APJ Abdul Kalam Education: एपीजे अब्दुल कलाम की शिक्षा की लंबी कहानी

अवुल पकिर जैनेलाबदीन अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 में रामेश्वरम में एक मछआरे परिवार में हुआ था। उनके परिवार की माली हालत ठीक नहीं थी। लेकिन उसके बाद भी उन्होंने कड़ी महनत की। वह सुबह उठ कर अखबार बांटा करते थे। गरीबी को उन्होंने कभी अपनी शिक्षा के आड़े नहीं आने दिया और वह भारत के एक महान वैज्ञानिक बने। लेकिन क्या आप जानते हैं कि सबसे पहले उनका क्या बनने का सपना था? एपीजे अब्दुल कलाम हमेशा अपना करियर एविएशन में बनाना चाहते थे। वह एक फाइटर पायलट बनना चाहते थें, लेकिन किस्मत की तो कुछ और ही योजना थी। वह आईएफए की अंतिम योग्यता पास नहीं कर पाए। बाद में उन्होंने उच्च शिक्षा प्राप्त की और वह एक वैज्ञानिक बने और अपने करियर कि शुरुआत रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन- डीआरडीओ में काम करने से की उन्होंने सबसे पहले एक होवरक्राफ्ट का बनाया, जो उनके आविष्कारों में सबसे पहले था और उसके बाद उन्होंने कई प्रोजेक्ट में अहम भूमिका निभाई और कई आविष्कार किए बैलिस्टिक मिसाइल प्रोजेक्ट में उनके योगदान के लिए उन्हें "मिसाइल मैन" के नाम से जाना गया। 2002 के दौरान राष्ट्रपति के चुनाव में उन्हें उस समय की तत्कालिन पार्टी और विरोधी पार्टि द्वारा समर्थन प्राप्त हुआ और जिसके लिए उन्हें "पीपुल्स प्रेसिडेंट" कहा गया। डॉ एपीजे अब्दुल कलाम सभी के लिए शिक्षा को बहुत महत्वपूर्ण मानते थे। इसक साथ उनका मानना ये भी था कि अच्छी शिक्षा देने के लिए एक अच्छा शिक्षक होना भी आवश्यक है।

 
APJ Abdul Kalam Education: एपीजे अब्दुल कलाम की शिक्षा की लंबी कहानी

एपीजे अब्दुल कलाम को उनके कार्यों और विज्ञान और शिक्षा के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए कई प्रतिष्ठित पुरस्कारों से नवाजा गया है। जिसमें भारत रत्न, पद्म भूषण और वीर सावरकर पुरस्कार शामिल हैं। वह भारत के महान वैज्ञानिक के साथ- साथ एक महान शिक्षक भी थें, जिन्होंने हर कदम पर छात्रों को मनोबल बढ़ाने का और उन्हें समाज में कुछ कर दिखाने के लिए प्रोत्साहित किया है। शिक्षा को सबसे महत्वपूर्ण समझने वाले डॉ एपीजे अब्दुल कलाम की शिक्षा के बारे में आपको बताएं।

एपीजे अब्दुल कलाम की शिक्षा (APJ Abdul Kalam Education)

एपीजे अब्दुल कलाम के स्कूली दिनों की बात करने पर पता चलता है कि स्कूल में उनके औसत अंक आते थें, लेकिन वह फिर भी काफि भी मेहनती छात्र के रूप में देखा जाता था, क्योंकी उनमें सीखने की ललक थी। उन्हें अपनी स्कूली शिक्षा श्वार्ट्ज हायर सेकेंडरी स्कूल, रामनाथपुरम से पूरी करी। वह अपनी पढ़ाई का सबसे अधिक समय गणित विषयों को दिया करते थे।

 

अपनी स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद उन्होंने रामनाथपुरम के सेंट जोसेफ कॉलेज में अपनी आगे की पढ़ाई की, जो उस समय मद्रास विश्वविद्यालय से संबंधित था। उन्होंने यहां से 1954 में भौतिक विज्ञान में बैचलर की डिग्री प्राप्त की।

1955 में उन्होंने मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से एयरोस्पेस इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की। अपनी एयरोस्पेस की पढ़ाई के दौरान अब्दुल कलाम एस सीनियर क्लास प्रोजेक्ट पर कार्य कर थे। उनके इस प्रोजेक्ट में प्रगति में कमी को देखते हुए सस्थान के डीन उनसे काफी असंतुष्ट थे कि उन्होंने कलाम को उन्होंने 3 दिन की समय सीमी दी और अगर इस दौरान कार्य पूरा नहीं हुआ तो उनकी स्कॉलरशीप रद्द करने की धमकी भी दी गई थी। लेकिन कलाम ने समय पर अपना कार्य पूरा किया।

डॉक्टरेट की डिग्री

एपीजे अब्दुल कलाम को कई विश्वविद्यालयों के डॉकटरेट की उपाद्धि प्राप्त है जो इस प्रकार है-

वर्ष डॉकटरेट संस्थान
2014 डॉक्टर ऑफ साइंस एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी, यूके
2012 डॉक्टर ऑफ लॉज (ऑनोरिस कौसा) साइमन फ्रेजर यूनिवर्सिटी
2010 डॉक्टरेट ऑफ इंजीनियरिंग वाटरलू विश्वविद्यालय
2009 मानद डॉक्टरेट ओकलैंड विश्वविद्यालय
2008 डॉक्टर ऑफ साइंस यूनिवर्सिटी सेन्स मलेशिया
2008 डॉक्टर ऑफ इंजीनियरिंग (ऑनोरिस कौसा) नानयांग टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी, सिंगापुर
2008 डॉक्टर ऑफ साइंस (ऑनोरिस कौसा) अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, अलीगढ़
2007 विज्ञान और प्रौद्योगिकी के मानद डॉक्टरेट कार्नेगी मेलन विश्वविद्यालय
2007 विज्ञान में मानद डॉक्टरेट वॉल्वरहैम्प्टन विश्वविद्यालय, यूके

APJ Abdul Kalam's Message for Youth: एपीजे अब्दुल कलाम का देश की युवा पीढ़ी के लिए संदेश

APJ Abdul Kalam Invention: जानिए डॉ एपीजे अब्दुल कलाम के आविष्कारों के बारे में

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
APJ Abdul Kalam has received several prestigious awards including Bharat Ratan, Padma Bhushan and Veer Savarkar Award for his works and his contribution in the field of science and education. He was a great scientist as well as a great teacher of India, who has encouraged the students at every step to boost their morale and show them something in the society. Tell you about the education of Dr. APJ Abdul Kalam, who considered education as the most important.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X