ISRO में वैज्ञानिक बनने के लिए कितना पैसा खर्च होगा

बचपन से ही बहुत से छात्रों का सपना होता है कि बड़े होकर डॉक्टर, इंजीनियर या साइंटिस्ट बनें। तो चलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताते हैं कि स्पेस साइंटिस्ट यानि अंतरिक्ष वैज्ञानिक बनने के लिए छात्रों का क्या करना चाहिए? 12वीं कक्षा पास करने के बाद छात्रों को आगे किस विषय में पढ़ाई करनी चाहिए? कौन सा एंट्रेंस एग्जाम देना चाहिए? और इसरो में स्पेस साइंटिस्ट बनने के लिए अनुमानित कितने पैसे खर्च होते हैं?

 

बता दें कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) दुनिया की अग्रणी अंतरिक्ष एजेंसियों में से एक है। जहां नौकरी पाना ज्यादातर भारतीय वैज्ञानिकों का सपना होता है। ऐसा माना जाता है कि स्पेस साइंटिस्ट बनने के लिए छात्रों को कठिन परिश्रम करने की आवश्यकता होती है। क्योंकि इसरो में नौकरी पाना उतना आसान नहीं है जितना की अन्य नौकरी पाना है।

ISRO में वैज्ञानिक बनने के लिए कितना पैसा खर्च होगा

इसरो में स्पेस साइंटिस्ट बनने का प्रोसेस क्या है?

स्टेप 1- छात्र के 12वीं कक्षा में साइंस स्ट्रीम के विषय- फिजिक्स, केमेस्ट्री और मैथस में न्यूनतम 50% अंकों के साथ पास होना अनिवार्य है।
स्टेप 2- छात्र को यूजीसी से मान्यता प्राप्त संस्थान / कॉलेज / विश्वविद्यालय से विज्ञान स्ट्रीम में स्नातक जैसे कि बीई/बी.टेक, बीएससी + बीई/बी.टेक लेटरल एंट्री, एएमआईई, बीई/बी.टेक पार्ट टाइम, डिप्लोमा + बीई/बी.टेक लेटरल एंट्री, बीएससी इंजीनियरिंग डिग्री में न्यूनतम 65% अंक के साथ पास होना आवश्यक है।
स्टेप 3- छात्र के पास भारतीय नागरिक होना का प्रमाण पत्र होना चाहिए।
स्टेप 4- इसरो केंद्रीकृत भर्ती बोर्ड (आईसीआरबी) द्वारा आयोजित एंट्रेंस एग्जाम देना होगा। जिसको देने के लिए छात्र को उपयुक्त स्टेप्स को पहले पूरा करना होगा। उसके बाद ही छात्र इस एग्जाम को दे पाएंगे। इस एंट्रेंस एग्जाम को देने के बाद छात्र को इसरो के चयन पैनल के सामने इंट्रव्यू देना होगा।

इसरो के एंट्रेंस एग्जाम की रजिस्ट्रेसन फीस

• छात्र को 100 रुपये आवेदन शुल्क का भुगतान करना होगा।
• आवेदन शुल्क का भुगतान डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड या ऑफलाइन के माध्यम से निकटतम एसबीआई बैंक के माध्यम से किया जा सकता है।
• यदि छात्र आरक्षित श्रेणी से है, तो भूतपूर्व सैनिक, विकलांग व्यक्ति को कोई आवेदन शुल्क नहीं देना होगा।

इसरो में साइंटिस्ट बनने के लिए कुल कितने पैसे खर्च होंगे

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ स्पेस साइंस एंड टेक्नॉलोजी इंस्टीट्यूट - [आईआईएसटी], तिरुवनंतपुरम एक ऐसा इंस्टीट्यूट जहां से पढ़ने के बाद छात्र सीधा इसरो में नौकरी पा सकते हैं। इस इंस्टीट्यूट से बी.टेक करने के लिए 1 साल की फीस लगभग 1,45,000 है। एम.टेक की एक साल की फीस लगभग 87,400 है। जबकि बी.टेक + एमएस और बी.टेक + एम.टेक कोर्स की 1 साल की फीस लगभग 1,45,000 है। तो वहीं पीएचडी की एक साल की फीस 21,400 है और एमएससी की फीस 87,400 है।

