Tap to Read ➤

राष्ट्रीय खेल दिवस के टॉप 10 कोट्स

प्रत्येक वर्ष भारत में 29 अगस्त को मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन के उपलक्ष्य में राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है। इस दिन को मनाने के लिए पूरे देश में जगह-जगह खेल संबंधित कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।
chailsy raghuvanshi
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
1. "अगर मैं, दो बच्चों की मां होने के बाद भी, मेडल जीत सकती हूं, तो आप सभी भी मुझे एक प्रेरणा के रूप में लें और हार न मानें।"
 - मैरी कोम
2. "आपके सपने वही हैं जो आपके व्यक्तित्व को परिभाषित करते हैं। उनमें आपको पंख देने और ऊंची उड़ान भरने की शक्ति होती है।" -पीवी सिंधु
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
3. "जब लोग आप पर पत्थर फेंकते हैं, तो आप उन्हें मील के पत्थर में बदल देते हैं।"
- सचिन तेंदुलकर
4. "असफलता से मत डरो. यही सफल होने का तरीका है।"
- लेब्रोन जेम्स
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
5. "चैंपियंस तब तक खेलते रहते हैं जब तक वे इसे सही नहीं कर लेते।" - बिली जीन किंग
6. "एकमात्र व्यक्ति जो आपको आपके लक्ष्यों तक पहुँचने से रोक सकता है, वह आप हैं।"
 - जैकी जॉयनर-केर्सी
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
7. "मैंने हमेशा महसूस किया कि मेरी सबसे बड़ी संपत्ति मेरी शारीरिक क्षमता नहीं थी, यह मेरी मानसिक क्षमता थी।" - ब्रूस जेनर
8. "अगर मेरे पास कुछ करने का कोई कारण है, और मेरे पास पर्याप्त जुनून है, तो मैं ज्यादातर सफल होता हूं।" - लिएंडर पेसो
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
9. "कभी नहीं मत कहो क्योंकि डर की तरह सीमाएं अक्सर सिर्फ एक भ्रम होती हैं।" - माइकल जॉर्डन
10. "एक एथलीट अपनी जेब में पैसे लेकर नहीं चल सकता। उसे अपने दिल में आशा और दिमाग में सपने लेकर दौड़ना चाहिए।"
- एमिल ज़ातोपेकी
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
मेजर ध्यानचंद की जीवनी