Kargil Vijay Diwas 2022 : दो महीनों में सफल हुआ "ऑपरेशन विजय", पाकिस्तान पर भारत की जीत

भारत में हर साल 26 जुलाई को कारगिल विजय दिवस मनाया जाता है। कारगिल विजय दिवस हर साल 26 जुलाई को 1999 में कारगिल युद्ध में पाकिस्तान पर भारत की जीत के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। युद्ध के दौरान भारतीय सेना ने पाकिस्तानी घुसपैठियों को "ऑपरेशन विजय" के तहत खदेड़ दिया था। भारतीय सेना टाइगर हिल और अन्य चौकियों पर कब्जा करने में सफल रही। लद्दाख के कारगिल में 60 दिनों से अधिक समय तक सशस्त्र संघर्ष जारी रहा। हर साल इस दिन हम पाकिस्तान द्वारा शुरू किए गए युद्ध में शहीद हुए सैकड़ों भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि देते हैं। भारतीय सशस्त्र बलों के योगदान को मान्यता देने के लिए देश भर में कई कार्यक्रम भी आयोजित किए जाते हैं।

 
Kargil Vijay Diwas 2022 : दो महीनों में सफल हुआ

कारगिल विजय दिवस 2022 समारोह

इस साल कारगिल विजय दिवस की 23वीं वर्षगांठ है। भारतीय सेना ने दिल्ली से कारगिल विजय दिवस मोटर बाइक अभियान को हरी झंडी दिखाई। युद्ध स्मारक पर ध्वजारोहण समारोह के लिए एक विशेष कार्यक्रम की योजना बनाई जाएगी। शहीदों के परिवारों का स्मारक सेवा में स्वागत किया जाएगा। द्रास में सांस्कृतिक कार्यक्रमों की योजना है। कार्यक्रम में शेरशाह की टीम मौजूद रहेगी। इस कार्यक्रम में कोरियोग्राफ किए गए नृत्य प्रदर्शन देशभक्ति गीतों का प्रदर्शन किया जाएगा।

कारगिल विजय दिवस की शुरुआत

26 जुलाई, 22 साल पहले इसी दिन भारतीय सेना ने कारगिल में उन सभी भारतीय चौकियों पर फिर से कब्जा कर लिया था जिन पर पाकिस्तान की सेना का कब्जा था। तब से हर साल 26 जुलाई को इस युद्ध में सैनिकों के बलिदान की याद में मनाया जाता है।

 

कारगिल युद्ध

यह युद्ध मई और जुलाई 1999 के बीच जम्मू-कश्मीर के कारगिल जिले में हुआ था। माना जाता है कि पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधान मंत्री नवाज शरीफ की जानकारी के बिना तत्कालीन पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल परवेज मुशर्रफ द्वारा संघर्ष को अंजाम दिया गया था।

कारगिल विजय दिवस ऑपरेशन विजय

इसकी शुरुआत नियमित पाकिस्तानी सैनिकों और आतंकवादियों दोनों की भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ के साथ हुई। घुसपैठियों ने खुद को प्रमुख स्थानों पर तैनात किया, जिससे उन्हें संघर्ष की शुरुआत के दौरान एक रणनीतिक लाभ मिला। स्थानीय चरवाहों की जानकारी के आधार पर भारतीय सेना घुसपैठ के बिंदुओं का पता लगाने और "ऑपरेशन विजय" शुरू करने में सक्षम थी।

कारगिल विजय दिवस युद्ध

भारत ने घुसपैठ में पाकिस्तानी सेना की संलिप्तता के सबूत के तौर पर शीर्ष पाकिस्तानी सैन्य अधिकारियों के बीच बातचीत के इंटरसेप्ट जारी किए। पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ ने वाशिंगटन के लिए उड़ान भरी और संयुक्त राज्य अमेरिका से हस्तक्षेप करने के लिए कहा। हालांकि तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने नियंत्रण रेखा से पाकिस्तानी सैनिकों के हटने तक ऐसा करने से मना कर दिया था।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
Kargil Vijay Diwas celebrated every year on 26 July. This day celebrate as to remember all the martyrs of Kargil war. To give our tribute and respect.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X