Tap to Read ➤

राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा का इतिहास

आइए जानते हैं भारतीय ध्वज तिरंगा से जुड़े रोचक तथ्य
chailsy raghuvanshi
भारत के राष्ट्रीय ध्वज को पिंगली वेंकय्या ने डिजाइन किया था। वह आंध्र प्रदेश के एक भारतीय स्वतंत्रता सेनानी थे।
भारत का राष्ट्रीय ध्वज  'खादी कपड़े' से बनाया जाता है जो  कि हाथ से काता जाता है।
राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा
राष्ट्रीय ध्वज को हिंदी में तिरंगा के नाम से जाना जाता है और इसके बीच में तीन रंग और अशोक चक्र होता है।
भारतीय तिरंगा तीन रंगों प्रतिनिधित्व करता है-
• भगवा रंग: साहस और बलिदान
• सफेद: सत्य, शांति और पवित्रता
• हरा रंग: समृद्धि
भारतीय ध्वज में अशोक चक्र का महत्व
राष्ट्रीय ध्वज में अशोक चक्र धर्म के नियमों का प्रतिनिधित्व करता है। अशोक चक्र में सफेद पट्टी पर गहरे नीले रंग की 24 तीलियां एक समान दूरी पर होती है।
भारत के राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे की चौड़ाई से लंबाई का अनुपात 2:3 है। झंडे की तीनों पट्टियां चौड़ाई और लंबाई में बराबर होनी चाहिए।
भारत को ब्रिटिश साम्राज्य से स्वतंत्रता मिलने से ठीक पहले 22 जुलाई 1947 को भारतीय ध्वज को स्वीकार किया गया था।
देश के सबसे बड़े झंडे की लंबाई 110 मीटर, चौड़ाई 24 मीटर और वजन 55 टन है।
भारत इस वर्ष आजादी के 75 साल मनाने जा रहा है। जिसके लिए पीएम मोदी ने जनता से अपील की है कि सभी भारतीय 13 अगस्त से 15 अगस्त तक के बीच अपने घर पर तिरंगा जरूर फराएंगे।
पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें