पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स (PG Diploma in Intellectual Property Rights)

पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स 2 साल का पोस्ट ग्रेजुएशन लेवल का डिप्लोमा कोर्स है। इस कोर्स का उद्देश्य विभिन्न कॉपीराइट, ट्रेडमार्क, पेटेंट, व्यापार रहस्यों आदि को समझना है। पीजीडी इन इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स कोर्स में न्यू मीडिया कंटेंट, इंटरनेट के स्वामित्व, स्ट्रीमिंग, फार्मास्युटिकल पेटेंटिंग और लाइसेंसिंग जैसे मुद्दों पर चर्चा की गई है।

 

आज के इस आर्टिकल में हम आपको पीजी डिप्लोमा इनइंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी से अवगत कराएंगे कि आखिर ये कोर्स किस लिए बनाया गया है, इसका सिलेबस क्या है। इसमें एडमिशन लेने के लिए क्या एलिजिबिलिटी होनी चाहिए। इसका एडमिशन प्रोसेस क्या है, इसे करने के बाद आपके पास जॉब प्रोफाइल क्या होंगी और इस कोर्स को करने के लिए भारत के टॉप कॉलेज कौन से हैं।

पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स में करियर

कोर्स का नाम- पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स
कोर्स का प्रकार- पीजी डिप्लोमा
कोर्स की अवधि- 2 साल
एलिजिबिलिटी- किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से संबंधित विषय में ग्रेजुएशन की डिग्री
एडमिशन प्रोसेस- मेरिट बेस्ड/ एंट्रेंस एग्जाम बेस्ड
अवरेज सेलरी- सालाना 2 से 20 लाख तक
जॉब प्रोफाइल- बौद्धिक संपदा वकील, पेटेंट वकील, पेटेंट इंजीनियर, असिस्टेंट मैनेजर, रिसर्च एनालिस्ट,आईपी एनालिस्ट आदि।

 

पीजीडी इन इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स : एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया

  • उम्मीदवार के पास किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या कॉलेज से इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स या इससे संबंधित विषय में ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए।
  • ग्रेजुएशन की डिग्री में न्यूनतम 50% अंक होना जरूरी है।
  • कम से कम 1 साल का कार्य अनुभव रखने वाले छात्रों को एडमिशन के दौरान प्राथमिकता दी जाएगी।
  • सभी अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों को न्यूनतम कुल अंकों में 5% की छूट दी जाती है।

पीजीडी इन इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स: एडमिशन प्रोसेस
इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स में पीजीडी करने के लिए एडमिशन प्रोसेस कॉलेज से कॉलेज पर निर्भर करता है। कुछ कॉलेज एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर एडमिशन देते हैं तो कुछ कॉलेज मेरिट बेस्ड के आधार पर छात्रों का चयन कर एडमिशन देते हैं।

पीजीडी इन इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स कोर्स में ऑनलाइन आवेदन कैसे करे
चरण 1 उम्मीदवार ऑफिशयल वेबसाइट पर जाएं
चरण 2 ऑफिशयल वेबसाइट पर जाने के बाद आवेदन फॉर्म भरें
चरण 3 आवेदन फॉर्म को भरने के बाद ठीक तरह से जांच लें यदि फॉर्म में गलती हुई तो वह रिजक्ट हो सकता है
चरण 4 क्रेडीट कार्ड या डेबिट कार्ड से ऑनलाइन फॉर्म की फीस जमा करें
चरण 5 फीस जमा होना के बाद आपके रजिस्ट्रड फोन नं या मेल आईडी पर मैसेज आ जाएगा।

एडमिशन के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • पेन कार्ड
  • 10वीं, 12वीं, ग्रेजुएशन के सर्टिफिकेट
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • डोमिसाइल

पीजीडी इन इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स: एंट्रेंस एग्जाम
इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए कॉलेजों द्वारा आयोजित किए जाने वाले कुछ सबसे लोकप्रिय एंट्रेंस एग्जाम निम्नलिखित हैं

  • कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (क्लैट): यह टेस्ट नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के कंसोर्टियम द्वारा आयोजित किया जाता है। जिसमें की आवेदन करने के लिए सामान्य / ओबीसी / पीडब्ल्यूडी / एनआरआई / पीआईओ / ओसीआई श्रेणियों के लिए योग्य परीक्षा में न्यूनतम योग्यता 50% अंक और एससी / एसटी श्रेणियों के लिए 45% अंक आवश्यक है।
  • जेवियर एप्टीट्यूड टेस्ट (एक्सएटी): यह एक्सएलआरआई (जेवियर स्कूल ऑफ मैनेजमेंट, जमशेदपुर) द्वारा आयोजित किया जाता है। जिसमें न्यूनतम योग्यता सफलतापूर्वक 3 वर्षीय ग्रेजुएशन की डिग्री है।
  • कॉमन मैनेजमेंट एडमिशन टेस्ट (सीमैट):यह टेस्ट नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा आयोजित किया जाता है। जिसमें न्यूनतम योग्यता किसी भी विषय में ग्रेजुएशन की डिग्री या अपने अंतिम वर्ष की परीक्षा में बैठने वाले उम्मीदवार हैं।
  • ग्रेजुएशन मैनेजमेंट एडमिशन टेस्ट (जीमैट): यह जीएमएसी (स्नातक प्रबंधन प्रवेश परिषद) द्वारा आयोजित की जाती है।
  • महाराष्ट्र हेल्थ एंड टेक्निकल कॉमन एंट्रेंस टेस्ट (एमएचटी सीईटी): यह स्टेट कॉमन एंट्रेंस टेस्ट सेल, महाराष्ट्र सरकार द्वारा आयोजित किया जाता है।

पीजीडी इन इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स: टॉप कॉलेज और फीस

  • गुजरात फोरेंसिक साइंसेज यूनिवर्सिटी- फीस 15,000
  • आईआईएमटी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल- फीस 32,500
  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय- फीस 8,500
  • जामिया हमदर्द- फीस 18,000

पीजीडी इन इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स: सिलेबस

पेपर I- कानून और कानूनी प्रणालियों का सामान्य परिचय
यह पत्र प्रणाली को कानूनी सोच और तर्क का ज्ञान प्रदान करता है। यह भारतीय कानून की कानूनी प्रणालियों पर भी ध्यान केंद्रित करता है। गैर-कानूनी पृष्ठभूमि वाले छात्रों को यह पाठ्यक्रम कानूनी प्रणाली के बारे में ज्ञान प्राप्त करने में मददगार साबित होगा।

पेपर II- पेटेंट का कानून
इस पेपर में निम्नलिखित मॉड्यूल शामिल हैं:

  • मॉड्यूल I: पेटेंट सिस्टम: एन ओवरवीयू
  • मॉड्यूल II: पेटेंटबिलिटी
  • मॉड्यूल III: पेटेंट/प्राइोर आर्ट सर्च
  • मॉड्यूल IV: ड्राफ्टिंग ए पेटेंट स्पेसिफिकेशन
  • मॉड्यूल V: भारत में पेटेंट प्रक्रिया
  • मॉड्यूल VI: पेटेंट सहयोग संधि
  • मॉड्यूल VII: पेटेंट उल्लंघन

पेपर III- कॉपीराइट और डिजाइन का कानून
इस पेपर में निम्नलिखित मॉड्यूल शामिल हैं:

  • मॉड्यूल I: कॉपीराइट कानून का परिचय
  • मॉड्यूल II: कॉपीराइट एल. से संबंधित अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन
  • मॉड्यूल III: मूल सिद्धांत: विचार-अभिव्यक्ति द्विभाजन, मौलिकता और
  • कॉपीराइट कानून के तहत निर्धारण
  • मॉड्यूल IV: लेखकत्व, स्वामित्व, अधिकारों का हस्तांतरण और कॉपीराइट का पंजीकरण
  • मॉड्यूल V: कॉपीराइट स्वामी के अधिकार
  • मॉड्यूल VI: कॉपीराइट का उल्लंघन
  • मॉड्यूल VII: कॉपीराइट कानून के तहत रक्षा के रूप में उचित व्यवहार
  • मॉड्यूल VIII: तकनीकी सुरक्षा उपाय: विरोधी परिधि कानून, बिचौलियों के लिए सुरक्षित बंदरगाह
  • मॉड्यूल IX: कॉपीराइट बोर्ड और कॉपीराइट सोसायटी
  • मॉड्यूल X: ब्रॉडकास्ट रिप्रोडक्शन राइट्स
  • मॉड्यूल XI: कॉपीराइट की अनिवार्य और वैधानिक लाइसेंसिंग
  • मॉड्यूल XII: उपचार: सिविल, आपराधिक और प्रशासनिक
  • मॉड्यूल XIII: डिजाइन का कानून

पेपर IV- ट्रेडमार्क का कानून
इस पेपर में निम्नलिखित मॉड्यूल शामिल हैं:

  • मॉड्यूल I: ट्रेडमार्क के सिद्धांत
  • मॉड्यूल II: ट्रेडमार्क के पंजीकरण और ट्रेडमार्क के स्वामी के अधिकार प्राप्त करने की प्रक्रिया
  • मॉड्यूल III: ट्रेडमार्क का उल्लंघन
  • मॉड्यूल IV: डोमेन नाम सुरक्षा
  • मॉड्यूल V: भौगोलिक संकेत का संरक्षण

पेपर V- डिसर्टेशन
शोध प्रबंध इस क्षेत्र के ज्ञान को सुधारने और एक नया विषय तैयार करने में मदद करता है।

पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स: जॉब प्रोफाइल और सैलरी
इस कोर्स को सफलतापूर्वक करने के बाद उम्मीदवार सरकारी क्षेत्र के अलावा प्राइवेट क्षेत्र में भी काम कर सकते हैं। यदि बात करें सैलरी की तो हर क्षेत्र में हर जॉब प्रोफाइल में अनुभव के अनुसार सैलरी दी जाती है।

  • पेटेंट इंजीनियर- सैलरी 5 से 6 लाख तक
  • असिस्टेंट मैनेजर- सैलरी 3 से 4 लाख तक
  • रिसर्च एनालिस्ट- सैलरी 5 से 6 लाख तक
  • आईपी एनालिस्ट- सैलरी 3 से 4 लाख तक
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
Post Graduate Diploma in Intellectual Property Rights is a 2-year post graduation level diploma course. The objective of this course is to understand various copyrights, trademarks, patents, trade secrets etc. The PGD in Intellectual Property Rights course discusses issues such as New Media Content, Internet Ownership, Streaming, Pharmaceutical Patenting and Licensing.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X