आईआईएसटी होस्टल फीस

लगभग 1.05 से 1.23 लाख तक
पीएचडी होस्टल फीस स्ट्रक्चर:
होस्टल फीस/ सेमेस्टर: 8750 रुपए
मेस बिल/(नोमिनल) इन एडवांस: 18000 रुपए + 3000 रुपए एक्सट्रा खर्च
पीजी होस्टल फीस स्ट्रक्चर:
होस्टल फीस/ सेमेस्टर: 10250 रुपए
मेस बिल इन एडवांस: 18000 रुपए

कुल मिलाकर यदि आप आईआईएसटी से पीजी कोर्स करते हैं तो आपके कॉलेज फीस, होस्टल फीस और मेस बिल का मिलाकर अनुमानित एक साल का 2 लाख तक का खर्चा होगा। जो कि अन्य कोर्स के मुकाबले अत्यधिक नहीं है। इसलिए यदि आप आईआईएसटी से कोर्स से करने के बाद इसरो में नौकरी पाना चाहते हैं तो निश्चित होकर आप ये कोर्स कर सकते हैं।

इसरो में नौकरी के लिए आवेदन करने की अधिकतम आयु सीमा
इसरो की नौकरी के लिए आवेदन करने वाले किसी भी आवेदक या छात्र की आयु 35 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए। हालांकि, विकलांग व्यक्ति और पूर्व सैनिकों को सरकार द्वारा छूट प्रदान की जाती है।

इसरो में जॉब पाने के लिए चयन प्रक्रिया
• लिखित परीक्षा देने के लिए उम्मीदवारों की शॉर्टलिस्ट स्क्रीनिंग की जाएगी। यह स्क्रीनिंग यूजी द्वारा कोर्स में अकादमिक प्रदर्शन और बायोडाटा पर आधारित होगी।
• इस स्क्रीनिंग में शॉर्टलिस्ट किए जाने के बाद इसरो द्वारा आयोजित परीक्षा में शामिल होना होगा, शॉर्टलिस्ट किए गए उम्मीदवारों को कॉल लेटर उनके ईमेल के माध्यम से भेजा जाएगा।
• इसरो द्वारा आयोजित परीक्षा निम्नलिखित शहरों में आयोजित की जाती है- चेन्नई, बेंगलुरु, अहमदाबाद, भोपाल, हैदराबाद, चंडीगढ़, कोलकाता, नई दिल्ली, मुंबई, लखनऊ, गुवाहाटी और तिरुवनंतपुरम।
• लिखित परीक्षा पास करने के बाद पर्सनल इंट्रव्यू व स्किल टेस्ट देना होगा।
• जिसे पास करने के बाद आपको एक महीने के भीतर ईमेल या डाक के माध्यम से जॉब लेटर पत्र भेजा जाएगा।

इसरो एंट्रेंस एग्जाम पैटर्न
• एंट्रेंस एग्जाम अंग्रेजी माध्यम में होगा।
• प्रश्न पत्र में कुल 80 प्रश्न होंगे।
• एंट्रेंस एग्जाम की समय अवधि 1:30 घंटे की होती है।
• ये एंट्रेंस एग्जाम 240 मार्क्स का होता है।
• प्रत्येक सही उत्तर के लिए 3 अंक दिए जाएंगे और प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1 अंक काटा जाएगा।

इसरो एंट्रेंस एग्जाम सिलेबस
याद रखें, एंट्रेंस एग्जाम का सिलेबस जॉब प्रॉफाइल पर निर्भर करता है। प्रत्येक जॉब प्रॉफाइल के लिए अलग प्रश्न पत्र निर्धारित किया जाता है।

