Tap to Read ➤

PG Diploma: स्पोर्ट्स मेडिसिन कोर्स की फुल डिटेल

पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन स्पोर्ट्स मेडिसिन में करियर कैसे बनाएं जानिए..
chailsy raghuvanshi
पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन स्पोर्ट्स मेडिसिन 2 साल की अवधि का साइकोलॉजी कोर्स है।
स्पोर्ट्स मेडिसिन मेडिसिन की वह शाखा है जिसका संबंध एथलेटिक गतिविधियों से होने वाली चोट या बीमारी के इलाज से है।
स्पोर्ट्स मेडिसिन एक एकीकृत क्षेत्र है, जो प्राथमिक देखभाल, सर्जरी, हड्डी रोग, आपातकालीन चिकित्सा, मनोविज्ञान, फिजियोथेरेपी, पोषण और अन्य में विशेषज्ञों के काम को जोड़ती है।
एलिजिबिलिटी
• उम्मीदवार के पास किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से एमबीबीएस की डिग्री होनी चाहिए।
• एमबीबीएस की डिग्री में कम से कम 50% अंक होने चाहिए।
एडमिशन प्रोसेस
पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन इकोनॉमिक्स में एडमिशन प्रोसेस कॉलेज से कॉलेज पर निर्भर करता है। इस कोर्स में एडमिशन ज्यादातर कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर दिया जाता है।
पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन बायोइनफॉरमैटिक्स: टॉप कॉलेज
 नेताजी सुभाष राष्ट्रीय खेल संस्थान - एनएसएनआईएस, पटियाला
जॉब प्रोफाइल
कंस्लटेंट एमडी मेडिसिन, डाइटिशियन, व्यायाम इंस्ट्रेक्टर, जूनियर मेडिकल सोशल वर्कर / फार्मासिस्ट, लेक्चरर और प्रोफेसर, मैनेजमेंट ट्रेनी, मेडिकल डॉक्टर, नेटन्यूरोपैथी, डॉक्टर आदि।
जॉब फिल्ड
एक्सरसाइज फिजियोलॉजी, काइन्सियोलॉजी, मसाज थैरेपी, ऑक्यूपेशनल थैरेपी, फिजिक्ल थैरेपी, स्पोर्ट्स डाइटिशियन/ न्यूट्रिशन, स्पोर्ट्स मेडिसिन रिसर्च आदि।
हिंदी दिवस