CBSE 10th बोर्ड में ऐसे करें हिंदी के पेपर की तैयारी

सीबीएसई 10वीं बोर्ड की परीक्षा को अब कुछ ही दिन रह गये है, ऐसे में स्टूडेंट्स के साथ-साथ उनके पैरेंट्स की भी टेंशन बढ़ गई है। चूंकि सीबीएसई की पढ़ाई इंग्लिश मिडियम में होती है इसलिए स्टूडेंट्स के लिए हिंदी विषय थोड़ा टफ पड़ता है। दरअसल हिंदी जैसे विषय को आसान समझकर अधिकतर स्टूडेंट्स सोचते है इसकी तैयारी एग्जाम के समय करेंगे लेकिन हिंदी का सिलेबस इतना बढ़ा होता है कि एग्जाम के समय इसको पूरा पढ़ पाना संभव नही है। इसलिए आज हम आपको कुछ खास टिप्स देने जा रहे है कि कैसे हिंदी विषय की तैयारी करनी है साथ ही हम आपको एग्जाम पैटर्न भी बताने जा रहे है।

ऐसे करना है हिंदी के पेपर की तैयारी-
जिन लोगों को लगता है कि हिंदी सबसे आसान विषय है और इसको एग्जाम के समय हिंदी पढ़ना है तो हम उन लोगों को बता दें कि एग्जाम के समय पढ़ने से आप पास तो हो जाएंगे लेकिन अच्छे नंबर नही ला पाएंगे। इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे है कि कैसे हिंदी विषय की तैयारी करनी है। सीबीएसई बोर्ड में हिंदी विषय का पेपर 80 नंबर का आता है। और इसको चार भागों में बांटा गया है-
1.खण्ड क
2.खण्ड ख
3.खण्ड ग
4.खण्ड घ

1. ऐसे करें खण्ड 'क' की तैयारी-
खण्ड क से 15 नंबर के प्रश्न पूछे जाते है। इसमें अपठित गद्यांश और पद्यांश पूछे जाते है। इसकी तैयारी करने के लिए आपको सिलेबस को उठाकर देखना होगा और उसकी प्रत्येक कविता और कहानी को ध्यान से पढ़कर उसका भाव समझना होगा कि वास्तव में उसका सार क्या है और लेखक कहना क्या चाहता है। जब एक बार आपने उस कविता और कहानी का भाव समझ लिया तो एग्जाम में आपको इसको लिखने में कोई दिक्कत नही होगी। गधांश और पद्यांश से संबंधित सवाल भी पूछे जाते है जिनका आपको सही जवाब आना जरूरी है। एक बार आपने उस पाठ का सार समझ लिया तो आप इसके जवाब आसानी से लिख सकते है।

2.ऐसे करें खण्ड 'ख' की तैयारी-
खण्ड ख में हिंदी व्याकरण के सवाल पूछे जाते है। इसके क्वेश्चन पूरे 15 नंबर के होते है। अगर आप इस खण्ड में अच्छे नंबर लाना चाहते है तो आपको व्याकरण पर काम करना पड़ेगा। एक बार आपकी व्याकरण पर पकड़ बन गई तो आपके 15 नंबर पक्के समझों। व्याकरण पर पकड़ बनाने के लिए आपको रस, अंलकार के बार में पता होना जरूरी है। एक बार आप इनकी परिभाषा को अच्छे से समझ गये तो आपके लिए इस खण्ड में अच्छे नंबर लाना आसान हो जाएगा। आप चाहे तो पिछले साल के पेपर भी देख सकते है कि उसमें हिंदी ग्रामर के कैसे सवाल पूछे जाते है उसके हिसाब से भी तैयारी कर सकते है।

3.ऐसे करें खण्ड 'ग' की तैयारी-
खण्ड ग के सवाल परीक्षा में पूरे 30 नंबर के आते है। इस खण्ड की तैयारी के लिए सबसे जरूरी है आपकी पाठ्यपुस्तक क्योंकि इसी के आधार पर इस खण्ड के सवाल पूछे जाते है। इसमें पाठ्यपुस्तक क्षितिज पाठ में से पद्यांश के आधार पर संरचना आदि के सवाल परीक्षा में पूछे जाते है। इसके अलावा क्षितिज से निर्धारित कविताओं से संबंधित सवाल भी पूछे जाते है।

4.ऐसे करें खण्ड 'घ' की तैयारी-
एग्जाम में खण्ड घ से पूरे 20 नंबर के सवाल पूछे जाते है। इस खण्ड में लेखन के सवाल पूछे जाते है। जिसमें आपको एक टॉपिक दिया जाता है और उसमें पांच पॉइंट्स होते है। आपको उन पॉइंट्स को शामिल करके उस टॉपिक के बारे में लिखना होता है। इसके अलावा इस खण्ड में लेटर लिखने को भी आता है जिसके लिए आपको पहले ही तैयारी करनी जरूरी है एक बार आप लेटर लिखने के फॉर्मेट को समझ गये तो फिर आप किसी भी विषय पर लेटर लिख सकते है।

हिंदी विषय के लिए जरूरी टिप्स-
-हिंदी विषय में अधिकतर स्टूडेंट मात्राओं में गलती करते है इसलिए मात्राओं का खास ध्यान रखना जरूरी है।
-इंग्लिश मिडियम वाले स्टूडेंट व्याकरण में भी कई गलतियां करते है इसलिए इसका ध्यान रखना भी जरूरी है।
-हिंदी लिखते समय आपका साफ-सुथरी राइटिंग में लिखना जरूरी है, इसलिए एग्जाम स पहले ही हिंदी लिखने की प्रैक्टिस करते रहे।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

    English summary
    The CBSE 10th Board examination has remained a few days now, in which the tension of the students has increased as well as the tension of their parents. Because CBSE's education is in the English medium, therefore, Hindi subjects tend to be tuned for students. So today we are going to give you some special tips on how to prepare for Hindi topic and we are going to tell you the Exam pattern.

    Get Latest News alerts from Hindi Careerindia

    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Careerindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Careerindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more