इसरो वैज्ञानिक/तकनीशियन - इंजीनियरिंग सिलेबस

1. इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन

1. इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन

• कंट्रोल सिस्टम एंड प्रोसेस कंट्रोल
• सिग्नल, सिस्टम एंड कम्युनिकेशन
• बेसिक्स ऑफ सर्किट्स एंड मेजरमेंट सिस्टम
• डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक्स
• एनालॉग इलेक्ट्रॉनिक्स
• ट्रांसड्यूसर, मैकेनिकल मेजरमेंट एंड इंडस्ट्रीयल इंस्ट्रयूमेंट्स

2. कंप्यूटर साइंस

2. कंप्यूटर साइंस

• डेटाबेस
• ऑपरेटिंग सिस्टम
• कम्पाइलर डिजाइन
• वेब टेक्नॉलोज
• कंप्यूटर नेटवर्क
• थ्यौरी ऑफ कंप्यूटेशन
• कंप्यूटर ऑर्गेनाइजेशन एंड आर्टिटेक्चर

3. सिविल इंजीनियरिंग
 

3. सिविल इंजीनियरिंग

• सिंचाई इंजीनियरिंग
• आरसीसी डिजाइन
• स्टील डिजाइन
• कंक्रीट तकनीक
• सोइल मकैनिक्स
• बिल्डिंग मैटेरिय
• ट्रांसपोर्टेशन इंजीनियरिंग
• सट्रक्चरल इंजीनियरिंग

4. इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग

4. इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग

• सर्किट लॉ
• इलेक्ट्रिक मशीन
• मैग्नेटिक सर्किट
• उपयोग और विद्युत ऊर्जा
• मेजरमेंट एंड मेजरिंग इंस्ट्रयूमेंटस
• बेसिक्स इलेक्ट्रॉनिक्स
• बेसिक कॉनसेप्ट्स

5. मैकेनिकल इंजीनियरिंग

5. मैकेनिकल इंजीनियरिंग

• हीट इंजन
• फ्लयूड मैकेनिक्स
• द स्ट्रेंथ ऑफ मैटेरियल
• ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग
• थ्यौरी ऑफ मशीन
• स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग
• जनरल नॉलेज
• जनरल स्टडीज

इसरो जॉब सैलरी

इसरो में जॉब सैलरी पूरी तरह से नौकरी प्रॉफाइल पर निर्भर करती हैं। इसरो वैज्ञानिक/इंजीनियर - बेसिक पे + भत्ते + एनपीएस कॉनट्रिब्यूशन - लगभग प्रति माह 95,000 से 1,10,000 तक है।
• इसरो टैकनिकल असिस्टेंट सैलरी- 2.5 से 6 लाख तक सालाना
• इसरो के सिविल इंजीनियर सैलरी- 2.5 लाख से 6.5 लाख तक सालाना
• इसरो टेक्नीशियन सैलरी- 2 से 5.5 लाख तक प्रति वर्ष
• इसरो ड्राफ्ट्समैन या ड्राफ्टर सैलरी- सालाना 2 से 5.2 लाख तक
• इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियर सैलरी- 2.5 से 5.5 लाख सालाना तक
• इसरो के मैकेनिकल इंजीनियर सैलरी- सालाना 2 से 5.5 लाख तक
• इसरो के मशीनिस्ट सैलरी- सालाना 1.7 से 4.4 लाख तक
• इसरो फिटर सैलरी- 1.5 से 4 लाख तक सालाना

Top NIT Colleges In India भारत के टॉप एनआईटी कॉलेज की लिस्ट

Top Engineering College In India भारत के टॉप इंजीनियरिंग कॉलेज की लिस्ट 2022

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
The Indian Space Research Organization (ISRO) is one of the world's leading space agencies. Where getting a job is the dream of most Indian scientists. It is believed that to become a space scientist, students need to work hard. Because getting a job in ISRO is not as easy as getting any other job.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X