Tap to Read ➤

Digital Education: डिजिटल एजुकेशन के फायदे

भारत में डिजिटल एजुकेशन की पहल और उसके फायदे क्या है जानिए..
chailsy raghuvanshi
भारत में डिजिटल एजुकेशन
भारत डिजिटल एजुकेशन की दिशा में तेजी से प्रगति कर रहा है, जिसमें की स्कूल और कॉलेज का डिजिटलीकरण को अपनाने, इंटरनेट की पहुंच बढ़ाने और छात्रों की बढ़ती मांग में महत्वपूर्ण योगदान है।
भारत में सक्रिय इंटरनेट उपयोगकर्ताओं के 2025 तक 900 मिलियन तक पहुंचने का अनुमान है, जो 2020 में 622 मिलियन से अधिक सक्रिय इंटरनेट उपयोगकर्ताओं से 45% अधिक है।
डिजिटल इंडिया की पहल कब हुई?
भारत सरकार ने जुलाई 2015 में 'डिजिटल इंडिया' पहल भी शुरू की, ताकि ऑनलाइन बुनियादी ढांचे को मजबूत किया जा सके और नागरिकों के बीच इंटरनेट पहुंच का विस्तार किया जा सके>
'डिजिटल इंडिया' पहल के हिस्से के रूप में, सरकार ने स्मार्टफोन, ऐप और इंटरनेट सेवाओं का उपयोग करके दूरस्थ और शहरी क्षेत्रों में ऑनलाइन शिक्षा प्रदान करने के लिए ई-शिक्षा पहल भी शुरू की।
2019-20 के दौरान जब भारत और पूरी दुनिया कोविड-19 महामारी से लड़ रही थी तब भारत में डिजिटल शिक्षा देश में छात्रों के लिए सीखने का एकमात्र स्रोत था।
इस पहल ने छात्रों को न केवल किताबी जानकारी हासिल करने में मदद की है बल्कि व्यावहारिक और तकनीकी ज्ञान भी दिया है।
डिजिटल एजुकेशन के फायदे
डिजिटल एजुकेशन में एक छात्र किसी भी समय, किसी भी स्थान पर ऑनलाइन कक्षाओं में जुड़ सकता है व ज्ञान प्राप्त कर सकता है।
पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें