Tap to Read ➤

PG Diploma: बायोइनफॉरमैटिक्स कोर्स की फुल डिटेल

पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन बायोइनफॉरमैटिक्स कोर्स क्या है
chailsy raghuvanshi
कोर्स अवधि
पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन बायोइनफॉरमैटिक्स 1 साल की अवधि का फुल टाइम कोर्स है।
इस कोर्स के दौरान, छात्रों को सूचना प्रौद्योगिकी, जीव विज्ञान और सांख्यिकी के व्यापक अध्ययन द्वारा एडवांस बायोइनफॉरमैटिक्स के लिए ट्रेन किया जाता है।
पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन बायोइनफॉरमैटिक्स
पीजीडी इन बायोइनफॉरमैटिक्स कोर्स में छात्रों को थ्योरी के साथ-साथ प्रैक्टिल नॉलेज भी विशेष रूप से प्रदान की जाती है।
• उम्मीदवार के पास किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से संबंधित विषय में ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए।
 • ग्रेजुएशन की डिग्री में कम से कम 50% अंक होने चाहिए।
एलिजिबिलिटी
पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन इकोनॉमिक्स में एडमिशन प्रोसेस कॉलेज से कॉलेज पर निर्भर करता है। अधिकतर कॉलेज में इस कोर्स में एडमिशन मेरिट लिस्ट यानि की ग्रेजुएशन कें मार्क्स के आधार पर दिया जाता है।
एडमिशन प्रोसेस
टॉप कॉलेज और उनकी फीस
1. भारतीय जैव सूचना विज्ञान संस्थान (बीआईटी), नोएडा- फीस 10,500
2. स्टेला मॉरिस कॉलेज, चेन्नई- फीस 8,200
3. चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी, पंजाब- फीस 40,200
4. सेंट जेवियर्स कॉलेज, मुंबई- फीस 60,000
5. कालीकट विश्वविद्यालय, मलप्पुरम- फीस 24,000
जॉब प्रोफाइल और सैलरी

बायोइनफॉरमैटिक्स रिसर्च एनालिस्ट- सैलरी 5 लाख
मॉल्यूकलर बायोलॉजिस्ट- सैलरी 5 लाख
बायोइनफॉरमैटिक्स 'सी' प्रोग्रामर- सैलरी 3 लाख
टेक्निकल एग्जीक्यूटिव- सैलरी 4.2 लाख
बायोइनफॉरमैटिक्स ट्रेनर- सैलरी 3.5 लाख
सिनियर बायोइनफॉरमैटिक्स एनालिस्ट- सैलरी 6 लाख
जैव प्रौद्योगिकी
 जैव चिकित्सा विज्ञान
 फार्मास्युटिकल,
कृषि क्षेत्र आदि।
रिक्रूटर्स
पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें