा गांधी का पहला सत्याग्रह तत्कालीन चंपारण जिले में मोतिहारी की धरती पर प्रयोग किया गया था और इस प्रकार, चंपारण गांधी द्वारा शुरू किए गए भारत के स्वतंत्रता आंदोलन का प्रारंभिक बिंदु रहा है।

3. सेलुलर जेल, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह
सेलुलर जेल को भारत की स्वतंत्रता के संघर्ष के दौरान कई उल्लेखनीय भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों और राजनीतिक कार्यकर्ताओं को कैद करने के लिए जाना जाता था। इसे भारत के बस्ती के रूप में भी जाना जाता है। इस जेल ने "ब्रिटिशों द्वारा बंधन में बंधे भारतीय लोगों को आज़ादी के लिए संघर्ष करते" देखा था।

4. जलियांवाला बाग, पंजाब
आजाद भारत के सबसे मार्मिक स्मारकों में अमृतसर का जलियांवाला बाग है। अमृतसर के प्रसिद्ध स्वर्ण मंदिर के पास स्थित, जलियांवाला बाग एक सार्वजनिक उद्यान है जिसमें ब्रिटिश सेना द्वारा शांतिपूर्ण जश्न मनाने वालों के नरसंहार की याद में एक स्मारक है।

5. झांसी का किला, उत्तर प्रदेश
झांसी का किला 17 वीं शताब्दी में ओरछा के राजा बीर सिंह जूदेव द्वारा सेना के गढ़ के रूप में एक पहाड़ी की चोटी पर बनाया गया था। इस किले ने 1857 की क्रांति में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और रानी लक्ष्मी बाई के नेतृत्व में हुए भीषण युद्ध का साक्षी रहा है।

6. लाल किला, नई दिल्ली
लाल किला परिसर शाहजहांनाबाद के महल किले के रूप में बनाया गया था - भारत के पांचवें मुगल सम्राट शाहजहां द्वारा बनाया गया था। बता दें आज़ादी मिलने के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने इसी लाल किले पर 15 अगस्त 1947 में पहली बार स्वतंत्र भारत का तिरंगा फहराया था। तब से लेकर आज तक प्रत्येक वर्ष भारत का प्रधानमंत्री स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर यहां तिरंगा फहराते हैं।

7. लखनऊ रेजीडेंसी, उत्तर प्रदेश
रेजीडेंसी परिसर में लगभग 2000 सैनिकों की कब्रें हैं, जिन्होंने 1857 के युद्ध के दौरान अपने प्राणों की आहुति दी थी। वर्तमान में, लखनऊ में यह प्रसिद्ध विरासत आकर्षण एक सरकारी कार्यालय के रूप में कार्यरत है। इसमें अवध के पहले नवाब सआदत अली खान की कब्र के साथ एक संग्रहालय भी शामिल है।

8. बैरकपुर, पश्चिम बंगाल
बैरकपुर इसलिए प्रसिद्ध है क्योंकि यहां पहला ब्रिटिश बैरक वर्ष 1772 में बनाया गया था। यहां बसने के बाद, अंग्रेजों ने विभिन्न राज्यों पर विजय प्राप्त करते हुए भारत पर अपना नियंत्रण फैला दिया। 19वीं शताब्दी में स्वतंत्रता प्राप्ति के लिए बैरकपुर में दो बड़े विद्रोह हुए।

9. इंडिया गेट, नई दिल्ली
इंडिया गेट, आधिकारिक नाम दिल्ली मेमोरियल, जिसे मूल रूप से अखिल भारतीय युद्ध स्मारक कहा जाता है। ये ब्रिटिश भारत के सैनिकों को समर्पित है जो 1914 और 1919 के बीच लड़े गए युद्धों में मारे गए थे। बता दें कि प्रत्येक वर्ष गणतंत्र दिवस के अवसर पर 26 जनवरी के दिन देश के राष्ट्रपति इंडिया गेट पर अमर जवान ज्योति पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। और इंडिया गेट पर परेड का कार्यक्रम भी आयोजित किया जाता है।

10. स्वराज भवन, उत्तर प्रदेश
स्वराज भवन (पूर्व में आनंद भवन) भारत में प्रयागराज (जिसे पहले इलाहाबाद के नाम से जाना जाता था) में स्थित एक बड़ी हवेली है, जिसे भारतीय राजनीतिक नेता मोतीलाल नेहरू के स्वामित्व के लिए जाना जाता था। ये हवेली 1930 तक नेहरू परिवार का घर कहलाती थी।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
Independence Day is celebrated in India every year on 15th August. Whereas this year India is going to celebrate its 75th Independence Day in the form of Amrit Mahotsav of Independence. Let us tell you that after ruling India for almost 200 years, the British got independence on 15th August 1947. To commemorate this national festival is celebrated every year on 15th August.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X