Tap to Read ➤

PHD Botany: बॉटनी में पीएचडी कैसे करें

पीएचडी बॉटनी 3 साल की अवधि का कोर्स है जो कि उन छात्रों के लिए डिजाइन किया गया है जो बॉटनी से संबंधित विषयों में रिसर्च करने में रूचि रखते हो।
chailsy raghuvanshi
बॉटनी बायोलॉजिकल साइंस की एक शाखा है जो पौधों के अध्ययन पर केंद्रित है कि वे कैसे जीवित रहते हैं और पर्यावरण के अन्य जीवित और निर्जीव कॉम्पोनेंट्स के साथ कैसे इंटरेक्ट करते हैं।
• इच्छुक उम्मीदवार के पास किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से संबंधित विषय में मास्टर डिग्री होनी चाहिए।
• पीएचडी बॉटनी में एडमिशन लेने के लिए उम्मीदवार के मास्टर डिग्री में न्यूनतम 55% अंक होना आवश्यक है।
• उम्मीदवारों के पास संबंधित विषय में कम से कम 5 साल का अनुभव होना चाहिए।
पीएचडी बॉटनी: एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया
एडमिशन प्रोसेस- एंट्रेंस एग्जाम और इंट्रव्यू बेस्ड
एंट्रेंस एग्जाम
यूजीसी (नेट/जेआरएफ) सीएसआईआर (नेट/जेआरएफ) डीबीटी
पीएचडी बॉटनी: टॉप कॉलेज और उनकी फीस
1. लोयोला कॉलेज, चेन्नई- फीस 7,200
2. क्राइस्ट यूनिवर्सिटी बैंगलोर- फीस 51,667
3. प्रेसीडेंसी कॉलेज, चेन्नई- फीस 2,695
4. रामकृष्ण मिशन विवेकानंद कॉलेज, चेन्नई- फीस 2,205
माइकोलॉजिस्ट, एडमिनिस्ट्रेटर, इकोलॉजिस्ट, फ्रूट ग्रोअर्स, प्लांट बायोकेमिस्ट, फॉरेस्टर, शोधकर्ता आदि।
जॉब प्रोफाइल
टेक्सोनॉमिस्ट- सैलरी 4,80,000
एग्रोनॉमिस्ट- सैलरी 6,45,000
इकोलॉजिस्ट- सैलरी 6,70,000
माइकोलॉजिस्ट- सैलरी 6,60,000
प्लांट ब्रीडर- सैलरी 5,50,000
पीएचडी बॉटनी: जॉब प्रोफाइल और सैलरी
जैव प्रौद्योगिकी फर्म, नर्सरी कंपनियां, प्लांट संसाधन प्रयोगशाला, शैक्षिक संस्थान, प्लांट स्वास्थ्य, निरीक्षण सेवाएं, तेल उद्योग, आर्बरेटम, वन सेवाएं, भूमि प्रबंधन एजेंसियां, राष्ट्रीय उद्यान, रासायनिक उद्योग, खाद्य कंपनियां, जैविक सप्लाई हाउस, आदि।
जॉब फील्ड
पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें