Tap to Read ➤

Foreign Education: बेहतर अवसरों के लिए यूजी में लें एडमिशन

फॉरेन एजुकेशन के लिए यूजी कोर्स का चुनाव करें या पीजी का, इस फैसले को लेकर स्टूडेंट्स के साथ-साथ पैरेंट्स भी दुविधा में होते हैं।
Narender Sanwariya
Foreign Education
दरअसल 12वीं के बाद किसी नए देश में जाकर वहां सामंजस्य बिठा पाना आसान नहीं होता।
ऐसे में कई बार पीजी के विकल्प को महत्व दिया जाता है।
Foreign Education
जबकि विशेषज्ञों की राय में विदेश में पढ़ाई जल्दी शुरू करने पर बेहतर अवसर मिल सकते हैं।
Foreign Education
यूजी के छात्रों को संबंधित देश में 4-5 साल बिताने का मौका मिलता है।
Foreign Education
ऐसे में ये छात्र वहां के वर्क-कल्चर को बेहतर ढंग से समझ पाते हैं। उन्हें नौकरी पाने में आसानी होती है।
Foreign Education
यदि आप पीजी कोर्स के लिए प्लान कर रहे हैं तो काउंसलर यह सलाह देते हैं कि दूसरे साल की शुरुआत से ही आपको वहां के वर्क-कल्चर व परिवेश को समझना शुरू कर देना चाहिए।
आपको पता होना चाहिए जो भी कोर्स आप चुन रहे हैं उसके लिए जॉब मार्केट कैसा है।
जॉब मार्केट के अनुसार, डिग्री, डिप्लोमा या पीजी का चुनाव करें।
अमेरिका, सिंगापुर/एचकेयू, कनाडा जैसे देश पीजी की तुलना में यूजी के छात्रों को बेहतर स्कॉलरशिप मुहैया कराते हैं।
Foreign Education
ऐसे में शुरुआत यूजी से हो तो सफलता के अधिक अवसर होंगे।
ये हैं भारत की सबसे तेज महिला IAS - IPS ऑफिसर, जानिए इनके बारे में
पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें