Tap to Read ➤

UPSC IAS परीक्षा पहले प्रयास में कैसे पास करें जानिए

संघ लोक सेवा आयोग हर साल यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करता है। सिविल सेवा परीक्षा देश की सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है।
Narender Sanwariya
UPSC IAS Exam
यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में हर साल लाखों छात्र भाग लेते हैं।
इस परीक्षा के पहले चरण में प्रीलिम्स परीक्षा का आयोजन किया जाता है और दूसरे चरण में मेन परीक्षा होती है और तीसरे चरण में इंटरव्यू का आयोजन होता है। जिसके बाद उम्मीदवारों का फाइनल रिजल्ट जारी होता है।
पूरा सिलेबस कवर करें
सिलेबस को व्यापक रूप से कवर किया जाना चाहिए। यूपीएससी का सिलेबस बड़ा है और परीक्षा में किसी भी विषय से सवाल आ सकता हैं। इसीलिए पूरे सिलेबस को अच्छे से पढ़ना बेहद जरूरी है।
सिलेबस को कवर करने के बाद, मॉक टेस्ट को प्रैक्टिस किया जाना चाहिए। बहुत सारे टेस्ट आपकी कीमती ऊर्जा को खत्म कर देंगे और बहुत कम संख्या आपको परीक्षा के लिए तैयार नहीं कर सकेगी।
मॉक टेस्ट की मदद लें
मॉक टेस्ट के बाद विश्लेषण एक जरूरी अभ्यास है। अच्छे प्रदर्शन से उत्साह नहीं आना चाहिए और खराब प्रदर्शन से निराशा नहीं होनी चाहिए। बस अपने आप को लगातार बेहतर बनाने की दौड़ में दौड़ें।
प्रॉपर रिवीजन करें
प्रीलिम्स का सिलेबस काफी बड़ा और बिखरा हुआ है। कवरेज से अधिक, संपूर्ण सिलेबस को रिवाइज करना महत्वपूर्ण है। इसलिए, रिवीजन उचित और समयबद्ध दोनों होना चाहिए।
नोट्स बनाएं
बिना उचित नोट्स बनाए यूपीएससी के सिलेबस को गुणवत्ता के साथ कवर नहीं किया जा सकता। नोट्स एक उचित प्रारूप में बनाए जाने चाहिए ताकि उम्मीदवारों के लिए इसे याद रखना और पुन: प्रस्तुत करना आसान हो।
रिवीजन है महत्वपूर्ण
प्रीलिम्स से पहले का आखिरी महीना किसी भी नए विषय को कवर करने के लिए नहीं दिया जाना चाहिए जब तक कि यह अत्यंत और असाधारण रूप से महत्वपूर्ण न हो। आखिरी के महीने को विशेष रूप से रिवीजन के लिए रखा जाना चाहिए।
CSAT को गंभीरता से लें
CSAT को हल्के में लेने पर भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है। जो लोग सीसैट के लिए पूरी तरह से नौसिखिए हैं, उन्हें इसे सामान्य अध्ययन के बराबर रखना चाहिए। जो उम्मीदवार इनके मुकाबले एडवांस्ड स्थिति में हैं, उन्हें भी इसे गंभीरता से लेना चाहिए।
पिछले वर्ष के पेपर तैयारी के लिए रडार की तरह होने चाहिए जो आपकी तैयारी को दिशा प्रदान करते हैं। आपके बेसिक नॉलेज को बढ़ाने के अलावा, पिछले वर्ष के पेपर आपके मानसिक दृष्टिकोण को बनाने में मदद करते हैं।
पिछले सालों के पेपर की मदद लें
करेंट अफेयर्स पर करें फोकस
इस परीक्षा में करेंट अफेयर्स एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। करेंट अफेयर्स की तैयारी के लिए आपको सलाह दी जाती है कि आप रोजाना अखबार पढ़ें। साथ ही साप्ताहिक और मासिक करेंट अफेयर्स ऑनलाइन या किसी किताब की मदद से पढ़ें।
पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें