Tap to Read ➤

PHD Zoology: जूलॉजी में पीएचडी कैसे करें

पीएचडी जूलॉजी 3 साल की अवधि का कोर्स है जो कि उन छात्रों के लिए डिजाइन किया गया है जो जूलॉजी से संबंधित विषयों में रिसर्च करने में रूचि रखते हो।
chailsy raghuvanshi
जैसा कि नाम से ही प्रतित होता है जूलॉजी यानि के जानवरों का अध्ययन, इस कोर्स में जानवारों का स्ट्रक्चरल वर्गीकरण और पर्यावरण में उनके अस्तित्व का विज्ञान शामिल है।
जूलॉजी स्टडी को कई उप शाखाओं में बांटा गया है।
 जैसे कि इचिथोलॉजी: मछली और उनके आवास का अध्ययन,
ऑर्निथोलॉजी: पक्षियों का अध्ययन और मेमोलॉजी: मैमल्स का अध्ययन।
• इच्छुक उम्मीदवार के संबंधित विषय में मास्टर डिग्री होनी चाहिए।
• पीएचडी जूलॉजी में एडमिशन लेने के लिए उम्मीदवार के मास्टर डिग्री में न्यूनतम 55% अंक होना आवश्यक है।
• इसमें एडमिशन लेने के लिए उम्मीदवारों के पास संबंधित विषय रिसर्च का कम से कम 5 साल का अनुभव होना चाहिए।
पीएचडी जूलॉजी: एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया
एंट्रेंस एग्जाम
यूजीसी (नेट/जेआरएफ), सीएसआईआर (नेट/जेआरएफ), आईसीएआर (जेआरएफ/एसआरएफ), एसएलईटी, गेट, जीपीएटी, आईसीएआर आदि ।
लोयोला कॉलेज, चेन्नई- फीस 7,200
क्राइस्ट यूनिवर्सिटी, बैंगलोर- फीस 52,000
प्रेसीडेंसी कॉलेज, चेन्रई- फीस 3,000
रामकृष्ण मिशन विवेकानंद कॉलेज, चेन्नई- फीस 3,000
जादवपुर विश्वविद्यालय, कोलकत्ता- फीस 3,000
पीएचडी जूलॉजी: टॉप कॉलेज और उनकी फीस
जॉब फील्ड
वन्यजीव अभयारण्य, राष्ट्रीय उद्यान, वनस्पति उद्यान, चिड़ियाघर, अनुसंधान प्रयोगशालाएं, एक्वैरियम, पशु क्लीनिक, मत्स्य पालन और जलीय कृषि, संग्रहालय, फार्मास्युटिकल कंपनियां, पशु चिकित्सा अस्पताल आदि।
जॉब प्रोफाइल और सैलरी
एनिमल केयर टेकर- सैलरी 3,20,000
कंर्सवेशनटिस्ट- सैलरी 5,80,000
फॉरेंसिक एक्सपर्ट- सैलरी 6,35,000
वाइल्डलाइफ बायोलॉजिस्ट- सैलरी 8,20,000
जुकीपर- सैलरी 7,50,000
जॉब प्रोफाइल
एनिमल केयरटेकर, कंजर्वेशनिस्ट, एनिमल रिहैबिलिटेटर, डॉक्यूमेंट्री मेकर, एनिमल एंड वाइल्डलाइफ एजुकेटर, फोरेंसिक एक्सपर्ट, एनिमल ट्रेनर, लैब टेक्नीशियन, जू क्यूरेटर, एनिमल ब्रीडर, रिसर्चर, एनिमल, बिहेवियरिस्ट, वाइल्डलाइफ बायोलॉजिस्ट, वेटरनेरियन, जू कीपर आदि।
पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें