Tap to Read ➤

FACTS: राष्ट्रीय पर्यटन दिवस से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

यात्रा करना सभी के लिए महत्वपूर्ण है, ये आपको मानसिक थकान को दूर करने में सहायता करता है साथ है, ये आपको मानसिक थकान को दूर करने में सहायता करता है साथ ही जिस स्थान पर आप जा रहें है उस स्थान के बारे में आपको ज्ञान भी प्रदान करता है। आइए आपको राष्ट्रीय पर्यटन दिवस के बारे में बताएं।
Varsha Kushwaha
हर साल भारत विश्व स्तर के साथ राष्ट्रीय स्तर पर पर्यटन दिवस मनाता है। भारत में राष्ट्रीय पर्यटन दिवस प्रतिवर्ष 25 जनवरी को एक थीम के साथ मनाया जाता है।
भारत के विकास के लिए पर्यटन एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, ये राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक गतिविधियों को अधिक प्रभावित करता है।
राष्ट्रीय पर्यटन दिवस का मुख्य उद्देश्य लोगों को पर्यटन के प्रति जागरूक करना और इसके माध्यम से आर्थिक विकास को बढ़ावा देना है, इसके साथ ही स्थानीय समुदायों और पर्यटन स्थलों के विकास को प्रेरित करना है।
भारत में पर्यटन ने केवल अर्थव्यवस्था को लाभ पहुंचा रहा बल्कि इसके माध्यम से रोजगार के अवसर भी बढ़ रहे है और छोटे उद्योगों को भी लाभ हो रहा है।
राष्ट्रीय पर्यटन दिवस देश के संसाधनों और सांस्कृतिक विरासत के संरक्षण में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
इस दिन देश में अनेक प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है, उन सभी आयोजनों का उद्देश्य केवल एक ही होता है, लोगों को पर्यटन के बारे में जानकारी देना और देश में पर्यटन उद्योग का विस्तार करना।
भारत में 1948 में पर्यटन परिवहन समिति का गठन हुआ था। स्वतंत्रता के बाद से ही भारत ने पर्यटन के महत्व को समझा और इसका प्रचार-प्रसार किया। वर्ष 1998 में संचार मंत्रालय के अधीन एक पर्यटन विभाग जोड़ा गया।
जारी एक आंकड़े की माने तो भारत के लगभग 7.7% कामगार पर्यटन उद्योग से अपना घर बार चलाते हैं।
भारत में यूनेस्को की विश्व धरोहर में शामिल 40 विरासतें हैं, जिसमें से 32 स्थल सांस्कृतिक हैं और 7 प्राकृतिक। जिसे देखने हर साल लाखों लोग भारत आते हैं।
जारी आंकडों के अनुसार बात करें तो हर साल करीब 15 लाख पर्यटक भारत घुमने आते हैं। और घरेलू पर्यटकों की बात करें तो करीब 5 लाख घरेलू पर्यटक अन्य राज्यों में पर्यटन के लिए जाते हैं।
Road Safety Rules