Tap to Read ➤

लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल क्या है?

जानिए क्या है एलओसी? कब और कहां बनाई गई लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल?
chailsy raghuvanshi
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
एसओसी भारत और पाकिस्तान द्वारा प्रशासित जम्मू और कश्मीर की पूर्व रियासत के हिस्सों के बीच एक सैन्य कमांड लाइन है।
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
एलओसी भारत और पाकिस्तान के बीच कानूनी रूप से मान्यता प्राप्त अंतरराष्ट्रीय सीमा नहीं है, बल्कि एक वास्तविक सीमा है।
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
एलओसी एक 740 किमी लंबी सीमा या सैन्य नियंत्रण रेखा है जो जम्मू और कश्मीर के क्षेत्र में भारत और पाकिस्तान के बीच की सीमा को विभाजित करती है।
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल को अक्सर मजबूत नुकीले तार कॉइल से सुरक्षित किया जाता है, जो भारतीय सेना द्वारा लगाई गई एक तरह की बाड़ है।
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
एलओसी को भारतीय पक्ष में भारतीय सेना नियंत्रण चौकियों द्वारा और पाकिस्तानी पक्ष में पाकिस्तानी नियंत्रण चौकियों द्वारा संरक्षित किया गया है।
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
इसे मूल रूप से युद्ध विराम रेखा के रूप में पहचाना गया था, लेकिन 3 जुलाई 1972 को हस्ताक्षरित शिमला समझौते के बाद इसे 'नियंत्रण रेखा' के रूप में फिर से नामित किया गया था।
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर में नई नियंत्रण रेखा यानि की एलओसी  पर 17 दिसंबर 1972 को बनाने की सहमति प्राप्त हुई।
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
एलओसी लद्दाख, कश्मीर, उत्तराखंड हिमाचल, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश से होकर गुजरती है।
पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें