Tap to Read ➤

मुलायम सिंह यादव के जीवन से जुड़ी रोचक बातें

समाजवादी पार्टी के संस्‍थापक मुलायम सिंह यादव का आज 10 अक्टूबर 2022 को सुबह आठ बजकर 16 मिनट पर गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में 82 साल की उम्र में निधन हो गया। नेता जी को यूरिन इन्फेक्शन, ब्‍लड प्रेशर और सांस लेने में तकलीफ थी।
Narender Sanwariya
मुलायम सिंह निधन
मुलायम सिंह यादव उत्तर प्रदेश के तीन बार मुख्‍यमंत्री रहे। मुलायम सिंह यादव के निधन से देश भर के राजनीतिक एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं में शोक की लहर है। मुलायम सिंह यादव के निधन की पुष्टि समाजवादी पार्टी के अधिकारिक ट्विटर हैंडल पर उनेक पुत्र एवं यूपी के पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने की है।
मुलायम सिंह यादव के माता पिता
मुलायम सिंह यादव का जन्म 22 नवंबर 1939 को इटावा जिले के सैफई गांव में हुआ था। मुलायम सिंह यादव के पिता का नाम सुघर सिंह यादव था और वह एक किसान थे। मुलायम सिंह यादव की माता का नाम मूर्ति देवी था।
मुलायम सिंह यादव मैनपुरी सीट से लोकसभा सांसद हैं। उत्तर प्रदेश की राजनीति से लेकर देश की राजनीति में मुलायम सिंह यादव को प्रमुख नेताओं में से एक माना जाता है। मुलायम सिंह यादव तीन बार यूपी के सीएम और केंद्र सरकार में रक्षा मंत्री भी रह चुके हैं।

मुलायम सिंह यादव 8 बार विधायक और 7 बार लोकसभा सांसद रह चुके हैं। मुलायम सिंह यादव ने दो शादियां की थीं।


















उनकी पहली पत्नी का नाम मालती देवी था, जिनकी मृत्यु मई 2003 में हुई थी, वह अखिलेश यादव की मां थी।
उसके बाद मुलायम सिंह यादव ने साधना गुप्ता से दूसरी शादी की। मुलायम सिंह और साधना के बेटे का नाम प्रतीक यादव है और हाल ही में साधना का निधन हो गया था।
Mulayam Singh Yadav Family
मुलायम सिंह यादव के 4 भाई और एक बहन कमला देवी हैं। राम गोपाल यादव और उनकी बहन गीता देवी उनके चचेरे भाई हैं। यादव पहली बार 1989 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने।
Mulayam Singh Political Career
1992 में यादव ने अपनी समाजवादी पार्टी (सोशलिस्ट पार्टी) की स्थापना की। 1993 में उन्होंने उत्तर प्रदेश विधानसभा के चुनाव के लिए बहुजन समाज पार्टी के साथ गठबंधन किया।
राम मनोहर लोहिया और राज नारायण जैसे शख्सियतों से प्रशिक्षित होने के बाद यादव पहली बार 1967 में उत्तर प्रदेश की विधान सभा में विधान सभा के सदस्य के रूप में चुने गए थे।
मुलायम सिंह यादव ने इटावा से राजनीतक विज्ञान में बीए किया उएक बाद शिकोहाबाद के एके कॉलेज से पॉलिटिकाल साइंस में एमए किया
IPS कैसे बनें जानिए