Tap to Read ➤

EWS Admission के बदले नियम, दूरी बढ़ी-आधार अनिवार्य

दिल्ली शिक्षा निदेशालय ने आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS), वंचित समूहों (DG) और विशेष आवश्यकता वाले बच्चों (CWSN) श्रेणियों के तहत दिल्ली के निजी स्कूलों में एडमिशन के लिए आवेदन करने के नियम बदल दिए हैं।
Narender Sanwariya
EWS Admission
EWS, DG और CWSN श्रेणी के तहत दिल्ली के प्राइवेट स्कूलों में एडमिशन के लिए दूरी मानदंड को बढ़ा दिया है।
अब नर्सरी/केजी/कक्षा 1 एडमिशन के लिए अभिभावक एक किलोमीटर के बजाय तीन किलोमीटर तक के दायरे के स्कूलों का चयन (पहली वरीयता के रूप में) कर सकते हैं।
इसके साथ ही दिल्ली EWS, DG और CWSN एडमिशन के लिए छात्रों का आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया है।
EWS Admission
दिल्ली सरकार ने ईडब्ल्यूएस और अन्य श्रेणियों के तहत निजी स्कूलों में दूरी के मानदंड को 1 किमी से 3 किमी तक संशोधित किया है।
Delhi EWS Admission
नोटिस के अनुसार, EWS, DG और CWSN वाले अब अपने निवास के एक किलोमीटर के दायरे की बजाए तीन किलोमीटर तक के दायरे वाले स्कूलों में एडमिशन के लिए आवेदन कर सकते हैं।
शिक्षा निदेशक हिमांशु गुप्ता ने कहा कि एक किलोमीटर के भीतर पड़ोस में रहने वाले उम्मीदवारों को आमतौर पर बहुत से कम्प्यूटरीकृत ड्रॉ में चुना जाता है और एक से तीन किलोमीटर के बीच रहने वालों की संभावना कम हो जाती है।
ऐसे में अधिक से अधिक इच्छुक माता-पिता जो EWS, DG और CWSN श्रेणी के तहत अपने बच्चों का एडमिशन करवाना चाहते हैं, उन्हें 0 से 1 किमी के बजाय 0 से 3 किमी के रूप में पहली वरीयता दी जाएगी।
EWS Admission
आरटीई अधिनियम 2009 के अनुसार, सभी निजी गैर-सहायता प्राप्त मान्यता प्राप्त स्कूल EWS, DG और CWSN वाले बच्चों को अपने स्कूल में कम से कम 25 प्रतिशत तक एडमिशन देंगे।
यह शासनादेश 2023-2024 शैक्षणिक सत्र के लिए प्रवेश के लिए लागू किया जाएगा और दिल्ली सरकार के शिक्षा निदेशालय ने दावा किया है कि यह "योग्य उम्मीदवारों के हित में" है।
Delhi EWS Admission
EWS, DG और CWSN श्रेणियों के तहत आवेदन करने में किसी प्रकार की गड़बड़ी रोकने के लिए यह कदम उठाया गया है।
EWS Admission
BPSC में किस पद पर मिलती है कितनी सैलरी जानिए
पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें