डॉ एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध | Essay On Dr APJ Abdul Kalam

By Careerindia Desk Hindi

APJ Abdul Kalam Essay In Hindi 2021: दुनिया के महान वैज्ञानिकों में से एक डॉ एपीजे अब्दुल कलाम की जयंती मनाई जा रही है। अब्दुल कलाम का पूरा नाम डॉ अवुल पाकिर जैनुल्लाब्दीन अब्दुल कलाम था। अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वरम् में हुआ था। इनके पिता का नाम जैनुल्लाब्दीन और माता का नाम आशियम्मा था। भारत के 11वें राष्ट्रपति रहे एपीजे अब्दुल कलाम का निधन 27 जुलाई 2015 को कार्डियक अरेस्ट के कारण हुआ। अब्दुल कलाम ने विज्ञान के क्षेत्र में अतुलनीय योगदान दिया। अग्नि और पृथ्वी मिसाइलों के निर्माण में मदद की, जिसकी वजह से अब्दुल कलाम को मिसाइल मैन के नाम से जाने जाते है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो और भारत को परमाणु शक्ति बनाने में में उनकी महत्वपूर्ण भागीदारी रही है। डॉ एपीजे अब्दुल कलाम की उपलब्धियों के लिए उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया। यदि आपको डॉ एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध लिखना है तो करियर इंडिया हिंदी आपके लिए बेस्ट डॉ एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध लिखने का ड्राफ्ट लेकर आया है। जिसकी मदद से आप आसानी से डॉ एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध लिख सकते हैं।

 
डॉ एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध | Essay On Dr APJ Abdul Kalam

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध Essay On APJ Abdul Kalam
एपीजे अब्दुल कलाम का पूरा नाम अवुल पकिर जैनुलाब्दीन अब्दुल कलाम है। अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्तूबर 1931 को रामेश्वरम में हुआ। कलाम ने भारत के लिए कई मिसाइलें बनाई। डॉ ए पी जे अब्दुल कलाम ने भारत के लिए अग्नि और पृथ्वी जैसी विभिन्न मिसाइलों का निर्माण किया, इसलिए उन्हें मिसाइल मैन कहा जाता है। अब्दुल कलाम जी हमेशा अपनी सादगी और अनुशासन के लिए जाने जाते हैं। अब्दुल कलाम का काम के प्रति समर्पण और राष्ट्रवादी सोच के लिए हमेशा देश के युवाओं को प्रेरित करते रहे।

एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म तमिलनाडु के रामेश्वरम में हुआ था। उस समय उनके परिवार की आर्थिक स्थिति खराब थी इसलिए कम उम्र से ही उन्होंने अपने परिवार का आर्थिक रूप से समर्थन करना शुरू कर दिया था। लेकिन उन्होंने कभी पढ़ाई नहीं छोड़ी। अपने परिवार का समर्थन करने के साथ-साथ उन्होंने अपनी पढ़ाई जारी रखी और स्नातक की पढ़ाई पूरी की। सबसे बढ़कर, वह 1998 में किए गए पोखरण परमाणु परीक्षण के सदस्य थे। देश के लिए डॉ एपीजे अब्दुल कलाम का अनगिनत योगदान है लेकिन वह अपने सबसे बड़े योगदान के लिए सबसे प्रसिद्ध थे जो कि अग्नि और पृथ्वी नाम से मिसाइलों का विकास है।

 

महान मिसाइल मैन 2002 में भारत के राष्ट्रपति बने। उनकी अध्यक्षता अवधि के दौरान, सेना और देश ने कई मील के पत्थर हासिल किए जिन्होंने राष्ट्र के लिए बहुत योगदान दिया। उन्होंने खुले दिल से देश की सेवा की, इसलिए उन्हें 'जनता का राष्ट्रपति' कहा गया। लेकिन अपने कार्यकाल के अंत में, वे अपने काम से संतुष्ट नहीं थे, इसलिए वे दूसरी बार राष्ट्रपति बनना चाहते थे, लेकिन बाद में अपना नाम खो दिया।

अपने कार्यकाल के अंत में राष्ट्रपति कार्यालय छोड़ने के बाद डॉ एपीजे अब्दुल कलाम फिर से अपने पुराने जुनून की ओर मुड़ते हैं जो छात्रों को पढ़ाना है। उन्होंने देश भर में स्थित भारत के कई प्रसिद्ध और प्रतिष्ठित संस्थानों के लिए काम किया। इन सबसे ऊपर, उनके अनुसार देश के युवा बहुत प्रतिभाशाली हैं, लेकिन उन्हें अपनी योग्यता साबित करने के लिए अवसर चाहिए, इसलिए उन्होंने उनके हर अच्छे काम में उनका साथ दिया।

अपने जीवनकाल के दौरान डॉ एपीजे अब्दुल कलाम को न केवल भारतीय संगठन और समितियों द्वारा बल्कि कई अंतरराष्ट्रीय संगठनों और समितियों द्वारा भी सम्मानित और सम्मानित किया गया था। डॉ एपीजे अब्दुल कलाम ने अपने जीवनकाल में कई किताबें लिखीं लेकिन उनकी सबसे उल्लेखनीय कृति 'इंडिया 2020' थी जिसमें भारत को एक महाशक्ति बनाने की कार्य योजना है। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम सादगी और सत्यनिष्ठा के व्यक्ति थे। वह काम में इतना व्यस्त था कि वह सुबह जल्दी उठता था और आधी रात के बाद देर तक काम करता था।

2015 में अचानक कार्डियक अरेस्ट से शिलांग में छात्रों को व्याख्यान देने के दौरान उनका निधन हो गया। वह एक उत्कृष्ट वैज्ञानिक और एक अग्रणी इंजीनियर थे, जिन्होंने देश के लिए अपना पूरा जीवन दिया और इसकी सेवा करते हुए उनकी मृत्यु हो गई। उस व्यक्ति के पास भारत को एक महान देश बनाने की दृष्टि थी। और उनके अनुसार युवा देश की असली संपत्ति हैं इसलिए हमें उन्हें प्रेरित और प्रेरित करना चाहिए।

Abdul Kalam Quotes In Hindi: विश्व छात्र दिवस पर अब्दुल कलाम के कोट्स मैसेज अनमोल विचार

जन्मदिन विशेष: पूर्व राष्ट्रपति डॉ अब्दुल कलाम के 15 प्रेरणादायक विचार

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

English summary
APJ Abdul Kalam Essay In Hindi 2021: The birth anniversary of Dr APJ Abdul Kalam, one of the great scientists of the world, is being celebrated. Abdul Kalam's full name was Dr. Avul Pakir Jainullabdeen Abdul Kalam. Abdul Kalam was born on 15 October 1931 in Rameswaram, Tamil Nadu. His father's name was Jainullabdeen and mother's name was Ashiamma. APJ Abdul Kalam, the 11th President of India, died on 27 July 2015 due to cardiac arrest. Abdul Kalam made incomparable contribution in the field of science. Helped in the manufacture of Agni and Prithvi missiles, due to which Abdul Kalam is known as Missile Man. He has been instrumental in making Indian Space Research Organization ISRO and India a nuclear power. APJ Abdul Kalam was awarded the Bharat Ratna for his achievements. If you want to write essay on Dr APJ Abdul Kalam then Career India Hindi has brought for you the draft of writing essay on Best Dr APJ Abdul Kalam. With the help of which you can easily write essay on Dr. APJ Abdul Kalam.Essay On APJ Abdul KalamAPJ Abdul Kalam's full name is Avul Pakir Jainulabdeen Abdul Kalam. Abdul Kalam was born on 15 October 1931 in Rameswaram. Kalam made many missiles for India. Dr APJ Abdul Kalam created various missiles like Agni and Prithvi for India, hence he is called Missile Man. Abdul Kalam ji is always known for his simplicity and discipline. Abdul Kalam's dedication to work and nationalist thinking always inspired the youth of the country.
--Or--
Select a Field of Study
Select a Course
Select UPSC Exam
Select IBPS Exam
Select Entrance Exam
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X