Human Rights Day Essay Speech मानवाधिकार दिवस पर निबंध भाषण

By Careerindia Hindi Desk

Human Rights Day Essay Speech मानव के अधिकार सर्वोपरि होते हैं। मानवाधिकारों के पैरोकारों और रक्षकों को सशक्त बनाने के लिए हर साल 10 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय मानव आधिकारिक दिवस मनाया जाता है। सन 1948 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 10 दिसंबर को दुनिया भर में अंतर्राष्ट्रीय मानव अधिकार दिवस मनाने का फैसला किया। आपको बता दें कि मानवाधिकार गैर-भेदभावपूर्ण हैं यानी सभी इंसानों को लोगों का हक है और उन्हें इससे बाहर नहीं किया जा सकता है। और दुविधा यह है कि सभी मानव मानव अधिकारों के हकदार हैं, लेकिन उन्हें पूरे विश्व में समान रूप से अनुभव नहीं करते हैं। अंतर्राष्ट्रीय मानव अधिकार दिवस 2021 की थीम 'असमानताओं को कम करना और मानव अधिकारों को आगे बढ़ाना' रखी गई है। आइये जानते हैं छात्र अंतर्राष्ट्रीय मानव अधिकार दिवस पर निबंध भाषण कैसे लिखें।

 
Human Rights Day Essay Speech मानवाधिकार दिवस पर निबंध भाषण

मानवाधिकार दिवस पर निबंध भाषण | Essay Speech On Human Rights Day

मानवाधिकार दिवस हर साल 10 दिसंबर को पूरी दुनिया में मनाया जाता है। इस दिन का उद्देश्य मानवाधिकार के मुद्दों पर विचार और चर्चा करना है। मानवाधिकार दिवस पर विभिन्न स्थलों पर सम्मेलन, वाद-विवादों और चर्चाएं आयोजित की जाती है। संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 10 दिसंबर 1948 को मानवाधिकार दिवस मनाने की आधिकारिक घोषणा की गई। 1950 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने एक प्रस्ताव 423 (वी) पारित किया था। प्रस्ताव में 10 दिसंबर को मानवाधिकार दिवस के रूप में मनाने का आह्वान किया था। मानवाधिकार दिवस के प्रस्ताव को 48 देशों के हस्ताक्षर के बाद अपनाया गया था। मानवाधिकार दिवस मनाने की शुरुआती लोकप्रियता इतनी अधिक थी कि 1952 में संयुक्त राष्ट्र डाक विभाग द्वारा 200000 मानवाधिकार टिकट एक साथ बेचे गए थे।

 

आज यह दिन दुनिया के विभिन्न हिस्सों में राजनीति, सामाजिक कार्य और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के प्रतिभागियों के साथ मनाया जाता है। प्राथमिक उद्देश्य मानव अधिकारों पर चर्चा करना और लोगों को इसके बारे में जागरूक करना भी है। समाज के गरीब और उत्पीड़ित वर्ग जो मानवाधिकारों के बारे में नहीं जानते उन्हें इसके बारे में जानकारी दी जाती है। कई मानवाधिकार संगठन यह सुनिश्चित करने के लिए अपनी रचनात्मक योजनाओं की रूपरेखा तैयार करते हैं कि मानवाधिकारों का कोई उल्लंघन न कर सके। मानवाधिकार वे विशेषाधिकार हैं जो प्रत्येक व्यक्ति को उसके सामान्य दैनिक जीवन के हिस्से के रूप में प्रदान किए गए हैं। आम लोगों को अपने मौलिक अधिकारों के बारे में पता होना चाहिए। संस्कृति, रंग भेद, धर्म या किसी भी तरह के आधार पर किसी भी प्रकार का कोई भेदभाव नहीं रहे।

आपको बता दें कि मानवाधिकार दिवस पूरे विश्व में 10 दिसंबर के अलावा अन्य तिथियों को भी मनाया जाता है। संयुक्त राज्य अमेरिका में मानवाधिकार सप्ताह मनाया जाता है, जिसकी शुरुआत 9 दिसंबर से होती है। इस सप्ताह की घोषणा तत्कालीन राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश द्वारा 2001 के आदेश में की गई थी। इसके अलावा दक्षिण अफ्रीका में मानवाधिकार दिवस 10 दिसंबर के बजाय 21 मार्च को मनाया जाता है। इस तारीख को 1960 के शार्पविले नरसंहार और इसके पीड़ितों की याद के लिए चुना गया था। नरसंहार 21 मार्च 1960 को दक्षिण अफ्रीका में रंगभेद शासन के विरोध में हुआ था।

अफसोस की बात यह है कि मानवाधिकारों के बारे में जागरूकता के बावजूद दुनिया भर से मानवाधिकारों के उल्लंघन की कई घटनाएं भी सामने आती हैं। यह सभी घटनाएं अधिकांश समाज के गरीब और वंचित वर्ग से आती हैं। गरीबी और अशिक्षा जैसे कारक मानवाधिकार के उल्लंघन का कारण बनते हैं। इसलिए, इन मानवाधिकारों के उल्लंघन के मुद्दे को उठाने के लिए अधिक से अधिक लोगों को अपने स्वयं के अधिकारों और विशेषाधिकारों के बारे में जागरूक होना पड़ेगा। मानवाधिकार दिवस जैसे अवलोकन न केवल मनुष्य के रूप में व्यक्तियों के अधिकारों की रक्षा करते हैं बल्कि समाज को समान और निष्पक्ष बनाने में भी मदद करते हैं। हमें एक-दूसरे के अधिकारों की रक्षा करनी चाहिए। मानव अधिकारों का सम्मान करने पर ही हम एक समाज के रूप में विकसित होते हैं।

मानवाधिकार पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न
प्रश्न 1. मानवाधिकार क्या हैं?
उत्तर. मानवाधिकार एक मौलिक अधिकार है, जिसमें उसे स्वतंत्रता के साथ जीने का आधिकारिक है।

प्रश्न 2. मानवाधिकार दिवस कब मनाया जाता है?
उत्तर. मानवाधिकार दिवस हर साल 10 दिसंबर को मनाया जाता है।

प्रश्न 3. मानवाधिकार दिवस मनाने की घोषणा कब की गई थी?
उत्तर. मानवाधिकार दिवस मानाने की आधिकारिक घोषणा 10 दिसंबर 1948 को की गई थी।

प्रश्न 4. मानवाधिकार आयोग के कितने देश सदस्य हैं?
उत्तर. 53 देश मानवाधिकार आयोग के सदस्य हैं।

प्रश्न 5. मानवाधिकार दिवस मनाने का मकसद क्या है?
उत्तर. यह दिन लोगों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने और उन्हें हनन होने से बचाने के लिए मनाया जाता है।

प्रश्न 6. मानवाधिकार कितने हैं?
उत्तर. 30 मानवाधिकार हैं, जो हमारे हैं।

Human Rights Day 2021 Theme History अंतर्राष्ट्रीय मानव अधिकार दिवस 10 दिसंबर को क्यों मनाया जाता है

Swami Vivekananda Speech: 128 साल पहले स्वामी विवेकानंद ने दिया था ये ऐतिहासिक भाषण

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
Human Rights Day Essay Speech Human rights are paramount. International Day of Human Rights is observed every year on 10 December to empower advocates and defenders of human rights. In 1948, the United Nations General Assembly decided to celebrate 10 December as International Human Rights Day across the world. The theme of International Human Rights Day 2021 is 'Reducing Inequalities and Advancing Human Rights'. Let us know how students write essay speech on International Human Rights Day.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X