Tap to Read ➤

Single Use Plastic क्या है, इंसानों के लिए कितना खतरनाक है जानिए

सिंगल यूज प्लास्टिक से तात्पर्य उन प्लास्टिक वस्तुओं से है जो एक बार उपयोग की जाती हैं और त्याग दी जाती हैं।
Narender Sanwariya
एकल-उपयोग प्लास्टिक में निर्मि त और उपयोग किए गए प्लास्टिक के उच्चतम प्रयोग में वस्तुओं की पैकेजिंग से लेकर बोतलों, पॉलिथीन बैग, खाद्य पैकेजिंग आदि शामिल है।
Single Use Plastic
यह विश्व स्तर पर उत्पादित सभी प्लास्टिक का एक तिहाई हिस्सा है, जिसमें 98: जीवाश्म से निर्मित है।
भारत कूड़े वाले सिंगल यूज प्लास्टिक से होने वाले प्रदूषण को कम करने के लिए कार्रर्वाइ करने के लिए प्रतिबद्ध है।
2022 तक सिंगल यूज प्लास्टिक को खत्म करने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए स्पष्ट आह्वान के साथ, प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट अमेंडमेंट रूल्स 2021 को अधिसूचित किया।
1 जुर्लाइ 2022 से प्लेट, कप, स्ट्रॉ, ट्रे और पॉलीस्टाइनिन जैसी पहचान की र्गइ एकल-उपयोग वाली प्लास्टिक वस्तुओं के निर्माण, बिक्री और उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।
Single Use Plastic Ban
दिसंबर से 120 माइक्रोन से कम के पॉलीथिन बैग पर भी प्रतिबंध लगाया जाएगा। जबकि निर्माता 50-और 75-माइक्रोन बैग के लिए एक ही मशीन का उपयोग कर सकते हैं, मशीनरी को 120 माइक्रोन के लिए अपग्रेड करने की आवश्यकता होगी।
प्लास्टिक बैग भूमि और पानी को प्रदूषित करते हैं, क्योंकि वे हल्के होते हैं। प्लास्टिक लंबे समय तक पर्यावरण में रहता है और सड़ता नहीं है, तो यह माइक्रोप्लास्टिक में बदल जाता है। जो मानव शरीर में प्रवेश करता है।
Single Use Plastic
प्लास्टिक सामग्री का उत्पादन बहुत ऊर्जा गहन है। उन्हें अपने उत्पादन के लिए बहुत अधिक पानी की आवश्यकता होती है। प्लास्टिक की थैलियां/बोतल आदि महासागरों में जाती है और छोटे छोटे टुकड़ों में टूट जाते हैं, जिन्हें जल में रहने वाले जीव खा जाते हैं।
Single Use Plastic BAN
मानव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक प्लास्टिक की थैलियों से निकलने वाले जहरीले रसायन रक्त को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इससे कैंसर, हार्मोन परिवर्तन और अन्य गंभीर बीमारियां हो सकती हैं।
प्लास्टिक का उत्पादन मॉडल बहुत बड़ा और अनियंत्रित है। पुनर्चक्रण संयंत्रों की संख्या बहुत कम है। ऐसे में सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध से मदद मिलेगी।
पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें