Tap to Read ➤

PHD Life Science: लाइफ साइंस में पीएचडी कैसे करें

पीएचडी लाइफ साइंस 3 से 5 साल तक की अवधि का डॉक्टरेट लेवल का कोर्स है।
chailsy raghuvanshi
पीएचडी लाइफ साइंस कोर्स उन छात्रों के लिए डिजाइन किया गया है जो बायोलॉजी, इकोलॉजी और न्यूरोसाइंस से संबंधित विषयों में रिसर्च करने में रूचि रखते हो।
ये कोर्स सूक्ष्म जीव स्तर के साथ-साथ मानव स्तर पर जीव विज्ञान का एक संयोजन है।
पीएचडी लाइफ साइंस: एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया
• इच्छुक उम्मीदवार के पास किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से होम साइंस विषय में पोस्ट ग्रेजुएशन की होनी चाहिए।
• पीएचडी होम साइंस में एडमिशन लेने के लिए उम्मीदवार के मास्टर डिग्री में न्यूनतम 55% अंक होना आवश्यक है।
पीएचडी लाइफ साइंस के लिए एडमिशन प्रोसेस यूजीसी-नेट फॉर जेआरएफ, सीएसआईआर- यूजीसी नेट फॉर जेआरएफ, एनबीएचएम आदि जैसे एंट्रेंस एग्जाम पर निर्भर करती है।
पीएचडी लाइफ साइंस: सिलेबस
रिसर्च मैथेड्लॉजी इन लाइफ साइंस,
रिसर्च ट्रेंड्स इन लाइफ साइंस,
मोलिक्यूलर बायोलॉजी,
फाइटोकेमिस्ट्री और टॉक्सिकोलॉजी,
न्यूरोबायोलॉजी,
 बायोकेमेस्ट्री, मेटाबॉलिज्म एंड न्यूट्रिशन
टॉप कॉलेज और उनकी फीस
1. जेएनयू, नई दिल्ली- फीस 1,390
2. एएमयू, अलीगढ़- फीस 9,285
3. एनआईटी, राउरकेला - फीस 51,500
4. गुजरात विश्वविद्यालय, अहमदाबाद- फीस 14,800
5. एसएनयू, ग्रेटर नोएडा- फीस 1,60,000
जॉब प्रोफाइल
प्रोडक्ट मैनेजर - लाइफ साइंस, एनालिस्ट एंड कंसल्टेंट - फार्मास्युटिकल्स प्रोडक्ट लाइफ साइंस, बिजनेस इंटेलिजेंस सॉल्यूशन आर्किटेक्ट - लाइफ साइंस, रिसर्च एनालिस्ट - लाइफ साइंस, मैनेजर - मेडिकल अफेयर्स, रिसर्च साइंटिस्ट - मेटाबोलिक आइडेंटिफिकेशन आदि।
जॉब फील्ड
एग्रीकल्चर सेक्टर, एनिमल केयर सेंटर, बायोइंफोर्मेटिक्स, बायोटेक्नोलॉजी, बिवरेज इंडस्ट्री, एनवायरमेंटल प्रोटेक्शन एजंसी, फार्महाउस, फुड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री, आदि।
पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें